बंगाल चुनाव में झारखंड के नक्सली नहीं डाल पाएंगे खलल, सीमा सीलकर चलाया जाएगा वाहन चेकिंग अभियान

बंगाल चुनाव को देखते हुए झारखंड पुलिस सतर्क हो गई है.

बंगाल चुनाव को देखते हुए झारखंड पुलिस सतर्क हो गई है.

रांची रेंज के डीआईजी पंकज कंबोज ने बताया कि बंगाल चुनाव में झारखंड के माओवादी खलल ना डाल पाए, इसको लेकर दोनों राज्यों की पुलिस में सीमावर्ती इलाकों में संयुक्त अभियान चलाने पर सहमति बनी है.

  • Share this:
रांची. पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव (Bengal Election) को लेकर झारखंड पुलिस (Jharkhand Police) भी पूरी तरह सतर्क है. बंगाल में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर झारखंड की सीमाओं की सुरक्षा चाक चौबंद करने के साथ सीमाओं को सील करने के लिए झारखंड पुलिस की एक अहम बैठक रविवार को हुई. इसमें बंगाल से लगने वाली सीमाओं के जिले के एसपी शामिल हुए. डीजीपी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ये बैठक की और रांची, धनबाद, जामताड़ा, पाकुड़, साहेबगंज, सरायकेला के एसपी को कई निर्देश दिये.

बैठक के बाद रांची रेंज के डीआईजी पंकज कंबोज ने बताया कि बंगाल चुनाव में झारखंड के माओवादी खलल ना डाले, इसको लेकर दोनों राज्यों की पुलिस में सीमावर्ती इलाकों में संयुक्त अभियान चलाने पर सहमति बनी है. बैठक में बंगाल से लगने वाली झारखंड की सीमाओं को सील कर चेकपोस्ट बनाने का निर्देश संबंधित जिलों के एसपी को दिया गया है. साथ ही सीमा पर वाहन चेकिंग अभियान भी चलाया जाएगा.

अपराधियों और नक्सलियों पर नजर

झारखंड के रास्ते चुनाव को प्रभावित करने के मकसद से बंगाल पैसे, शराब ना भेजा जा सके, इसके लिए भी सीमा पर चेकनाका लगाकर वाहनों की जांच का निर्देश डीजीपी ने दिया है. झारखंड पुलिस ने वैसे बड़े माओवादियों की भी सूची तैयार की है, जो सीमावर्ती इलाकों में सक्रिय हैं. इसके साथ ही अपराधियों की भी लिस्ट तैयार कर उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जाएगी, ताकि बंगाल से अपराधी या नक्सली बंगाल जाकर चुनाव में खलल ना डाल सकें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज