लाइव टीवी

कोरोना को लेकर झारखंड में भी लॉकडाउन, 31 मार्च तक सभी सरकारी दफ्तर बंद, इन सेवाओं को छूट
Ranchi News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: March 23, 2020, 8:34 AM IST
कोरोना को लेकर झारखंड में भी लॉकडाउन, 31 मार्च तक सभी सरकारी दफ्तर बंद, इन सेवाओं को छूट
सीएम हेमंत सोरेन ने झारखंड में कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने और उससे निपटने के लिए पूरे राज्य में 31 मार्च तक लॉकडाउन (पूर्णतया तालाबंदी) करने का निर्णय लिया है.

सीएम हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने कहा कि, कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर अगले दो-तीन सप्ताह झारखंड (Jharkhand) के लिए काफी निर्णायक हैं.

  • Share this:
रांची. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) भारत समेत कई देशों के लिए बड़ा खतरा बनता जा रहा है. इसे लेकर आने-वाले दो-तीन सप्ताह काफी क्रूशियल हैं. ऐसे में झारखंड में कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने और उससे निपटने के लिए पूरे राज्य में 31 मार्च तक लॉकडाउन (पूर्णतया तालाबंदी) करने का निर्णय लिया है. मुख्यमंत्री ने रविवार देर शाम वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कोरोना वायरस के कारण पैदा हो रही परिस्थितियों और इससे निपटने के तौर-तरीकों को लेकर उच्चस्तरीय बैठक की. मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में कोरोना के संभाव्य प्रसार को लेकर सरकार सतर्क है और इसे रोकने के लिए सभी एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं.

बंद रहेंगे राज्य सरकार के सभी कार्यालय, मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे कर्मी
राज्य सरकार ने महामारी रोक अधिनियम-1987 के अंतर्गत कोरोना वायरस के संभाव्य प्रसार को देखते हुए पूरे राज्य में लॉक डाउन की घोषणा की है. इसके अंतर्गत आकस्मिक सेवाओं को छोड़कर राज्य सरकार के सभी कार्यालय बंद रहेंगे. पदाधिकारी और कर्मचारी अपने घरों से कार्यों का निष्पादन करेंगे, लेकिन वे अपने मुख्यालय में मौजूद रहेंगे. आवश्यकता पड़ने पर कार्यालय प्रधान द्वारा उन्हें दफ्तार में बुलाया जा सकता है.

सार्वजनिक परिवहन सेवाओं पर लगाई गई रोक



इस उच्चस्तरीय बैठक में निर्णय लिया गया कि इंटर स्टेट और राज्य के अंदर बस सेवाओं के परिचालन पर 31 मार्च तक पूरी तरह रोक रहेगी. साथ ही टैक्सी, आटो, ई-रिक्शा आदि का भी परिचालन नहीं किया जा सकेगा. लेकिन, स्वास्थ्य की तत्काल आवश्यकता को देखते हुए अस्पताल तक परिवहन की सुविधा को इससे अलग रखा गया है. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कहा कि इस बाबत राज्य की सीमाओं पर स्थित चेकपोस्ट पर चेकिंग की पुख्ता व्यवस्था हो और बाहर से आने वाले सभी तरह के वाहनों और उसमें बैठे लोगों का मोबाइल नंबर सहित सभी जानकारी लिखित रूप में अनिवार्य रुप से ली जाए.

धार्मिक स्थल भी बंद, निर्माण कार्यों पर रोक
वायरस के संभाव्य प्रसार के मद्देनजर सभी दुकानें, व्यावसायिक प्रतिष्ठान, फैक्ट्री, गोदाम और साप्ताहिक हाट-बाजार आदि को बंद रखने, सभी प्रकार के निर्माण कार्य तत्काल प्रभाव से रोकने और धार्मिक स्थलों को दर्शनार्थियों के लिए बंद करने का भी निर्णय उच्चस्तरीय बैठक में लिया गया.

इन आवश्यक सेवाओं को लॉकडाउन से दी गई छूट
स्वास्थ्य सेवाओं, पुलिस, अग्निशमन सेवाएं, कारा सेवाएं, विधि व्यवस्था से जुड़े पदाधिकारी और कर्मी, राशन दुकान, बैंक, एटीएम, प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया, टेलीकॉम/ इंटरनेट सेवाएं/आईटी आधारित सेवाएं, खाद्य आपूर्ति से जुड़ी परिवहन सेवाएं, पोस्टल सेवाएं, खाद्य, दवा और चिकित्सा उपकरण सहित सभी आवश्यक वस्तुओं की ई-कॉमर्स आपूर्ति को लॉकडाउन से छूट दी गई है. इसके अलावा खाद्य पदार्थ, किराने का सामान, दूध, फल और सब्जी के परिवहन तथाभंडारण की गतिविधियां, रेल, हवाई अड्डा और बस अड्डा के लिए परिवहन सेवाएं, टेक अवे/होम डिलीवरी रेस्टोरेंट, हॉस्पिटल, दवा दुकान, पेट्रोल पंप एवं एलपीजी व सीएनजी गैस के परिवहन और भंडारण की गतिविधियों को भी छूट दी गई है. उत्पादन और निर्माण इकाईयां, जिन्हें निरंतर उत्पादन प्रक्रिया चलाने की आवश्यकता होती है, उपायुक्त की अनुमति प्राप्त करने के बाद अपनी गतिविधियों को चालू रख सकते हैं.

एक जगह पर 5 से अधिक व्यक्तियों के जमावड़े पर निषेध
इस उच्चस्तरीय बैठक में एक ही जगह पर 5 से अधिक व्यक्तियों के जमावड़े पर निषेध का निर्णय लिया गया है. इसके अलावा विदेश से आने वाले नागरिकों या अन्य राज्यों से आए हुए व्यक्ति स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा निर्धारित क्वारेंटाइन की अवधि का कड़ाई से पालन करेंगे. लोग अपने घरों में रहेंगे. बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए बाहर जाने के दरम्यान सामाजिक दूरी के दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित करेंगे.

बनाया जाएगा वार रूम/कंट्रोल रूम
मुख्यमंत्री सोरेन ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर राज्य मुख्यालय, जिला मुख्यालय प्रखंड मुख्यालय और पंचायत स्तर पर वरुण और कंट्रोल रूम बनाया जाएगा. राज्य अथवा राज्य के बाहर रहने वाले यहां के लोग कोरोना वायरस से जुड़ी सूचनाएं और परेशानियों की जानकारी दे सकते हैं. यहां मिलने वाली रिपोर्टों की हर दिन शाम को समीक्षा की जाएगी और आवश्यकता अनुरूप कार्रवाई की जाएगी.

हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया
सीएम ने अधिकारियों को कोरोना वायरस को लेकर हेल्पलाइन नंबर जारी करने का निर्देश दिया. यह हेल्पलाइन नंबर 24 घंटे काम करेगा. इस बाबत हेल्पलाइन नंबर 181 पर कोरोना वायरस से संबंधित कोई भी जानकारी दी जा सकती है.

राज्य में अवस्थित सभी दाल-भात केंद्र क्रियाशील किए जाएं
इस उच्च स्तरीय बैठक में राज्य में स्थित सभी 377 दाल-भात केंद्रों को 3 दिनों के अंदर हर हाल में क्रियाशील बनाने का निर्देश सभी जिलों के उपायुक्तों को देने का निर्णय लिया गया. दाल-भात केंद्रों में सिर्फ भोजन का वितरण किया जाएगा. वहां बैठकर भोजन करने की मनाही होगी. लोग वहां से भोजन ले जाकर अपने घरों में खा सकेंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन इलाकों से श्रमिकों का ज्यादा पलायन हुआ है, वहां लौटे कर आए श्रमिकों के हितों का पूरा ध्यान रखा जाए. आंगनबाड़ी केंद्रों से बच्चों के घर पर भोजन की होम डिलीवरी की जाएगी. इस बाबत आंगनबाड़ी सेविका सहायिका की जिम्मेदारी तय की जाए. इसमें किसी भी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

लोगों को जागरुक करने को किया जाएगा व्यापक प्रचार-प्रसार
मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि गांव-गांव तक लोगों को यह जानकारी होनी चाहिए कि कोरोना वायरस के कारण होने वाली बीमारी, इसके लक्षण और बचाव के क्या उपाय हैं. इस बाबत राजधानी रांची से लेकर हर गांव-पंचायत तक इस बाबत पोस्टर या अन्य माध्यमों से व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए. इसमें आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका, शिक्षकों और जरूरत पड़ने पर अन्य सरकारी कर्मियों की जिम्मेदारी तय की जाए. इसके अलावा नगर निगम के सफाई वाहनों और पुलिस विभाग के पीसीआर वैन आदि का भी इस्तेमाल किया जाए. चौक-चौराहों पर ट्रैफिक सिग्नलों पर भी ध्वनियंत्रों के माध्यम से लोगों को जागरुक किया जाए. हाइवे के टॉल प्लाजा पर भी कोरोना से संबंधित प्रचार-प्रसार सामग्री उपलब्ध कराई जाए, ताकि आने-जाने वाले वाहनों में उसे बांटा जा सके. मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को जागरुक करने के लिए जो भी जरूरी कदम उठाने पड़ेगे, उसे जरूर उठाया जाएगा.

ये पदाधिकारी बैठक में रहे उपस्थित
इस बैठक में गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, खाद्य आपूर्ति विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह, पुलिस महानिदेशक एमवी राव,  स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव नितिन मदन कुलकर्णी, श्रम विभाग के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, परिवहन विभाग के सचिव के रवि कुमार, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल जी तिवारी, रांची के उपायुक्त और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विशेष रूप से मौजूद थे.

ये भी पढ़ें:

कोरोना इफेक्ट: रांची के बाजार से गायब हुई इन बीमारियों की दवा, इनके बढ़े दाम

अमेरिका से रांची लौटने पर घर न जाकर रिम्स पहुंचीं कांग्रेस विधायक, हुईं भर्ती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 8:07 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,274

     
  • कुल केस

    1,603,428

    +355
  • ठीक हुए

    356,440

     
  • मृत्यु

    95,714

    +22
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर