बिजली की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए सीएम से गुहार लगा रहे विधायक

दोनों विधायक विरंची नारायण और राज सिन्हा सीएम रघुवर दास से चिरौरी कर रहे हैं कि वे उनके इलाकों में बिजली की सप्लाई सुचारू करवा दें.

Ajay Lal | News18 Jharkhand
Updated: May 29, 2019, 11:17 PM IST
बिजली की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए सीएम से गुहार लगा रहे विधायक
अपने इलाकों में बिजली को लेकर चिंतित हैैं बोकारो और धनबाद के विधायक.
Ajay Lal
Ajay Lal | News18 Jharkhand
Updated: May 29, 2019, 11:17 PM IST
बोकारो से भाजपा विधायक विरंची नारायण ने लोकसभा चुनाव में जमकर पसीना बहाया. लिहाजा अपने क्षेत्र में भाजपा को जमकर वोट दिलवाया. चन्द्र प्रकाश चौधरी और पीएन सिंह दोनों चुनाव जीत गए. लेकिन अब विरंची नारायण को विधानसभा चुनाव का डर सता रहा है. बिजली गायब है और जनता बिजली के लिए परेशान कर रही है. परेशान ही नहीं कर रही बल्कि आधी रात को पब्लिक फोन कर देती है. आप सो रहे हैं और मेरे यहां चार घंटे से बिजली कटी है. विधायकजी को जवाब नहीं सूझता है. कुछ ऐसा ही हाल धनबाद से भाजपा विधायक राज सिन्हा का भी है. पिछले चुनाव में राज सिन्हा बोलते रहे कि धनबाद को पावर हब बनाएंगे. लेकिन 24 घंटे के दिन रात में 12 घंटे बिजली गोल रहती है. राज सिन्हा को भी विधानसभा चुनाव में हार का भय सता रहा है. लिहाजा, दोनों विधायक सीएम रघुवर दास से चिरौरी कर रहे हैं कि उनके इलाकों में बिजली की सप्लाई सुनिश्चित करवा दें.

झारखंड में मई-जून में चाहिए 2300 मेगावट बिजली

झारखंड में मई - जून में 2300 मेगावाट बिजली की जरूरत पड़ती है. लेकिन सूबे के पास अपना उत्पादन महज 350 मेगावाट का है. सेंट्रल पूल और अन्य माध्यम से सरकार बिजली की व्यवस्था तो करती है, लेकिन जर्जर वितरण व्यवस्था आड़े आ जाता है. सूबे के मंत्री और दिल्ली के कई बैठकों में बतौर बिजली मंत्री शिरकत करने वाले मंत्री सीपी सिंह बेशक मंत्री हैं. लेकिन उनकी भी पीड़ा विधायकों से इतर नहीं है. वे बिजली व्यवस्था का ठीकरा बिजली वितरण के एमडी राहुल पुरवार पर फोड़ते हैं. पुरवार चार साल से बिजली वितरण के एमडी बने हुए हैं. बिजली सुधरने की बजाय और गर्त में जा रही है.

सवाल ये नहीं कि सूबे में बिजली की समस्या है. सवाल ये है कि बिजली की इस समस्या पर काबू पाने के लिए कौन सा वक्त निर्धारित है. क्या यह मान लें कि 2022 तक राज्य में बिजली संकट यूं ही लोगों को परेशान करता रहेगा. ऐसा इसलिए कि 2022 तक झारखंड सिंगापुर बनने वाला है.

ये भी पढ़ें - भीषण गर्मी में लंबे पावर कट से रांचीवासी परेशान, सीएम बोले- मात्र दो घंटे सुबह में कटेगी बिजली

ये भी पढ़ें - हारने के बाद हेमलाल बोले- राजमहल में सामाजिक समीकरण भाजपा के पक्ष में नहीं

ये भी पढ़ें - गांवों में शहर जैसी सुविधा देना हमारी सरकार का लक्ष्य: सीएम
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 29, 2019, 11:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...