Home /News /jharkhand /

जंगलों में अंग्रेजी बोलना सीख रहे नक्सली

जंगलों में अंग्रेजी बोलना सीख रहे नक्सली

 नक्सली अपने को ऑल इंडिया कैडेर मानते हैं. इसलिए वे अपने लिए एक ऐसी भाषा चाहते हैं जो सभी जगह समझी जा सके. बगैर इन भाषाओं को अच्छी तरह जाने उन्हें संगठन में बड़े पद नहीं मिलते हैं.

नक्सली अपने को ऑल इंडिया कैडेर मानते हैं. इसलिए वे अपने लिए एक ऐसी भाषा चाहते हैं जो सभी जगह समझी जा सके. बगैर इन भाषाओं को अच्छी तरह जाने उन्हें संगठन में बड़े पद नहीं मिलते हैं.

नक्सली अपने को ऑल इंडिया कैडेर मानते हैं. इसलिए वे अपने लिए एक ऐसी भाषा चाहते हैं जो सभी जगह समझी जा सके. बगैर इन भाषाओं को अच्छी तरह जाने उन्हें संगठन में बड़े पद नहीं मिलते हैं.

झारखंड के जंगलों में लगने वाली नक्सली की कॉन्‍वेंट क्लास में नक्सली हिंदी और अंग्रेजी सीख रहे हैं.

उन्हें कम्प्यूटर और तकनीकी ज्ञान की भी शिक्षा दी जा रही है. इस बात का खुलासा पिछले दिनों बुंडू में हुए नक्सली मुठभेड़ के बाद घटना स्थल और नक्सलियों के पिट्ठू से बरामद सामानों से हुआ.

इन सामानों में भारी मात्रा में नक्सली साहित्य के साथ साथ हिंदी अंग्रेजी सीखने की किताबें भी बरामद हुईं. राज्य के वरीय पुलिस पदाधिकारियों की माने तो नक्सली अपने विचारधारा के प्रचार प्रसार के लिए ऐसा करते हैं.

छापेमारी में मिलती अंग्रेजी की बेसिक किताबें

झारखंड पुलिस के एडीजी सह प्रवक्ता एसएन प्रधान ने भी इसकी पुष्टि की और कहा की कई बार छापेमारी और सर्च ऑपरेशन में हिंदी, अंग्रेजी की बेसिक किताबें मिलती हैं. कई बार संगठन की रणनीतियों और विचारों से जुड़ी किताबें भी बरामद होती हैं.

दरअसल, नक्सली अपने को ऑल इंडिया कैडेर मानते हैं. इसलिए वे अपने लिए एक ऐसी भाषा चाहते हैं जो सभी जगह समझी जा सके. बगैर इन भाषाओं को अच्छी तरह जाने उन्हें संगठन में बड़े पद नहीं मिलते हैं.

दूसरे राज्य में सहूलियत के लिए कर रहे पढ़ाई

सेवानिवृत डीएसपी आरएन सिंह बताते हैं कि माओवादी संगठन की स्थापना के पीछे भी कई पढ़े लिखे लोगों का हाथ रहा है और वे ना सिर्फ माओवाद के सिद्धांत विचारधारा से जानकार रहे हैं बल्कि बौद्धिक लड़ाई भी लड़ रहे हैं.

ऐसे में विभिन्न राज्यों में काम करने के दौरान उन्हें भाषा की समस्या का सामना नहीं करना पड़े और तकनीकी के आधुनिक ज्ञान से वे अपडेट रहे इस कारण वे अंग्रेजी सीखते हैं.

Tags: Jharkhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर