सीएम रघुवर दास ने मुफीज से कहा- अब नौकरी नहीं करना, बल्कि मालिक बनना

News18 Jharkhand
Updated: August 19, 2019, 6:01 PM IST
सीएम रघुवर दास ने मुफीज से कहा- अब नौकरी नहीं करना, बल्कि मालिक बनना
सऊदी अरब से सुरक्षित वतन लौटे मुफीज ने सीएम रघुवर दास से की मुलाकात

सीएम रघुवर दास ने ट्विटर पर लिखा कि झारखण्ड के युवा राज्य के अनमोल धरोहर हैं. कहीं भी आपको कोई परेशानी आए तो जरुर बताएं.

  • Share this:
सऊदी अरब (Saudi Arabia) में तीन महीने तक बंधक (hostage) बने रहने के बाद सुरक्षित वतन लौटे मोहम्मद मुफीज ने रांची में मुख्यमंत्री रघुवर दास (CM raghuvar Das) से मुलाकात की. इस दौरान सीएम ने उन्हें अब बाहर नहीं जाने की सलाह दी. साथ ही ये भी कहा कि अब नौकरी नहीं करना, बल्कि खुद का मालिक बनना. सीएम ने अपना कारोबार खोलने के लिए मुफीज को लॉन दिलाने का भी भरोसा दिलाया.

सीएम ने ट्विटर पर लिखा कि मुफीज को चोरी के आरोप में सऊदी अरब में बंधक बना लिया गया था. सरकार की पहल पर वह सुरक्षित रांची वापस लौटे हैं. झारखण्ड के युवा राज्य के अनमोल धरोहर हैं. कहीं भी आपको कोई परेशानी आए तो जरुर बताएं.


Loading...

मुफीज ने कहा कि अब वह बाहर नहीं जाएंगे, बल्कि रांची में ही अपना कारोबार खोलेंगे. मेहनती लोगों के लिए अपना देश ही ठीक है.

कंपनी ने झूठे मुकदमे में फंसाया था

रांची के हिंदपीढ़ी के रहने वाले मुफीज अप्रैल 2017 में काम करने सऊदी अरब गया था. वह अपने मोहल्ले के मो. अली नामक शख्स के साथ वहां गया था. वहां एक साल काम करने के बाद कंपनी ने 12 अप्रैल 2019 को उस पर झूठा चोरी का मुकदमा दर्ज करा दिया और मुफीज को बंधक बना लिया.

मुफीज की बहन ने सीएम रघुवर दास को भाई की रिहाई के लिए गुहार लगाई थी. जिसके बाद सीएम के प्रयासों से मुफीज की वतन वापसी संभव हो पाई. सीएम ने इसके लिए रियाद स्थित भारतीय दूतावास और विदेश मंत्रालय के अधिकारियों को धन्यवाद दिया था.

इनपुट- उपेन्द्र कुमार

ये भी पढ़ें- 3 महीने से सऊदी अरब में बंधक बना मुफीज बकरीद पर लौटा घर

झारखंड में विस चुनाव से पहले बड़े पैमाने पर IAS अधिकारियों का तबादला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 5:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...