Home /News /jharkhand /

प बंगाल के बाद अब झारखंड में भी मिनी लॉकडाउन की तैयारी ! आज फैसला लेंगे हेमंत सोरेन

प बंगाल के बाद अब झारखंड में भी मिनी लॉकडाउन की तैयारी ! आज फैसला लेंगे हेमंत सोरेन

कोरोना को रोकने के ल‍िए झारखंड सरकार आज बड़ा फैसला कर सकती है. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

कोरोना को रोकने के ल‍िए झारखंड सरकार आज बड़ा फैसला कर सकती है. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

Mini Lockdown In Jharkhand: स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार को होने वाली बैठक से पहले हेमंत सोरेन की सरकार को 15 बिंदुओं पर सुझाव भेजा है. झारखंड में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच लॉकडाउन पर फैसला राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक में होना है.

अधिक पढ़ें ...

रांची. झारखंड में फिर एक बार तेजी से पांव पसारते कोरोना के संक्रमण (Corona Infection) ने सबकी चिंता बढ़ा दी है. कोरोना संक्रमण के बढ़ते आंकड़ों ने यह स्पष्ट कर दिया है कि तीसरी लहर ने झारखंड में दस्तक दे दी है.  रविवार को राज्य में कुल 1 हजार 57 नये कोरोना संक्रमित मिले. रांची में सबसे ज्यादा 413 संक्रमित मिले तो वहीं पूर्वी सिंहभूम में 179 और धनबाद में 110 नये कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई. संक्रमित होने वालों में रिम्स के 5 डॉक्टर और 52 छात्र भी शामिल हैं. कोरोना से संक्रमित होने वालों का आंकड़ा 1 हजार के पार चला गया है, ऐसे में अब राज्य की हेमंत सोरेन सरकार भी बड़ा फैसला ले सकती है.

कोरोना संक्रमण के बढ़ते आंकड़ों के बीच झारखंड सरकार ने आज यानी सोमवार को राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक बुलाई है. इस बैठक से पहले ही स्वास्थ्य विभाग ने 16 बिंदुओं पर राज्य सरकार को सलाह दी है जिसमें नाइट कर्फ्यू से लेकर स्कूल-कॉलेजों को बंद करने जैसे सलाह शामिल हैं. पहले चरण में 15 जनवरी तक सख्ती बरतने की सलाह दी गई है. स्वास्थ्य विभाग ने राज्य सरकार को 15 बिंदुओं पर आवश्यक सुझाव भेजा है. इस सुझाव में नाईट कर्फ्यू से लेकर धार्मिक और शैक्षणिक संस्थान को बंद करने का सुझाव दिया गया है. हालांकि इस सुझाव पर राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक में लिया जाएगा.

स्वास्थ्य विभाग के द्वारा राज्य सरकार को भेजा गया सुझाव 

1. सभी सार्वजनिक पार्क और स्टेडियम जैसे खेल परिसर 15 जनवरी तक बंद रखने की जरूरत.

2. सभी स्विमिंग पूल, जिम और इनडोर स्टेडियम को 15 जनवरी तक बंद रखने की जरूरत है.

3. सभी धार्मिक स्थल बंद होने चाहिए, किसी भी श्रद्धालु को अनुमति नहीं दी जानी चाहिए.

4. मेलों की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए और हाट बाजारों को केवल सख्त सामाजिक दूरी के साथ अनुमति दी जा सकती है और उनकी निगरानी की जानी चाहिए.

5. विवाह समारोह, मृत्यु अनुष्ठान, किसी भी सामाजिक समारोहों की अनुमति केवल 50 से अधिक लोगों के साथ नहीं होनी चाहिए और प्रत्येक की दो खुराक होनी चाहिएवैक्सीन का.

6. गैर-जरूरी दुकानें सप्ताह के प्रत्येक वैकल्पिक दिन पर ही खोली जानी चाहिए और शाम को 5:00 बजे तक बंद कर दी जानी चाहिए.

7. स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान/ट्यूशन बंद होने चाहिए और अगली सूचना तक ऑनलाइन आधार पर काम करना चाहिए.

8. रेस्टोरेंट को बंद किया जाए। उन्हें अगली सूचना तक होम डिलीवरी के आधार पर काम करना चाहिए.

9. कार्यालय 50% क्षमता के साथ चलेंगे। कार्यालयों में कोई एसी या हीटर का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए और क्रॉस वेंटिलेशन बनाए रखा जाना चाहिए.

10. बायोमीट्रिक अटेंडेंस पर अगली सूचना तक रोक लगाई जाए.

11. हम सलाह देते हैं कि मॉल बंद रहें लेकिन अगर इसे खोलने की अनुमति है तो आगंतुकों को केवल टीकाकरण की दोहरी खुराक के साथ अनुमति दी जानी चाहिए और क्षमता के अनुसार केवल 25% आगंतुकों को अनुमति दी जानी चाहिए.

12. किसी भी माध्यम से यात्रा करने वाले अन्य राज्य या देश के आगंतुकों को आरटी-पीसीआर नकारात्मक परिणाम प्रस्तुत करना चाहिए जो कि रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंडों और पुलिस जांच बिंदुओं के सभी चेक पॉइंट पर 72 घंटे से कम होना चाहिए. 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का परीक्षण नहीं किया जाना चाहिए.

13. शाम 6 बजे के बाद सुबह 6 बजे से 15 जनवरी तक रात्रि कर्फ्यू लगाया जा सकता है। आवश्यक दुकानों के लिए छूट

14. रविवार को सभी गैर-जरूरी दुकानों के लिए बंद.

15. 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को छोड़कर सभी नागरिकों के लिए मास्क अनिवार्य किया जाना चाहिए अपने घरों से बाहर यात्रा करते समय.

16. झारखंड या अन्य राज्य के लोगों को आंदोलन के लिए पास के रूप में दो खुराक टीकाकरण प्रमाण पत्र (सॉफ्ट या हार्ड कॉपी) ले जाने की सलाह दी जा सकती है.

Tags: Corona Lock Down, Corona Lockdown, Jharkhand news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर