होम /न्यूज /झारखंड /लालू का कथित ऑडियो वायरल होते ही अंडरग्राउंड हुआ था सेवक इरफान, अब मोबाइल भी बंद

लालू का कथित ऑडियो वायरल होते ही अंडरग्राउंड हुआ था सेवक इरफान, अब मोबाइल भी बंद

लालू प्रसाद यादव का सेवक इरफान अंसारी अपने साथी के साथ अंडरग्राउंड हो गया है. (फाइल फोटो)

लालू प्रसाद यादव का सेवक इरफान अंसारी अपने साथी के साथ अंडरग्राउंड हो गया है. (फाइल फोटो)

बिहार (Bihar) के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) के ट्वीट के बाद लालू प्रसाद (Lalu Prasad Ya ...अधिक पढ़ें

रांची. बिहार में विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव से पहले आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव (Lalu Yadav) के जेल से बीजेपी विधायक को फोन करने और इसका कथित ऑडियो वायरल होने का मामला थमता नहीं दिख रहा है. इस मामले को लेकर बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने 24 नवंबर की रात में ट्वीट (Tweet) किया था, जिससे बिहार की राजनीति गर्मा गई थी. इसी ट्वीट के बाद से लालू प्रसाद का सेवक इरफान अंसारी अपने बेटे के साथ अंडरग्राउंड हो गया था. अब दोनों का मोबाइल भी नेटवर्क एरिया के पहुंच से बाहर बता रहा है. 24 नवंबर की रात से किसी ने उन्हें देखा नहीं है.

खुद को 'सन ऑफ लालू प्रसाद' कहने वाले इरफान अंसारी की पिछले दो दिनों से किसी को कोई जानकारी नहीं है. दोनों के मोबाइल नंबर नॉट रिचेबल बता रहे हैं. सुशील मोदी ने अपने ट्वीट में जिस फोन नंबर का जिक्र किया और जिस पर लालू प्रसाद और बिहार भाजपा विधायक ललन पासवान का कथित रूप से बातचीत हुई, वह नंबर सेवक इरफान अंसारी का ही था. इस बात की जानकारी सार्वजनिक होने के साथ ही इरफान अंसारी अंडरग्राउंड हो गए हैं.
चारा घोटालाः क्या लालू के लिए शुभ होगा शुक्रवार? थोड़ी देर में रांची हाईकोर्ट में जमानत पर सुनवाई

इरफान अंसारी के भाई और उनके पुत्र भले ही मीडिया से यह कहते रहे हों कि वह नहीं जानते कि इरफान कहां हैं, लेकिन आज जिस निश्चिंतता के साथ इरफान अंसारी का पुत्र लालू प्रसाद के केली बंगले से पेईंग वार्ड शिफ्टिंग में सहायता कर रहा था उससे साफ है कि इन लोगों को पता है कि वह कहां हैं ?

क्या कहते हैं झारखंड राजद के प्रदेश अध्यक्ष
झारखंड प्रदेश अध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने news18 को बताया कि उन्हें भी नहीं पता है कि इरफान अंसारी कहां हैं? और वह भी चिंतित हैं. इसलिए उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से उनकी जानकारी इकठ्ठा करने को कहा है इसके साथ ही अभय कुमार सिंह ने कहा कि पहले वह झारखंड प्रदेश राजद के प्रदेश सचिव थे और अभी  किसी पद पर नहीं हैं.

लालू यादव की जमानत पर सुनवाई पर टिकीं नजरें 
बिहार की NDA सरकार को गिराने की साजिश के आरोप से हो रही राजद परिवार ,लालू प्रसाद और झारखंड सरकार की किरकिरी के बीच अब सबकी नजर हाईकोर्ट में चारा घोटाला मामले में दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद की जमानत याचिका पर होने वाली सुनवाई पर टिकी है. सजा की अवधि की आधी से अधिक सजा काट लेने और खराब स्वास्थ्य के आधार पर दायर की गई जमानत याचिका पर अगर लालू प्रसाद को राहत मिल जाती है तो वह जेल से बाहर आ जाएंगे.

Tags: Bihar Jharkhand News, Bihar politics, Lalu Prasad Yadav

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें