होम /न्यूज /झारखंड /NCPCR प्रमुख ने कहा- दुमका कांड में भारत के बाहर से सक्रिय तत्त्वों का हाथ होने से इनकार नहीं

NCPCR प्रमुख ने कहा- दुमका कांड में भारत के बाहर से सक्रिय तत्त्वों का हाथ होने से इनकार नहीं

एनसीपीसीआर प्रमुख प्रियांक कानूनगो ने दुमका में पीड़ित परिजनों से मुलाकात की.

एनसीपीसीआर प्रमुख प्रियांक कानूनगो ने दुमका में पीड़ित परिजनों से मुलाकात की.

Competence:प्रियांक कानूनगो ने कहा कि बच्ची की मौत के बाद सोशल मीडिया पर पोस्ट को देखते हुए दुमका मामले में देश के बाहर ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

NCPCR को लोकल पुलिस की योग्यता पर संदेह, हाईलेवल एजेंसी से जांच की करेंगे सिफारिश.
कानूनगो बोले- दूसरी नाबालिग के मामले में राज्य सरकार जांच में बाधा डालने की कोशिश कर रही.

रांची/दुमका. राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) प्रमुख प्रियांक कानूनगो ने सोमवार को दावा किया कि दुमका में उस नाबालिग लड़की के मामले में भारत के बाहर से सक्रिय तत्त्वों का हाथ होने से इनकार नहीं किया जा सकता, जिसकी हत्या पेट्रोल डालकर आग लगाकर की गई थी. एनसीपीसीआर प्रमुख प्रियांक कानूनगो ने कहा कि वह एक उच्चस्तरीय एजेंसी द्वारा घटना की जांच की सिफारिश करेंगे, क्योंकि उन्हें लगता है कि स्थानीय पुलिस घटना की जांच नहीं कर पाएगी.

दुमका में दो किशोरियों की अस्वाभाविक मौतों की जांच के लिए एनसीपीसीआर टीम के साथ आए प्रियांक कानूनगो ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार दूसरी नाबालिग के मामले में ‘जांच में बाधा डालने की कोशिश’ कर रही है, जिसके साथ कथित तौर पर शादी का झांसा देकर बलात्कार किया गया था और बाद में एक पेड़ से लटका दिया गया था. बता दें कि दोनों मामलों में कुल 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है.

प्रियांक कानूनगो ने कहा कि बच्ची की मौत के बाद सोशल मीडिया पर पोस्ट को देखते हुए दुमका मामले में देश के बाहर से सक्रिय तत्त्वों का हाथ होने से इनकार नहीं किया जा सकता. यह बात प्रियांक कानूनगो ने उस किशोरी के परिजनों से मुलाकात के बाद कही, जिसकी झुलसने की वजह से मौत हो गई थी. उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि स्थानीय पुलिस इस (सोशल मीडिया पोस्ट) की जांच करने में सक्षम नहीं है, और एक उच्चस्तरीय एजेंसी द्वारा जांच की सिफारिश करेंगे.’

कानूनगो ने कहा कि एनसीपीसीआर की टीम को पीड़ित परिवार से पता चला कि पुलिस ने न तो परिवार के सभी सदस्यों के बयान दर्ज किए और न ही मृतक के सोशल मीडिया अकाउंट के बारे में जानकारी जुटाई. उन्होंने कहा, ‘जांच में खामियां हैं. पुलिस को आरोपी की पृष्ठभूमि के बारे में कोई जानकारी नहीं है. हमने पुलिस से इस बारे में पूछा है.’

बता दें कि मुख्य आरोपी की पहचान शाहरुख के रूप में हुई है. उसने 23 अगस्त को कथित तौर पर लड़की के कमरे की खिड़की के बाहर से उस पर पेट्रोल डाल दिया था जब वह सो रही थी और उसे आग लगा दी थी. किशोरी ने उसका प्रस्ताव ठुकरा दिया था. किशोरी ने झुलसने की वजह से 28 अगस्त को दम तोड़ दिया था. शाहरुख और उसे पेट्रोल की आपूर्ति करने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है.

(इनपुट: भाषा)

Tags: Dumka news, Jharkhand news, NCPCR

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें