झारखंड में मानसून ने समय से पहले दी दस्तक, किसानों के चेहरे पर लौटी खुशी

राज्य में करीब 38 लाख हेक्टेयर भूमि पर खेती की जाती है.

Jharkhand Weather: इस साल आए प्री मानसून और मानसून, दोनों को खेती के लिए लाभकारी माना जा रहा है. प्री मानसून की बारिश भी काफी अच्छी बारिश हुई, जिससे किसानों के चेहरों पर खुशी ही खुशी झलक रही है.

  • Share this:
रांची. झारखंड के किसानों का इंतजार खत्म हो चुका है, क्योंकि यहां मानसून (Monsoon) ने दस्तक दे दी है. इस साल प्री मानसून बारिश के बाद मानसून समय पर आ गया है, जिससे किसानों के चेहरे पर खुशी का ठिकाना नहीं है. कृषि विशेषज्ञों का मानना है कि इस बार किसानों को फसल की बंपर पैदावार मिलने की उम्मीद है. बता दें कि मानसून ने ओडिशा की तरफ से दक्षिणी-पूर्वी, उत्तर-पूर्वी और मध्य जिलों से झारखंड में प्रवेश किया है. अब आने वाले 3 से 4 दिन में भारी बारिश की संभावना है. मौसम वैज्ञानिक और रांची मौसम केंद्र की मानें, तो इस साल बारिश 96 से 104 प्रतिशत तक हो सकती है.

राज्य में करीब 38 लाख हेक्टेयर भूमि पर खेती की जाती है. इसमें करीब 28 लाख हेक्टेयर में खरीफ फसल और 18 लाख हेक्टेयर में धान की फसल लगाई जाती है. बता दें कि मानसून आने से पहले प्री मानसून की बारिश हुई थी, जिससे किसान के खेत पहले से ही तैयार हैं. हालांकि अब मानसून भी दस्तक दे चुका है. ऐसे में किसान खरीफ फसलों की बुवाई कर सकते हैं.

इस साल आए प्री मानसून और मानसून, दोनों को खेती के लिए लाभकारी माना जा रहा है. प्री मानसून की बारिश भी काफी अच्छी बारिश हुई, जिससे किसानों के चेहरों पर खुशी ही खुशी झलक रही है. अब अधिकतर किसान अपने खेतों को तैयार करने में जुट गए हैं. उम्मीद जताई जा रही है कि इस साल का मानसून किसानों को फसल का अच्छी उत्पादन दिलाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.