झारखंड: मानसून सत्र के दौरान बिना कोरोना टेस्ट नहीं मिलेगी विधानसभा में एंट्री
Ranchi News in Hindi

झारखंड: मानसून सत्र के दौरान बिना कोरोना टेस्ट नहीं मिलेगी विधानसभा में एंट्री
झारखंड विधानसभा के लिए अहम निर्देश. (फाइल फोटो)

निर्देश के मुताबिक, सदन की कार्यवाही में भाग लेने के लिए सदस्यों को कोरोना टेस्ट (COVID-19 Test) करना होगी, तभी प्रवेश दिया जाएगा.

  • Share this:
रांची. झारखंड विधानसभा (Jharkhand Assembly) का मानसून सत्र 18 से 22 सितंबर 2020 तक होगा. इस दौरान सदन की कार्यवाही में भाग लेने के लिए कोरोना टेस्ट (COVID-19 Test) कराकर ही प्रवेश करने की अनुमति होगी. मानसून सत्र को लेकर विधानसभा सचिव महेंद्र प्रसाद ने मंगलवार को सभा सचिवालय के वरीय पदाधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक में सत्र की तैयारियों के साथ-साथ कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर एहतियाती कदम पर विस्तृत चर्चा हुई. झारखंड विधान सभा द्वारा सभी सदस्यों सहित राज्य मंत्रिमंडल के सदस्यों से यह अपेक्षा की गई  है कि, वे अपना कोविड-19 की जांच सत्र आरंभ होने की तिथि से कम से कम 72 घंटा पूर्व करा लें.

विधानसभा के प्रवेश द्वार पर सैनिटाइजेशन की व्यवस्था होगी. फेस कवर, मास्क,फेस शिल्ड, हैंड ग्लब्स उपलब्ध कराए जाएंगे जिनका प्रयोग सभा सचिवालय में प्रवेश करते समय करना होगा. सत्र अवधि में अपने निजी स्टाफ को विधानसभा के परिसर में लेकर नहीं आने को विधायकों से कहा गया है. अगर कोई विधायक कोरोना संक्रमित हो अथवा संक्रमण से संदिग्ध हो तो वे विधानसभा की कार्यवाही में भाग नहीं लेंगे.

टेस्टिंग होगी अनिवार्य



साथ ही झारखंड विधानसभा कार्य संचालन नियमावली के नियमों के आलोक में किन्हीं अन्य सदस्यों को अपने विधायी कार्यों आदि के लिए प्राधिकृत करेंगे. इसके लिए उन्हें इसकी सूचना सभा सचिवालय को 24 घंटा पूर्व देने होगा. सदन के अंदर कार्य करने वाले सभा सचिवालय के पदाधिकारी / कर्मी को भी 72 घंटे पहले कोविड-19 की जांच कराना होगा. सत्र के दौरान सभा परिसर में बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश वर्जित रहेगा. साथ ही सत्र के दौरान समाचार संकलन करने के लिए आने वाले मीडिया कर्मी को भी 72 घंटे पूर्व के कोरोना जांच‌ प्रमाण के साथ विधानसभा परिसर में प्रवेश करना होगा.
ये भी पढ़ें: MDS University Case: कुलपति एंड टीम 10 सितंबर तक रिमांड पर, मोबाइल और लैपटॉप जब्त

विधानसभा सचिव ने मानसून सत्र के दौरान राज्य सरकार के पदाधिकारी एवं कर्मी,पुलिसकर्मियों, दंड अधिकारियों जिनकी प्रतिनियुक्ति सत्र के दौरान विधानसभा में होगी, को भी कोविड-19 जांच कराने, मास्क, फेस शिल्ड का उपयोग करना सुनिश्चित कराने के लिए मुख्य सचिव एवं विभिन्न विभागों के सचिव से पत्र भेजा गया है. मानसून सत्र के दौरान सदन में विधायक सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखकर बैठेंगे इसके लिए तैयारियां की जा रही है. सामान्य दर्शक दीर्घा को मानसून सत्र में बंद रखने का निर्णय लिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज