Home /News /jharkhand /

NH in Jharkhand: झारखंड में 21 वर्षों में दोगुना हुआ नेशनल हाइवे का दायरा, हर साल 84 KM सड़का का निर्माण

NH in Jharkhand: झारखंड में 21 वर्षों में दोगुना हुआ नेशनल हाइवे का दायरा, हर साल 84 KM सड़का का निर्माण

National Highway Construction in Jharkhand: झारखंड के गठन के बाद से अब तक प्रदेश में नेशनल हाइवे प्रोजेक्‍ट के तहत 1761 किलोमीटर सड़क का निर्माण हो चुका है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

National Highway Construction in Jharkhand: झारखंड के गठन के बाद से अब तक प्रदेश में नेशनल हाइवे प्रोजेक्‍ट के तहत 1761 किलोमीटर सड़क का निर्माण हो चुका है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Jharkhand News: नेशनल हाइवे प्रोजेक्‍ट के तहत झारखंड में वर्ष 2000 के बाद से प्रतिवर्ष औसतन तकरीबन 84 किलोमीटर सड़क का निर्माण हुआ. पिछले कुछ वर्षों में एनएच के तहत सड़क निर्माण की रफ्तार बढ़ी है. कई प्रोजेक्‍ट पर देरी से भी काम चल रहा है.

अधिक पढ़ें ...

    रांची. किसी भी देश या प्रदेश की तरक्‍की का प्रमुख पैमाना ऑल वेदर रोड का दायरा होता है. जिस राज्‍य में पक्‍की सड़कों का फैलाव जितना अधिक होता है, वहां विकास की संभावनाएं भी उतनी ही ज्‍यादा होती हैं. झारखंड का गठन वर्ष 2000 में हुआ था. उस वक्‍त प्रदेश में नेशनल हाइवे (National Highway) का दायरा 1606 किलोमीटर था. प्राकृतिक संसाधनों से भरपूर झारखंड में अब नेशनल हाइवे का दायरा 3367 किलोमीटर हो चुका है. इसका मतलब यह हुआ कि प्रदेश के अस्तित्‍व में आने के बाद से NH निर्माण दोगुने से भी ज्‍यादा हुआ है. इसका प्रभाव झारखंड के विकास पर भी दिखता है. जंगल और पहाड़ से भरपूर झारखंड में आवागमन पहले के मुकाबले काफी बेहतर हुआ है.

    एक रिपोर्ट के अनुसार, बिहार से अलग होकर साल 2000 में झारखंड एक अलग प्रदेश के तौर पर अस्तित्‍व में आया था. उस वक्‍त झारखंड में नेशनल हाइवे का कुल दायरा 1606 किलोमीटर था. पांच साल में यह बढ़कर 1805 किलोमीटर तक पहुंच गया था. इसके बाद 6 वर्षों तक यथास्थिति बनी रही. इसके बाद राज्‍य में नेशनल हाइवे निर्माण की रफ्तार ने जोर पकड़ा. इसी का नतीजा रहा कि साल 2019 में यह 2968 किलोमीटर तक पहुंच गया. फिलहाल प्रदेश में नेशनल हाइवे का दायरा 3367 किलोमीटर है. कई प्रोजेक्‍ट पर काम चल रहा है तो कई अभी लंबित हैं.

    सालाना 84 किलोमीटर सड़क का निर्माण
    NH प्रोजेक्‍ट के तहत झारखंड में औसतन सालाना 83.85 किलोमीटर सड़क का निर्माण हुआ. प्रदेश में नेशनल हाइवे के फैलाव के साथ ही विकास का पहिया भी घूमता गया. आवागमन की सुविधा बढ़ने से आर्थिक गतिविधियों को बल मिला और रोजगार के अवसर भी सृजित हुए. राष्‍ट्रीय उच्‍च मार्ग के निर्माण से माल ढुलाई में पहले के मुकाबले कम समय लगने लगा और इस तरह से प्रदेश में औद्योगीकरण को भी बढ़ावा मिला.

    पोस्‍टमॉर्टम के बाद 10 घंटे तक आंगन में पड़ा रहा बेटे का शव, मां-बाप मांगते रहे लैपटॉप, फ्रिज और वॉशिंग मशीन

     कई प्रोजेक्‍ट को पूरा करने में देरी
    झारखंड में नेशनल हाइवे 18 प्रोजेक्‍ट पर देरी से काम चल रहा है. इन प्रोजेक्‍ट्स के तहत 508 किलोमीटर से ज्‍यादा लंबी सड़कों का निर्माण किया जाना है. इन परियोजनाओं के लिए 3607.5 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं. प्रदेश में नेशनल हाइवे का एक प्रोजेक्ट पिछले 5 सालों से लटका है. इसका निर्माण धनबाद जिले के बरवाअड्डा से शुरू होना है और यह पश्चिम बंगाल के पश्चिम वर्धमान तक बनेगा. इसकी लंबाई 122.88 किलोमीटर होगी और इस प्रोजेक्‍ट पर 1665 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है.

    Tags: Jharkhand news, National Highways Authority of India

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर