Lockdown: 180 मजदूरों को लेकर आज रांची पहुंचेगा दूसरा विमान, लेह के बाद अंडमान से आएंगे प्रवासी
Ranchi News in Hindi

Lockdown: 180 मजदूरों को लेकर आज रांची पहुंचेगा दूसरा विमान, लेह के बाद अंडमान से आएंगे प्रवासी
अंडमान-निकोबार द्वीप से 180 प्रवासी मजदूरों को झारखंड लाने का खर्च पूरी तरह से राज्य सरकार ही उठा रही है.

झारखंड सरकार के खर्चे पर इंडिगो एयरलाइंस का एक चार्टर्ड विमान अंडमान-निकोबार (Andaman Nicobar) से 180 प्रवासी मजदूरों को लेकर आज शाम 6 बजे रांची पहुंचेगा.

  • Share this:
रांची. देशभर में लागू लॉकडाउन (Lockdown) के बीच प्रवासी मजदूरों का अपने राज्यों में लौटना जारी है. झारखंड (Jharkhand) में भी देश के अलग-अलग राज्यों से प्रवासी मजदूर पहुंच रहे हैं. झारखंड की हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) सरकार इन मजदूरों को राज्य सरकार के खर्चे पर अपने गंतव्य स्थानों तक पहुंचा रही है. इसी क्रम में आज शाम 6 बजे अंडमान-निकोबार (Andaman Nicobar) से 180 मजदूर रांची पहुंचने वाले हैं. राज्य सरकार के खर्चे पर इंडिगो एयरलाइंस का एक चार्टर्ड विमान इन मजदूरों को लेकर रांची पहुंचेगा. इससे पहले राज्य सरकार ने लेह से भी 60 मजदूरों को स्पेशल फ्लाइट से उनके गंतव्य तक पहुंचाने का काम किया था. अंडमान और निकोबार द्वीप के अलग-अलग इलाकों में फंसे इन मजदूरों को लेकर आज शाम करीब 6 बजे इंडिगो का विमान रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर लैंड करेगा.

21 लाख का आया खर्च
अंडमान-निकोबार द्वीप से 180 प्रवासी मजदूरों को झारखंड लाने का खर्च पूरी तरह से राज्य सरकार ही उठा रही है. बताया गया कि इसके लिए विशेष तौर पर 180 सीटों वाले विमान का प्रबंध किया गया है. इस पर करीब 21 लाख रुपए का खर्च आया है. बताया गया कि दोपहर बाद 3-10 बजे यह विमान पोर्टब्लेयर से उड़ान भरकर शाम 6 बजे के बाद रांची एयरपोर्ट पर लैंड करेगा. आपको बता दें कि इससे पहले राज्य सरकार ने लेह से 60 मजदूरों को एयर-लिफ्ट कराया था. बीते शुक्रवार को इन मजदूरों को विशेष विमान से रांची लाया गया. खुद मुख्यमंत्री इन मजदूरों की आगवानी करने रांची एयरपोर्ट पहुंचे थे. मजदूरों ने रांची पहुंचने के बाद झारखंड सरकार और मुख्यमंत्री का आभार जताया था.

लॉ स्कूल के छात्रों ने भी कराया एयर-लिफ्ट



लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों को उनके राज्यों तक पहुंचाने के लिए विभिन्न राज्य सरकारों के अलावा निजी स्तर पर भी लोग आगे आए हैं. कई सामाजिक संगठन भी इन मजदूरों को गंतव्य तक पहुंचाने के काम में लगे हुए हैं. बीते दिनों नेशनल लॉ स्कूल बेंगलुरु के पूर्ववर्ती छात्रों ने भी मुंबई से 180 मजदूरों को झारखंड पहुंचाया था. इन छात्रों ने 11 लाख रुपए में एक चार्टर्ड फ्लाईट बुक कर सभी 180 मजदूरों को रांची पहुंचाया था. लॉ स्कूल के छात्रों की इस पहल की सीएम हेमंत सोरेन समेत कई लोगों ने तारीफ की थी.



ये भी पढ़ें-

झारखंड में 31 मई के बाद भी जारी रहेगा लॉकडाउन! CM हेमंत सोरेन ने दिए संकेत

झारखंड सरकार ने 8 लाख खर्च कर लेह से 60 मजदूरों को कराया एयर लिफ्ट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading