होम /न्यूज /झारखंड /Lockdown 3.0: जानिए कोरोना जोन के आधार पर झारखंड के किस जिले को मिलेगी कितनी छूट

Lockdown 3.0: जानिए कोरोना जोन के आधार पर झारखंड के किस जिले को मिलेगी कितनी छूट

झारखंड के 24 जिलों में रांची रेड जोन में है, जबकि 9 जिले ऑरेंज और 14 जिले ग्रीन जोन में हैं.

झारखंड के 24 जिलों में रांची रेड जोन में है, जबकि 9 जिले ऑरेंज और 14 जिले ग्रीन जोन में हैं.

झारखंड के 24 जिलों में केवल रांची रेड जोन (Red Zone) में है, जबकि 9 जिले ऑरेंज और बाकी 14 जिले ग्रीन जोन में हैं. प्रदे ...अधिक पढ़ें

    रांची. केंद्र सरकार ने एक बार फिर लॉकडाउन (Lockdown-3.0) को 17 मई तक के लिए बढ़ा दिया है. लेकिन लॉकडाउन-3.0 में केंद्र ने कई छूट और रियायतें दी हैं. लेकिन ये सब कोरोना (Corona) प्रभावित इलाकों के आधार पर दी गई हैं. 3 मई को लॉकडाउन-2.0 खत्म होगा और 4 मई से लॉकडाउन-3.0 शुरू होगा. यानी 4 मई से कंटेनमेंट जोन, रेड जोन, ऑरेंज जोन और ग्रीन जोन में मिलने वाली छूट के दायरे नये सिरे से तय किये गये हैं. झारखंड के 24 जिलों में केवल रांची रेड जोन में है, जबकि 9 जिले ऑरेंज और बाकी 14 जिले ग्रीन जोन में हैं. प्रदेश में 33 कंटेनमेंट जोन चिन्हित किये गये हैं. इनमें से सिर्फ रांची में 15 कंटेनमेंट जोन हैं.

    जिलों की कैटेगरी 

    रेड जोन- रांची

    ऑरेंज जोन- बोकारो, गढ़वा, धनबाद, देवघर, हजारीबाग, सिमडेगा, गिरिडीह, कोडरमा और जामताड़ा

    ग्रीन जोन- चतरा, दुमका, पूर्वी सिंहभूम, गोड्डा, गुमला, लातेहार, लोहरदगा, पाकुड़, पलामू, साहेबगंज, सरायकेला खरसावां, पूर्वी सिंहभूम, खूंटी और रामगढ़

    एक शहर के दो म्युनिसिपल कॉरपोरेशन की अलग-अलग कैटेगरी हो सकती है

    लॉकडाउन-3.0 को लेकर जारी नई गाइडलाइन में साफ-साफ लिखा है कि जिन शहरों में दो म्युनिसिपल कॉरपोरेशन हैं, उनमें यदि एक एरिया में कम और दूसरे में ज्यादा संक्रमण है, तो दोनों म्युनिसिपल कॉरपोरेशन की कैटेगरी अलग कर सकते हैं. इसी तरह जिलों में म्युनिसिपल एरिया के बाहर के क्षेत्र में यदि पिछले 21 दिन में या अब तक कोई नया रोगी नहीं मिला, तो बाहरी क्षेत्र की कैटेगरी बदली जा सकती है. जैसे कोई जिला रेड जोन में है, लेकिन उसके म्युनिसिपल-निगम आदि क्षेत्र के बाहरी इलाके में कोई भी रोगी नहीं है, तो उसे रेड की जगह ऑरेंज या ग्रीन केटेगरी में बदला जा सकता है.

    नई गाइडलाइन में इन पर जारी रहेगी रोक

    - ग्रीन, ऑरेंज, रेड और कंटेनमेंट जोन में शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक घर से बाहर निकलने पर पाबंदी रहेगी.

    - चारों जोन में बुजुर्ग और 10 साल से छोटे बच्चों के बाहर निकलने पर रोक रहेगी.
    - स्कूल, कॉलेज, रेल, मेट्रो और हवाई सेवाएं बंद रहेंगी.
    - सार्वजनिक कार्यक्रमों पर पूर्णतया रोक रहगी.
    - शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा. केवल आवश्यक गतिविधि के लिए ही लोग घर से बाहर निकल सकेंगे. धारा-144 लागू रहेगी.

    - कंटेनमेंट जोन को छोड़कर अन्य जोन में सशर्त शराब और पान मसाले की दुकानें खोलने की छूट

    ग्रीन जोन को मिलेंगी ये रियायतें
    - आधी सवारियों के साथ 50 फीसदी बसें चलेंगी.
    - बाइक पर दो लोग बैठ सकेंगे.
    - जो सर्विसेज पहले से मिल रही हैं, वे जारी रहेंगी.
    - फैक्ट्रियां-दुकानें खुल सकेंगी.
    - वे सारी छूट मिलेंगी, जो नियमानुसार पहले से मिलती रही हैं.
    - ग्रीन जोन में सिर्फ उन गतिविधियों पर रोक होगी, जिन पर पूरे देश में प्रतिबंध है.
    - बसें 50 फीसदी क्षमता तक सवारियां बिठा सकेंगी.
    - बस डिपो में भी 50 फीसदी क्षमता तक लोग रहेंगे.

    ऑरेंज जोन में ये छूट
    - टैक्सी कैब और निजी कार्य को अनुमति.
    - चार पहिए वाले वाहन में ड्राइवर के अलावा दो सवारी को बैठाने की छूट.
    - टैक्सी ओला उबर आदि कैब सेवा एक ड्राइवर और एक सवारी के साथ.
    - स्वीकृत गतिविधियों के लिए जिले के अंदर लोगों और वाहनों की आवाजाही.
    - दुपहिया वाहनों पर पीछे भी सवारी बैठाने की छूट.

    रेड जोन में छूट का दायरा बढ़ा
    - रेड जोन में साइकिल, रिक्शा, ऑटो रिक्शा, टैक्सी, ओला उबर आदि कैब सेवा, हेयर कटिंग की दुकान, स्पा, सैलून, जिले के अंदर या 2 जिलों के बीच बस सेवा पर प्रतिबंध जारी रहेगा.
    - रेड जोन में चार पहिया वाहन में ड्राइवर के अलावा एक सवारी बैठ सकेगी.
    - दुपहिया वाहन पर सिर्फ एक ही व्यक्ति बैठ सकेगा.
    - स्पेशल इकोनामिक जोन, एक्सपोर्ट ओरिएंटेड यूनिट, इंडस्ट्रियल एस्टेट और इंडस्ट्रियल टाउनशिप को छूट रहेगी.
    - दवा, मेडिकल उपकरण और इनके कच्चे माल आदि बनाने वाली इकाइयां को अनुमति रहेगी.
    - आवश्यक या सामान्य वस्तुओं की भी बिक्री हो सकेगी.
    - ई-कॉमर्स की छूट सिर्फ आवश्यक वस्तुओं के लिए होगी.
    - फूड प्रोसेसिंग और ईट भट्टों को छूट रहेगी.
    - प्राइवेट ऑफिस 33% क्षमता से काम कर सकेंगे.

    कंटेनमेंट जोन में सभी गतिविधियों पर रोक
    यहां सभी गतिविधियों पर रोक रहेगी. सबसे ज्यादा संवेदनशील कंटेनमेंट जोन को माना गया है. इनका दायरा संबंधित जिला प्रशासन तय करेगा. इन इलाकों में हर व्यक्ति को अनिवार्य रूप से आरोग्य सेतु एप का उपयोग करना होगा. इन इलाकों में बाहरी लोगों के आने जाने की कोई छूट नहीं होगी. सिर्फ मेडिकल इमरजेंसी और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति हो सकेगी. कंटेनमेंट जोन, रेड व ऑरेंज जोन के ऐसे इलाके हैं जहां संक्रमण सबसे तेजी से फैल रहा है.

    राज्य सरकार नहीं दे सकेंगी कोई छूट
    माल ढोने वाले सभी वाहनों को पूरे देश में आवाजाही की छूट रहेगी. आवश्यक सामानों की आवाजाही के लिए किसी भी तरह के अतिरिक्त पास की जरूरत नहीं होगी. जिन गतिविधियों को विशेष तौर पर प्रतिबंधित नहीं किया गया है, उन सभी को संचालन की छूट रहेगी. राज्य इनमें अपनी जरूरत और महामारी के प्रसार को रोकने के इरादे से अतिरिक्त पाबंदियां लगा सकते हैं. लेकिन राज्य सरकार अपनी तरफ से किसी गतिविधि में कोई छूट नहीं दे सकेंगी.

    ये भी पढ़ें- झारखंड के 1490 छात्रों को लेकर कोटा से निकली ट्रेन शाम में पहुंचेगी रांची

    Tags: Corona Days, Jharkhnad news, Lockdown, Modi government, Ranchi news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें