मंत्री बोले- धारा 370 हटने पर मर्माहत थे वीसी, इसलिए राष्ट्रवादी छात्रों ने किया विरोध

विनोबा भावे विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ रमेश शरण की कार पर एबीवीपी के छात्रों ने वीसी गो बैक और आतंकवादी लिख दिये.

Upendra Kumar
Updated: August 27, 2019, 12:31 PM IST
मंत्री बोले- धारा 370 हटने पर मर्माहत थे वीसी, इसलिए राष्ट्रवादी छात्रों ने किया विरोध
मंत्री सीपी सिंह ने एबीवीपी के सदस्यों का बचाव करते हुए वीसी से माफी की मांग की
Upendra Kumar
Upendra Kumar
Updated: August 27, 2019, 12:31 PM IST
विनोबा भावे विश्वविद्यालय (Vinoba Bhave University) के कुलपति डॉ रमेश शरण (Dr Ramesh Sharan) की कार पर आतंकवादी लिखे जाने का मामला सियासी रंग लेता जा रहा है. मंत्री सीपी सिंह (Minister CP Singh) ने एबीवीपी (ABVP) के छात्रों का बचाव करते हुए कुलपति से माफी मांगने की मांग की है. वहीं जेएमएम ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए मंत्री के बयान की निंदा की है. जेएमएम (JMM) की माने तो बीजेपी से वैचारिक मतभेद रखने वालों को आतंकवादी तक बता दिया जाता है. उन्हें प्रताड़ना भी झेलनी पड़ती है.

घटना पर सियासत शुरू 

मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि धारा 370 हटने पर विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के दौरान कुलपति मर्माहत दिखे. सार्वजनिक रूप से ऐसा शो नहीं करना चाहिए. एबीवीपी के छात्र राष्ट्रवादी विचारधारा के हैं. ऐसे में देश के खिलाफ खड़े होने वालों का विरोध होगा ही. कुलपति इसी के शिकार हो रहे हैं.

वहीं जेएमएम महासचिव विनोद पांडेय ने कहा कि यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. इस घटना से पता चलता है कि सरकार के नियंत्रण में कुछ भी नहीं है. देश में सरकार और बीजेपी से वैचारिक मतभेद रखने वाले आतंकवादी भी हो जाएंगे और उन्हें प्रताड़ना भी झेलनी होगी. मंत्री सीपी सिंह को अपने बयान पर माफी मांगनी चाहिए.

हालांकि वीसी रमेश शरण ने इस घटना को छात्रों को छोटा प्रदर्शन बताकर कुछ भी प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया.

abvp
एबीवीपी के छात्रों ने वीसी की कार पर लिखा आतंकवादी


कुलपति की कार पर लिखा आतंकवादी
Loading...

सोमवार को विनोबा भावे विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ रमेश शरण को रांची यूनिवर्सिटी में एबीवीपी के छात्रों ने करीब एक घंटे तक बंधक बनाकर रखा. इस दौरान छात्रों ने जमकर प्रदर्शन भी किया. इस दौरान एबीवीपी के छात्रों ने रमेश शरण की कार के नंबर प्लेट पर कालिख पोत दी. और बोनट पर वीसी गो बैक और आतंकवादी तक लिख दिये. कुलपति को काला झंडा भी दिखाया गया.

पुलिस ने बल प्रयोग कर प्रदर्शनकारियों को हटाया

कुलपति डॉ रमेश शरण रांची यूनिवर्सिटी के पीजी अर्थशास्त्र विभाग में वीमेंस स्टडी सेंटर की बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे थे. इसकी भनक एबीवीपी के सदस्यों को लग गई. जिसके बाद एबीवीपी के सदस्यों ने विभाग के गेट के पास पहुंचकर जमकर प्रदर्शन किया. रांची यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ रमेश पांडेय ने उन्हें समझाने की भी कोशिश की, लेकिन प्रदर्शनकारी नहीं माने. बाद में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को मौके से हटाया.

दीक्षांत समारोह बीच में रोकने को लेकर विरोध

दरअसल एबीवीपी के सदस्यों की आपत्ति पिछले दिनों विनोबा भावे यूनिवर्सिटी में चल रहे दीक्षांत समारोह को बीच में रोकने को लेकर है. सदस्यों का आरोप है कि जिस वक्त यह आयोजन चल रहा था, उसी वक्त संसद ने कश्मीर से धारा 370 हटाने को मंजूरी दी थी. आरोप के मुताबिक केन्द्र के इस फैसले के विरोध में कुलपति ने समारोह को बीच में रोक दिया.

ये भी पढ़ें- विनोबा भावे विवि के कुलपति की कार पर ABVP के सदस्यों ने लिखा आतंकवादी

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 27, 2019, 12:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...