Home /News /jharkhand /

बच्चा बेचने का मामला: मिशनरीज ऑफ चैरिटी को किया जा रहा है टारगेट- कैथोलिक बिशप कान्फ्रेंस

बच्चा बेचने का मामला: मिशनरीज ऑफ चैरिटी को किया जा रहा है टारगेट- कैथोलिक बिशप कान्फ्रेंस

थियोडोर मासकैरेंहस, जेनरल सेक्रेटरी, कैथोलिक बिशप कांफ्रेंस ऑफ इंडिया

थियोडोर मासकैरेंहस, जेनरल सेक्रेटरी, कैथोलिक बिशप कांफ्रेंस ऑफ इंडिया

मासकैरेंहास के मुताबिक दस दिन पहले बाल कल्याण समिति के द्वारा निर्मल हृदय को काम के लिए प्रशंसा पत्र सौंपा गया और दस दिन बाद छापेमारी की गई

    रांची में मिशनरीज ऑफ चैरिटी के निर्मल हृदय से बच्चा बेचे जाने के मामले में रोज नये-नये खुलासे हो रहे हैं. इस बीच इस सिलसिले में सीबीआई जांच के आग्रह को लेकर कैथोलिक बिशप कान्फ्रेंस ऑफ इंडिया ने नाराजगी जताई है. संस्था के जेनरल सेक्रेटरी का कहना है कि ईसाई समुदाय को जानबूझकर परेशान करने की कोशिश हो रही है.

    थियोडोर मासकैरेंहास ने कहा कि खूंटी गैंगरेप की घटना पर सीबीआई जांच होनी चाहिए, जबकि मिशनरीज ऑफ चैरिटी को टारगेट किया जा रहा है. क्या सरकार चुन-चुन कर काम करेगी? बतौर मासकैरेंहास मिशनरीज ऑफ चैरिटी साल 1959 से सूबे में लोगों की सेवा कर रही है और आज बच्चा बेचकर पैसे लेने का आरोप लगाया जा रहा है.

    मासकैरेंहास के मुताबिक दस दिन पहले बाल कल्याण समिति के द्वारा निर्मल हृदय को काम के लिए प्रशंसा पत्र सौंपा गया और दस दिन बाद छापेमारी की गई. ऐसे में यहां न्याय कहां है. क्या मदर टेरेसा के सिस्टर के पीछे पड़ना उचित है? उन्होंने कहा कि जब मामला रांची के निर्मल हृदय से जुड़ा है, तो फिर गुमला, गिरिडीह और जमशेदपुर में छानबीन क्यों हो रही है?

    बता दें कि रांची स्थित मिशनरीज ऑफ चैरिटी के निर्मल हृदय से बच्चे बेचने का मामला सामने आने के बाद पुलिस ने संस्था से जुड़ीं एक सिस्टर और एक स्टाफ को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने अबतक तीन बेचे गये बच्चों को बरामद कर लिया है. जबकि सूबे के डीजीपी ने इस सिलसिले में सरकार को पत्र लिखकर सीबीआई जांच का आग्रह किया है.

    (भुवन किशोर की रिपोर्ट)

     

     

    Tags: Ranchi news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर