Home /News /jharkhand /

RIMS में बड़ा हादसा: केबल टूटने से गिरी लिफ्ट, मरीज देखने आए युवक के हाथ-पैर टूटे, ICU में भर्ती

RIMS में बड़ा हादसा: केबल टूटने से गिरी लिफ्ट, मरीज देखने आए युवक के हाथ-पैर टूटे, ICU में भर्ती

RIMS Latest News: रिम्‍स में लिफ्ट गिरने से मरीज देखने आया एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया. (फाइल फोटो)

RIMS Latest News: रिम्‍स में लिफ्ट गिरने से मरीज देखने आया एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया. (फाइल फोटो)

Lift Fell in RIMS: रांची स्थित रिम्‍स में लिफ्ट गिरने से मरीज देखने आया एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया. युवक के हाथ-पैर टूट गए हैं. घायल अवस्‍था में शख्‍स को रिम्‍स के ही ICU वार्ड में भर्ती कराया गया है. बताया जा रहा है कि केबल टूटने यह हादसा हुआ.

अधिक पढ़ें ...

    रांची. झारखंड की राजधानी रांची स्थित राजेंद्र इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (RIMS) में एक बड़ा हादसा हुआ है. लिफ्ट के गिरने से एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया. मरीज देखने आए युवक के हाथ और पैर की हड्डी टूट गई. सिर में चोट लगने की बात कही जा रही है. घायल युवक को रिम्‍स के ही ICU वार्ड में भर्ती कराया गया है.  जानकारी के अनुसार, युवक सर्जरी आईसीयू में जाने के लिए मेडिसिन आईसीयू के नजदीक स्थित लिफ्ट में सवार हुआ था. लिफ्ट जैसे ही दूसरे फ्लोर पर पहुंची केबल टूटने से वह धड़ाम से गिर गई.

    हादसे के बाद‍ मौके पर तैनात सुरक्षाकर्मी तत्‍काल वहां पहुंचे और घायल शख्‍स को लिफ्ट से निकाला. आनन-फानन में उन्हें रिम्स इमरजेंसी ले जाया गया. न्यूरो सर्जरी, हड्डी विभाग और मेडिसिन विभाग के डॉक्टरों की संयुक्त टीम ने इलाज किया. बाद में उन्हें हड्डी विभाग में विभागाध्यक्ष डॉ. एलबी मांझी की देखरेख में भर्ती किया गया. बताया जाता है कि लिफ्ट जर्जर हालत में थी, जिसकी वजह से यह हादसा हुआ.

    रांची में एक ही मोहल्‍ले के 6 घरों में चोरी, 9 चोर CCTV कैमरे में कैद

    रिम्स में मरीज का इलाज कराने आए परिजनों ने बताया कि लिफ्ट की स्थिति काफी जर्जर है. लिफ्ट जब उपयोग में होता है तो उससे आवाजें आती हैं, जिससे बहुत डर लगता है. आरोप है कि लिफ्ट मैन अक्सर गायब हो जाते हैं. लिफ्ट गिरने से अब इसमें लोग सवार नहीं हो रहे हैं. सीढ़ी से ही जा रहे हैं. लिफ्ट में लाइट भी नहीं जलती है. इसमें सेंसर काम नहीं करता है. रिम्स के कर्मचारियों का भी कहना है कि लिफ्टमैन तो नियुक्त है, लेकिन वह रहते नहीं हैं. दर्जनों लिफ्टमैन की नियुक्ति आउटसोर्स के माध्यम से की गई है. इधर, लिफ्ट के मेंटेनेंस के लिए रिम्स द्वारा प्रति वर्ष 15 लाख रुपये से अधिक राशि दी जाती है, लेकिन एजेंसी समय पर मरम्मत नहीं करती है.

    बता दें कि झारखंड का सबसे बड़ा अस्‍पताल रिम्स (Rajendra Institute of Medical Sciences) आए दिन चर्चा में रहता है. कभी अव्यवस्था के कारण तो कभी बेहतर काम को लेकर. लिफ्ट हादसे के बाद ऐसा प्रतीत होता है कि रिम्‍स प्रबंधन का पूरा ध्‍यान इन कुव्‍यवस्‍थाओं की ओर नहीं है. हालांकि, हादसे के बाद अब मामले की जांच कराने की बात कही जा रही है, लेकिन सवाल यह उठता है कि समय रहते व्‍यवस्‍थाओं को दुरुस्‍त क्‍यों नहीं किया जाता है. सवाल यह भी है कि जब लिफ्टमैन तैनात हैं तो वे मौके पर उपस्थित क्‍यों नहीं रहते हैं.

    Tags: Ranchi news, RIMS

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर