एचईसी प्रबंधन के एकतरफा घोषणाओं से दुकानदारों में रोष

Manoj Kumar | News18 Jharkhand
Updated: July 17, 2018, 2:15 PM IST
एचईसी प्रबंधन के एकतरफा घोषणाओं से दुकानदारों में रोष
एचईसी प्रबंधन के एकतरफा घोषणाओं से दुकानदारों में रोष

राजधानी में हैवी इंजीनियरिंग कारपोरेशन लिमिटेड (एचईसी) प्रबंधन द्वारा आवंटित दुकानों के किराए में बढ़ोतरी की गई है. इस बढ़ोतरी के खिलाफ मंगलवार को ध्रुवा इलाके की सभी मार्केट बंद रखी गईं हैं.

  • Share this:
झारखंड की राजधानी रांची में हैवी इंजीनियरिंग कारपोरेशन लिमिटेड (एचईसी) प्रबंधन द्वारा आवंटित दुकानों के किराए में बढ़ोतरी की गई है. इस बढ़ोतरी के खिलाफ मंगलवार को ध्रुवा इलाके की सभी मार्केट बंद रखी गईं हैं. विरोध में दुकानदारों ने अपनी अपनी दुकानों में ताला लगा दिया है. आक्रोशित दुकानदार अब बढ़ोतरी वापस लेने या त्रिपक्षीय वार्ता के बाद बढ़ाने की मांग कर रहे हैं.

मांगें नहीं माने जाने पर चरणबद्ध आंदोलन की चेतावनी भी दी है. वहीं इस मुद्दे को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय के पास भी पहुंचे, जहां सुबोधकांत सहाय ने न सिर्फ आंदोलन को समर्थन देने की बात कही बल्कि पूर्व की तरह पहल कर इस मुद्दे पर प्रबंधन के साथ वार्ता कर किराे को पुर्ननिरीक्षत करवाने का आश्वासन दिया है.

मामले में स्थानीय दुकानदार ने कहा कि सन् 1972 में एचईसी द्वारा दुकानें अलॉट की गईं थी. यहां अलॉट की गई दुकानों की संख्या कुल 1030 है. अब उनके किराए में इस बार जो बढ़ोतरी हुई है, वो करीब 3 हजार फीसदी बढ़ोतरी हुई है. उन्होंने कहा कि जिस तरह बेतहाशा एचईसी प्रबंधन द्वारा जो किराया बढ़ाया जा रहा है, वो लोगों में अशांति का माहौल पैदा कर रही है.

इधर, मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने कहा कि एचईसी का जो परिवार है वो कोई आर्थिक रूप से संपन्न नहीं है. उन्होंने कहा कि इसमें जो दुकानें अन ऑथराइज्ड हैं उनके पास से कुछ नहीं लग रहा है, वहीं ऑथराइज्ड दुकानों से इतना पैसों की वसूली की जा रही है. उन्होंने कहा कि एचईसी प्रबंधन जिस तरह एकतरफा घोषणा करता जा रहा है वो ऑथराइज्ड दुकानदारों के साथ अन्याय है. इसमें उन्होंने त्रिपक्षीय वार्ता कर उचित राश्ता निकालने की मांग की है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 17, 2018, 2:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...