Madhupur By Election: वर्तमान मंत्री और पूर्व मंत्री होंगे आमने-सामने! JMM को टक्कर देने बिछड़े साथी आए करीब

पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी से अलग होकर चुनाव लड़ने वाली आजसू पार्टी मधुपुर सीट पर बीजेपी को समर्थन देगी.

पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी से अलग होकर चुनाव लड़ने वाली आजसू पार्टी मधुपुर सीट पर बीजेपी को समर्थन देगी.

Madhupur By Election: मधुपुर उपचुनाव में भाजपा अपने पुराने साथी और क्षेत्र से विधायक रह चुके राज पालिवाल को उम्मीदवार बनाना चाहती है. लेकिन फैसला केंद्रीय नेतृत्व को लेना है. इस बीच पार्टी ने पुराने सहयोगी आजसू को अपने साथ कर लिया है.

  • Share this:

रांची. झारखंड की मधुपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव (Madhupur By Election) की तिथि घोषित होने के बाद बढ़ी हुई राजनीतिक सरगर्मी के बीच एक बात तय होती दिख रही है कि सत्ताधारी झामुमो (JMM) के खिलाफ राजग के दोनों घटक दल भाजपा (BJP) और आजसू (AJSU) एक साथ पूरी ताकत से चुनाव लड़ेंगे. पूर्व मंत्री हाजी हुसैन अंसारी के निधन के बाद उनके पुत्र को मंत्री बनाकर झारखंड मुक्ति मोर्चा ने पहले ही अपना कार्ड खेल दिया है. हाजी हुसैन अंसारी के पुत्र हफीजुल अंसारी वर्तमान में मंत्री हैं और उन्हें यह पद बरकरार रखने के लिए विधानसभा चुनाव में जीत कर सदन में पहुंचना होगा.

भाजपा अपने पुराने साथी और क्षेत्र से विधायक रह चुके राज पालिवाल को उम्मीदवार बनाना चाहती है. लेकिन फैसला केंद्रीय नेतृत्व को लेना है. हालांकि अभी तक के संकेत राज पालिवाल के पक्ष में ही हैं. राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में भाजपा की सहयोगी आजसू के प्रमुख सुदेश महतो के अनुसार एनडीए में उम्मीदवार को लेकर कोई विवाद नहीं है. उन्होंने कहा कि वे लोग जीतने के लिए चुनाव लड़ेंगे.

पिछले विधानसभा चुनाव में एक-दूसरे के खिलाफ ताकत आजमा चुके भाजपा और आजसू के संबंध अब सामान्य हैं. माना जा रहा है कि पश्चिम बंगाल के चुनाव में आजसू को एक सीट पर समर्थन देकर भाजपा ने अपनी सहयोगी पार्टी की वर्षों पुरानी मांग पूरी कर दी है. इसके बाद अब आजसू को अपने बड़े पार्टनर के लिए कुछ करके दिखाना है.

सूत्रों के अनुसार आजसू मधुपुर से अपना उम्मीदवार नहीं देगी, लेकिन जब तक फैसला नहीं हो जाता, तब तक कुछ कहा भी नहीं जा सकता. राज पालिवाल पहले भी इस क्षेत्र के विधायक रह चुके हैं और उनके पास हाजी हुसैन अंसारी को हराने का अनुभव भी है. इसी आधार पर उनकी दावेदारी मजबूत मानी जा रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज