Assembly Banner 2021

रांची में मॉब लिंचिंग, ट्रक चोरी के आरोपी युवक को रातभर पीटा, सुबह अस्पताल में मौत

मॉब लिंचिंग की घटना के बाद स्थानीय लोगों ने कोतवाली थाने का घेराव कर हंगामा किया

मॉब लिंचिंग की घटना के बाद स्थानीय लोगों ने कोतवाली थाने का घेराव कर हंगामा किया

Mob Lynching in Ranchi: परिजनों का आरोप है कि घायल अवस्था में सचिन को थाने लाया गया. थाने की हाजत में ही उसकी मौत हो गई. हालांकि पुलिस का कहना है कि इलाज के दौरान उसकी मौत हुई है.

  • Share this:
रांची. झारखंड की राजधानी रांची (Ranchi) में ट्रक की चोरी के आरोप में एक युवक को पूरी रात बांध कर पीटा गया. पिटाई से सोमवार सुबह आरोपी युवक की मौत हो गई. मौत की खबर मिलने के बाद आक्रोशित लोगों ने रांची के कोतवाली थाने का घेराव किया. इस वारदात ने मॉब लिंचिंग (Mob Lynching) की पुरानी घटना को राज्य में फिर से ताजा कर दिया है.

मृतक सचिन कुमार नवाटोली भुताहा तालाब के पास का रहने वाला था. बताया गया कि रांची के अपर बाज़ार में 407 ट्रक रात में खड़ा था, जिसकी चोरी हो गई. इस मामले में सचिन का नाम सामने आया. इससे आक्रोशित होकर अपर बाज़ार में रहने वाले मोटिया मजदूरों ने कानून को हाथों में लेते हुए सचिन की रात में बांधकर जमकर पिटाई कर दी. बाद में सचिन को बचाकर इलाज के अस्पताल ले जाया गया, जहां सचिन की सोमवार सुबह मौत हो गई.

सचिन की मौत की खबर सुनते ही लोगों का आक्रोश देखने को मिला और बड़ी संख्या में स्थानीय लोग और परिजन कोतवाली थाने पहुंचकर थाने का घेराव किया. लोग इस मामले में शामिल आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते नज़र आए.



परिजनों का आरोप है कि घायल अवस्था में सचिन को थाने लाया गया. थाने की हाजत में ही उसकी मौत हो गई. हालांकि पुलिस का कहना है कि इलाज के दौरान उसकी मौत हुई है.
परिजनों का कहना है कि अगर सही समय पर पुलिस पहुंचती और कार्रवाई करती, तो सचिन की जान बच जाती. वही परिजनों ने दर्जनभर से ज्यादा मोटिया मजदूरों पर हत्या का आरोप मढ़ा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज