झारखंड में मैट्रिक और इंटर टॉपर्स को मिलेगी ऑल्टो कार, शिक्षा मंत्री करेंगे सम्मानित

शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने हाल में ही इंटर में एडमिशन लिया है. (फाइल फोटो)
शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने हाल में ही इंटर में एडमिशन लिया है. (फाइल फोटो)

झारखंड में मैट्रिक और इंटर परीक्षा (Matric-Inter Exam) के 29 टॉपर्स (Toppers) को राज्य सरकार पुरस्कृत करेगी. 23 सितम्बर को विशेष समारोह में इन्हें ऑल्टो कार दिया जाएगा.

  • Share this:
रांची. झारखंड में इस बार मैट्रिक और इंटर परीक्षा (Matric-Inter Exam) के टॉपर्स (Toppers) को शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो (Jagarnath Mahto) ऑल्टो कार देकर पुरस्कृत करेंगे. 23 सितंबर को रांची स्थित झारखंड विधानसभा के परिसर में इसके लिए खास कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. बता दें कि झारखंड एकेडमिक कॉउंसिल (JAC) ने मैट्रिक और इंटर परीक्षा के टॉपर्स की लिस्ट जारी कर दी है. जैक द्वारा शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो को भेजी गयी टॉपर्स की लिस्ट में मैट्रिक परीक्षा में नेतरहाट आवासीय विद्यालय के मनीष कुमार कटियार और इंटर की परीक्षा में प्लस-टू एसआरएसएसआर उच्च विद्यालय सरिया, गिरिडीह के अमित कुमार स्टेट टॉपर बने हैं.

अमित कुमार को पांच सौ में से 457 अंक मिले हैं और वह इंटर के तीनों संकायों में ओवरऑल स्टेट टॉपर घोषित किए गए हैं. वहीं मैट्रिक परीक्षा के स्टेट टॉपर मनीष कटियार ने पांच सौ में से 490 अंक प्राप्त की है.

जुलाई में जारी हुआ था रिजल्ट 



बता दें कि जैक ने मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट जुलाई में ही जारी किया था. लेकिन उस समय टॉपर्स के नामों की घोषणा नहीं की गई थी. हालांकि उसी समय शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो ने टॉपर्स को कार देने की घोषणा की थी. उसी घोषणा के तहत अब टॉपर्स को सम्मानित करने की 23 सितंबर को तैयारी है.
सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के टॉपर्स भी होंगे सम्मानित  

समारोह में शिक्षा मंत्री दोनों परीक्षाओं के 29 स्टेट टॉपर्स को ऑल्टो कार देकर पुरस्कृत करेंगे. इसके अलावा राज्य सरकार ने मैट्रिक और इंटर के तीनों संकायों के परीक्षा में फर्स्ट, सेकेंड और थर्ड डिविजन से पास करने वालों छात्रों को भी पुरस्कृत करने की घोषणा की है. जैक बोर्ड के अलावा सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के टॉपर्स को राज्य सरकार सम्मानित करेगी.

जैक अध्यक्ष अरविंद सिंह ने बताया कि परीक्षा की कॉपियों की स्क्रूटनी के बाद टॉपर्स की सूची जारी की गई है. इसलिए देरी हुई. किसी तरह की कोई गड़बड़ी न हो इसलिए ऐसा किया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज