Home /News /jharkhand /

कुत्ते का जूठा मिड-डे मील शिक्षकों ने बच्चों को परोसा

कुत्ते का जूठा मिड-डे मील शिक्षकों ने बच्चों को परोसा

पाकुड़ के राजपोखर विद्यालय में हंगामा मचा है। कक्षा शुरू होते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण आ पहुंचे और शिक्षकों को बंधक बना लिया। ग्रामीणों का आरोप है कि पिछले गुरुवार को कुत्ते ने मिड डे मील को जूठा कर दिया था। इसके बावजूद शिक्षकों ने उस जूठे भोजन को बच्चों के बीच परोस दिया था। ग्रामीणों के मुताबिक पिछले शुक्रवार को कुछ बच्चों ने अभिभावकों से इसकी शिकायत की थी। इसके बाद शनिवार को ग्रामीणों ने एक बैठक बुलाई और आंदोलन करने का फैसला लिया। दरअसल, सोमवार को सरहुल पर्व की छुट्टी के कारण स्कूल बंद था लिहाजा, मंगलवार को आक्रोशित ग्रामीण स्कूल में आ धमके।

पाकुड़ के राजपोखर विद्यालय में हंगामा मचा है। कक्षा शुरू होते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण आ पहुंचे और शिक्षकों को बंधक बना लिया। ग्रामीणों का आरोप है कि पिछले गुरुवार को कुत्ते ने मिड डे मील को जूठा कर दिया था। इसके बावजूद शिक्षकों ने उस जूठे भोजन को बच्चों के बीच परोस दिया था। ग्रामीणों के मुताबिक पिछले शुक्रवार को कुछ बच्चों ने अभिभावकों से इसकी शिकायत की थी। इसके बाद शनिवार को ग्रामीणों ने एक बैठक बुलाई और आंदोलन करने का फैसला लिया। दरअसल, सोमवार को सरहुल पर्व की छुट्टी के कारण स्कूल बंद था लिहाजा, मंगलवार को आक्रोशित ग्रामीण स्कूल में आ धमके।

पाकुड़ के राजपोखर विद्यालय में हंगामा मचा है। कक्षा शुरू होते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण आ पहुंचे और शिक्षकों को बंधक बना लिया। ग्रामीणों का आरोप है कि पिछले गुरुवार को कुत्ते ने मिड डे मील को जूठा कर दिया था। इसके बावजूद शिक्षकों ने उस जूठे भोजन को बच्चों के बीच परोस दिया था। ग्रामीणों के मुताबिक पिछले शुक्रवार को कुछ बच्चों ने अभिभावकों से इसकी शिकायत की थी। इसके बाद शनिवार को ग्रामीणों ने एक बैठक बुलाई और आंदोलन करने का फैसला लिया। दरअसल, सोमवार को सरहुल पर्व की छुट्टी के कारण स्कूल बंद था लिहाजा, मंगलवार को आक्रोशित ग्रामीण स्कूल में आ धमके।

अधिक पढ़ें ...
पाकुड़ के राजपोखर विद्यालय में हंगामा मचा है। कक्षा शुरू होते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण आ पहुंचे और शिक्षकों को बंधक बना लिया। ग्रामीणों का आरोप है कि पिछले गुरुवार को कुत्ते ने मिड डे मील को जूठा कर दिया था। इसके बावजूद शिक्षकों ने उस जूठे भोजन को बच्चों के बीच परोस दिया था। ग्रामीणों के मुताबिक पिछले शुक्रवार को कुछ बच्चों ने अभिभावकों से इसकी शिकायत की थी। इसके बाद शनिवार को ग्रामीणों ने एक बैठक बुलाई और आंदोलन करने का फैसला लिया। दरअसल, सोमवार को सरहुल पर्व की छुट्टी के कारण स्कूल बंद था लिहाजा, मंगलवार को आक्रोशित ग्रामीण स्कूल में आ धमके।

पाकुड़िया थाना क्षेत्र में इस खबर के फैलते ही पाकुड़ के डीसी के.के दास ने मामले को संज्ञान में लेते हुए जांच का आदेश दे दिया है। साथ ही ग्रामीणों को शांत कराने के लिए जिला शिक्षा पदाधिकारी अरुण कुमार को भेजा है।

दरअसल, मिड डे मील में कभी छिपकली तो कभी कीड़ा होने की खबर अक्सर आती रही हैं। लेकिन कुत्ते द्वारा भोजन को जूठा करने का मामला बेहद गंभीर है। यह सही कि सुदूर ग्रामीण इलाकों के स्कूलों में सुरक्षा पर कोई ध्यान नहीं दिया जाता है। ज्यादातर ग्रामीण स्कूलों की अपनी चहारदिवारी नहीं होती है।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर