Home /News /jharkhand /

झारखंड में 'नमाज' पॉलिटिक्स: हेमंत सोरेन सरकार की 'तुष्टिकरण राजनीति' के खिलाफ विधानसभा घेरेगी भाजपा

झारखंड में 'नमाज' पॉलिटिक्स: हेमंत सोरेन सरकार की 'तुष्टिकरण राजनीति' के खिलाफ विधानसभा घेरेगी भाजपा

झारखंड विधान सभा का भाजपा आज घेराव करेगी.

झारखंड विधान सभा का भाजपा आज घेराव करेगी.

Namaz in Jharkhand Assembly: झारखंड सरकार ने अपने एक नए आदेश में विधानसभा भवन में कमरा संख्या टीडब्ल्यू- 348 को नमाज कक्ष बनाया है. हेमंत सोरेन सरकार के इस फैसले के खिलाफ भाजपा खुलकर उतर चुकी है. इसी क्रम में आज विधानसभा घेराव का कार्यक्रम है.

अधिक पढ़ें ...

रांची. झारखंड की हेमंत सरकार (Hemant Soren Government) पर तुष्टिकरण की राजनीति का आरोप लगाते हुए भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने सरकार के खिलाफ आंदोलन का बिगुल फूंक दिया है. विधानसभा में नमाज (Namaz in Jharkhand Assembly) के लिए कमरा आवंटित किए जाने के खिलाफ सड़क से लेकर सदन तक विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है. इसी क्रम में आज भाजपा सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करेगी. राज्य के सभी जिलों में पार्टी कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ( CM Hemant Soren) और विधानसभा अध्यक्ष रविन्द्र नाथ महतो (Speaker Ravindra Nath Mahto) का पुतला फूंका जाएगा.

भाजपा विधायक विधानसभा के भीतर इस मसले को उठा रहे हैं, तो पार्टी कार्यकर्ता सभी जिलों में धरना व प्रदर्शन भी कर रहे हैं. बुधवार  को भाजपा की ओर से 27 सांगठनिक जिला मुख्यालयों में मुख्यमंत्री व विधानसभा अध्यक्ष का पुतला दहन किया गया जाएगा. विधानसभा घेराव कार्यक्रम में स्थानीय सांसद के साथ-साथ अन्नपूर्णा देवी, पूर्व मुख्यमंत्री रघुबर दास (Raghubar Das), नेता प्रतिपक्ष बाबूलाल मरांडी (Babulal Marandi), सांसद निशिकांत दुबे, संजय सेठ, बीडी राम समेत हजारों की संख्या में पार्टी कार्यकर्ता व पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे.

इस बीच पूर्व मुख्यमंंत्री रघुवर दास ने कहा कि झारखंड में हेमंत सरकार विधानसभा को भी धर्म का अड्डा बना रही है. कोई भी सरकार पंथ निरपेक्ष होने की शपथ लेती है, लेकिन इस सरकार ने सांप्रदायिक निर्णय लेकर लोकतंत्र को कलंकित कर दिया है. विधानसभा स्पीकर को लिखी गयी अपनी चिट्ठी में रघुबर दास ने कहा है कि लोकतंत्र के मंदिर विधानसभा में नमाज के लिए अलग कमरा आवंटन का निर्णय ठीक नहीं. सरकार को इस फैसले को वापस लेना चाहिए.

ये भी पढ़ें- झारखंड विधानसभा में नमाज कक्ष का मामला पहुंचा हाईकोर्ट, याचिकाकर्ता ने कहा- स्पीकर को कमरा आवंटित करने का अधिकार नहीं

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश ने कहा कि राज्य सरकार विकास के मुद्दे छोड़ टकराव के मुद्दों पर आगे बढ़ रही है. राज्य सरकार की प्राथमिकताओं में बेरोजगारी, किसानों की ऋण माफी, बुनियादी सुविधाओं का विकास, महिलाओं की सुरक्षा, गिरती कानून व्यवस्था मुद्दों में शामिल नही है. बल्कि यह सरकार केवल तुष्टिकरण के माध्यम से साम्प्रदायिक उन्माद खड़ा करना चाहती है. राज्य में साम्प्रदायिक सद्भाव बिगाड़ कर टकराव बढ़ाना चाहती है. जनता को उकसा कर लड़ाना चाहती है.
उन्होंने कहा कि सरकार के इशारे पर विधानसभा अध्यक्ष ने विधानसभा भवन में नमाज कक्ष का लिखित आवंटन करके अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक निर्णय लिया है. इस निर्णय ने अन्य समुदाय के लोगों को आहत किया है. उन्होंने कहा कि में विपक्षी विधायक लगातार स्पीकर से निर्णय को वापस लेने की मांग कर रहे हैं लेकिन, राज्य सरकार के इशारे पर विधानसभा अध्यक्ष अपने निर्णय पर अडिग हैं. स्पीकर का आसन निष्पक्ष होना चाहिये. जन भावनाओं के अनुरूप होना चाहिए.
ये भी पढ़ें-  झारखंड विधानसभा में नमाज के लिए कमरा: VHP का ऐलान- फैसला पलटने तक चुप नहीं बैठेंगे

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और झामुमो दोनों दलों की नीयत में खोट है. दोनों दल साम्प्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ना चाहते हैं. दीपक प्रकाश ने कहा कि नियोजन नीति में उर्दू को शामिल रखने और हिंदी, संस्कृत को हटाने पर भी मौन रही. कोरोना काल मे भी इस सरकार ने तुष्टिकरण को बढ़ावा दिया. इसलिए इन निर्णयों से स्पष्ट है कि यह सरकार युवाओं के सवाल पर, किसानों के सवाल पर, महिलाओं के सवाल पर, विधि व्यवस्था के सवाल पर मौन साध लेती है, लेकिन तुष्टिकरण के मुद्दे पर मुखर हो जाती है.

भाजपा नेता ने कहा कि आज पूरे प्रदेश से हजारों कार्यकर्ता रांची पहुंचकर झारखंड विधानसभा का घेराव करेंगे. उन्होंने सरकार से टकराव की भाषा छोड़ सद्भाव एवं सहमति की भाषा बोलने का अनुरोध किया.  भाजपा कार्यकर्ता जनमुद्दों पर हरसंभव संघर्ष के लिये कमर कस चुके हैं.

आपके शहर से (रांची)

Tags: BJP, CM Hemant Soren, Jharkhand Government, JMM, Raghubar Das

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर