लाइव टीवी

झारखंड में मंगलवार से मैट्रिक और इंटर की परीक्षाएं, 6 लाख परीक्षार्थी लेंगे हिस्सा
Ranchi News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: February 10, 2020, 2:57 PM IST
झारखंड में मंगलवार से मैट्रिक और इंटर की परीक्षाएं, 6 लाख परीक्षार्थी लेंगे हिस्सा
झारखंड में मंगलवार से मैट्रिक और इंटर की परीक्षाएं शुरू होंगी (फाइल फोटो)

जैक अध्यक्ष डॉ अरविन्द प्रसाद सिंह ने बताया कि दोनों परीक्षाओं को लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. इस बार भी कदाचारमुक्त परीक्षा लिये जाएंगे. इसके लिए परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी लगवाये गये हैं.

  • Share this:
रांची. झारखंड में कल यानी मंगलवार से मैट्रिक (Matric) और इंटर (Inter) की परीक्षाएं (Exam) एकसाथ शुरू होने वाली हैं. इसके लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. इस बार मैट्रिक परीक्षा में 3 लाख 87 हजार 21, जबकि इंटर में 2 लाख 34 हजार 363 परीक्षार्थी हिस्सा लेंगे. राज्यभर में मैट्रिक परीक्षा के लिए 940 और इंटर परीक्षा के लिए 470 केन्द्र बनाये गये हैं. जैक (JAC) ने कदाचारमुक्त परीक्षा लेने का दावा किया है.

दो पालियों में होंगी परीक्षाएं

पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष मैट्रिक और इंटर की परीक्षा में करीब 1.35 लाख परीक्षार्थी कम शामिल होंगे. मैट्रिक की परीक्षा पहली पाली और इंटर की परीक्षा दूसरी पाली में होगी. पहली पाली सुबह 9 बजकर 45 मिनट से शुरू होगी. 15 मिनट का वक्त प्रश्नपत्र पढ़ने के लिए अलग से दिया जाएगा. इंटर की परीक्षा दोपहर दो बजे से शुरू होकर शाम 5 बजकर 15 मिनट तक चलेगी.

जैक अध्यक्ष डॉ अरविन्द प्रसाद सिंह ने बताया कि दोनों परीक्षाओं को लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. इस बार भी कदाचारमुक्त परीक्षा लिये जाएंगे. इसके लिए परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी लगवाये गये हैं.

रांची जिले में सबसे अधिक परीक्षार्थी

रांची जिले में परीक्षार्थियों की संख्या सबसे अधिक है. मैट्रिक परीक्षा में शामिल होने 34,080 परीक्षार्थियों के लिए रांची में 87 परीक्षा केन्द्र बनाये गये हैं. वहीं इंटर के तीनों संकाय में कुल 32960 विद्यार्थी 50 केन्द्रों पर परीक्षा देंगे.

जिला शिक्षा पदाधिकारी मिथिलेश कुमार सिन्हा ने बताया कि बगैर तलाशी के छात्रों को परीक्षा केन्द्रों में एंट्री नहीं दी जाएगी. इसलिए उन्हें समय से पहले केन्द्रों पर पहुंचने के निर्देश दिये गये हैं.दोनों परीक्षाएं 11 से 28 फरवरी तक चलेंगी. जैक ने फर्जीवाड़ा रोकने के लिए परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र में क्यूआर कोड की व्यवस्था की है. इसके जरिये असली और नकली छात्र की पहचान करने में आसानी होगी.

रिपोर्ट- भुवन किशोर झा 

ये भी पढ़ें- 3 साल से सुनसान पड़ा है मॉडल थाना, इस वजह से पुलिसवाले जाने की हिम्मत नहीं करते

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 2:57 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर