पौधे लगाकर डॉक्टर बनने की शुरुआत, 5 साल में हरा-भरा होगा रिम्स

निदेशक डॉ डीके सिंह ने कहा नये बच्चों के लिए ये खुशी का दिन है. अगले पांच साल तक ये बच्चे अपने विकास के साथ-साथ पौधों के विकास को भी देखेंगे. 30 साल बाद भी जब ये लोग लौटकर रिम्स आएंगे, तो अपने पौधे को देख पाएंगे.

News18 Jharkhand
Updated: August 2, 2019, 4:00 PM IST
पौधे लगाकर डॉक्टर बनने की शुरुआत, 5 साल में हरा-भरा होगा रिम्स
रिम्स में नये बच्चों ने पौधे लगाकर की एमबीबीएस की पढ़ाई की शुरुआत
News18 Jharkhand
Updated: August 2, 2019, 4:00 PM IST
झारखंड के सबसे बड़े अस्पताल राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (रिम्स) को हरा भरा रखने के लिए अनोखी पहल की गई है. इस साल यहां 180 बच्चों ने एमबीबीएस कोर्स में दाखिला लिया है. इन बच्चों ने डॉक्टर बनने की शुरुआत एक-एक पौधे लगाकर की. अगले पांच साल तक ये इन पौधों की देखभाल करेंगे. हर पौधे में अलग- अलग स्टूडेंट के नाम के टैग होंगे.

पौधे लगाकर नये बैच की शुरुआत

शुक्रवार को एमबीबीएस के नये छात्र- छात्राओं ने रिम्स परिसर में नीम, जामुन, बेल, आम, अमरुद और कदम के पौधे लगाए. इस दौरान सभी ने ये भी संकल्प लिया कि अगले पांच साल तक यहां पढ़ाई के दौरान वे इन पौधों की देखभाल मरीजों की तरह करेंगे.

एमबीबीएस-2019 बैच की छात्रा इशिका वत्स ने बताया कि एक कैंपेन के तहत उन्हें पौधे लगाने के लिए कहा गया था. अगले पांच साल तक वे अब इन पौधों की देखभाल करेंगे.

पौधे लगातीं छात्राएं


5 साल तक पौधों की करेंगे देखरेख

रिम्स के बायोकेमिस्ट्री विभाग की प्रोफेसर डॉ. अनूपा प्रसाद ने कहा कि एमबीबीएस स्टूडेंट्स के लिए एक महीने का फाउंडेशन कोर्स होता है. इसके तहत एक दिन पौधे लगाने की जिम्मेदारी बच्चों को दी गई. अब ये लोग अगले पांच साल तक अपने-अपने पौधों की देखरेख करेंगे.
Loading...

निदेशक डॉ डीके सिंह ने कहा नये बच्चों के लिए ये खुशी का दिन है. अगले पांच साल तक ये बच्चे अपने विकास के साथ-साथ पौधों के विकास को भी देखेंगे. 30 साल बाद भी जब ये लोग लौटकर रिम्स आएंगे, तो अपने पौधे को देख पाएंगे. तब इनको अलग तरह की अनुभूति प्राप्त होगी.

इस साल से पहले रिम्स में नए बैच की शुरुआत दूसरे अंदाज में होती था, लेकिन इस बार निदेशक की पहल पर पौधारोपण से हुई. इंसान की जान से पहले इन्हें पर्यावरण के महत्व की सीख दी गई.

रिपोर्ट- उपेन्द्र कुमार

ये भी पढ़ें- शादी के घर में खूनी खेल, संपत्ति विवाद में मां- बेटे की निर्मम हत्या

महंगी बिजली के कारण 25 कंपनियां बंद, 30 हजार मजदूर हुए बेरोजगार

  

 
First published: August 2, 2019, 3:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...