लाइव टीवी

हत्या के आरोपी JMM नेता ने थामा BJP का दामन, मंच पर चढ़कर पीड़ित परिजनों ने जताया विरोध

News18 Jharkhand
Updated: October 3, 2019, 5:43 PM IST
हत्या के आरोपी JMM नेता ने थामा BJP का दामन, मंच पर चढ़कर पीड़ित परिजनों ने जताया विरोध
वार्डन सुचित्रा मिश्रा हत्याकांड में शशिभूषण मेहता फिलहाल बेल पर बाहर हैं

परिजनों को शक है कि बीजेपी पांकी सीट से शशिभूषण मेहता को प्रत्याशी बना सकती है. अगर वह वहां से जीत जाते हैं, तो सत्ता का इस्तेमाल कर उन्हें परेशान कर सकते हैं.

  • Share this:
रांची. भारी शोर-शराबे के बीच जेएमएम (JMM) नेता शशिभूषण मेहता (Shashibhushan Mehta) बीजेपी में शामिल हो गये. प्रदेश बीजेपी (BJP) कार्यालय में सुचित्रा मिश्रा (Suchitra Mishra) के परिजनों के साथ उनके समर्थकों ने मारपीट की. दरअसल सुचित्रा मिश्रा के परिजन शशिभूषण मेहता के बीजेपी में शामिल होने का विरोध (Protest) करने पहुंचे थे. उनपर सुचित्रा मिश्रा की हत्या (Murder) करवाने का आरोप है. इस मामले में वह जेल (Jail) भी जा चुके हैं. फिलहाल बेल (Bail) पर बाहर हैं. शशिभूषण मेहता ऑक्सफोर्ड स्कूल के डायरेक्टर भी हैं. सुचित्रा मिश्रा इसी स्कूल की वार्डन थी. उनकी साल 2012 में हत्या कर दी गई थी.

पांकी से मिल सकता है टिकट

सुचित्रा मिश्रा के बेटे और परिजन महिला संगठन के साथ बीजेपी कार्यालय पहुंचकर शशिभूषण मेहता के शामिल होने का विरोध किया. परिजनों का कहना है कि बीजेपी पांकी सीट से शशिभूषण मेहता को प्रत्याशी बना सकती है. अगर वह वहां से जीत जाते हैं, तो सत्ता का इस्तेमाल कर उन्हें परेशान कर सकते हैं. परिजनों के मुताबिक धन- बल का इस्तेमाल कर शशिभूषण मेहता ने अबतक हत्या के मामले को उलझा रखा है. अगर पार्टी इस पर ध्यान नहीं देगी, तो रांची से दिल्ली तक इसका विरोध किया जाएगा.

विरोधी कर रहे साजिश 

प्रदेश बीजेपी उपाध्यक्ष आदित्य साहू ने कहा कि सुचित्रा मिश्रा के परिजनों ने इस सिलसिले में बुधवार को ही आवेदन दिया था. इस पर विचार किया जा रहा है. इसलिए विरोध करना जायज नहीं है. शशिभूषण मेहता के बीजेपी में शामिल होने से विरोधी घबरा गये हैं. इसलिए राजनीतिक साजिश कर रहे हैं.

प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ ने सफाई देते हुए कहा कि आरोपी बनने से कोई दोषी नहीं हो जाता. न्यायालय का फैसला आने के बाद ही किसी पर आरोप सिद्ध होता है. बतौर गिलुआ शशिभूषण मेहता के शामिल होने से पलामू में बीजेपी को मजबूती मिलेगी.

शशिभूषण मेहता ने विरोध को लेकर कोई भी प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया. उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि मामला कोर्ट में है, ऐसे में कुछ भी कहना उचित नहीं है. हालांकि उन्होंने मारपीट करने वालों को अपना कार्यकर्ता मानने से इनकार किया.हंगामे और मारपीट को लेकर सुचित्रा मिश्रा के परिजनों ने अरगोड़ा थाना में शशिभूषण मेहता और उनके समर्थकों के खिलाफ शिकायत दर्ज करा कराया है. उधर कांग्रेस ने इस मसले को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा. बता दें कि शशिभूषण मेहता पिछली बार जेएमएम के टिकट पर पांकी से विधानसभा चुनाव लड़े, लेकिन हार गये थे.

ये भी पढ़ें- पतरातू लेक रिसॉर्ट का सीएम रघुवर ने किया उद्घाटन, दुर्गापूजा तक फ्री में एंट्री

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 3, 2019, 2:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर