64 करोड़ का ट्रॉमा सेंटर 4 दिन में टूटने लगा, निर्माण एजेंसी को नोटिस

14 जुलाई को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने 100 बेड वाले ट्रॉमा सेंटर का उद्घाटन किया था. यह ट्रॉमा सेंटर अभी काम करना शुरू नहीं किया है, लेकिन बाथरूम सहित कई जगहों पर रिसाव होने लगा है.

Upendra Kumar | News18 Jharkhand
Updated: July 18, 2019, 9:58 AM IST
64 करोड़ का ट्रॉमा सेंटर 4 दिन में टूटने लगा, निर्माण एजेंसी को नोटिस
14 जुलाई को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने 100 बेड वाले ट्रॉमा सेंटर का उद्घाटन किया था. यह ट्रॉमा सेंटर अभी काम करना शुरू नहीं किया है, लेकिन बाथरूम सहित कई जगहों पर रिसाव होने लगा है.
Upendra Kumar
Upendra Kumar | News18 Jharkhand
Updated: July 18, 2019, 9:58 AM IST
रांची के राजेन्द्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (रिम्स) में 64 करोड़ की लागत से नवनिर्मित ट्रॉमा सेंटर 64 दिन भी ठीक-ठाक नहीं रहा. हैंडओवर लेने से पहले निरीक्षण के दौरान इसमें कई खामियां पाई गईं. जिसके बाद निर्माण एजेंसी को नोटिस जारी किया गया है. चार दिन पहले 14 जुलाई को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इसका उद्घाटन किया था.

निर्माण एजेंसी को नोटिस जारी 

झारखंड राज्य भवन निर्माण निगम लिमिटेड ने इस सिलसिसे में निर्माण एजेंसी मेसर्स आरएस अग्रवाल को नोटिस जारी किया है. नोटिस में कहा गया कि निरीक्षण के दौरान यहां लगे एसी में खराबी पाई गई. एसी का ड्रेन (एफसीयू-एएचयू) सही से काम नहीं करने के कारण फॉल्स सीलिंग से पानी का रिसाव हो रहा है. एजेंसी जल्द से जल्द इसे ठीक करे.

ट्रॉमा सेंटर के फॉल्स सीलिंग का हाल


हाल ही में हुआ उद्घाटन

14 जुलाई को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने 100 बेड वाले ट्रॉमा सेंटर का उद्घाटन किया था. यह ट्रॉमा सेंटर अभी काम करना शुरू नहीं किया है, लेकिन बाथरूम सहित कई जगहों पर रिसाव होने लगा है. रिम्स के निदेशक डॉ. दिनेश कुमार सिंह ने कहा है कि निर्माण एजेंसी सहयोग नहीं कर रही है. वह हमें सामान भी रखने नहीं दे रही थी. एजेंसी का कहना था कि सामान चोरी चला जाएगा. पहले हैंडओवर लिया जाए.

हैंडओवर से पहले कई खामियां
Loading...

रिम्स निदेशक ने कहा कि जबतक सभी चीजें रनिंग नहीं हो जाती हैं, तब तक हैंडओवर नहीं लिया जा सकता. अब जब मशीन रनिंग में आया है, तो खामियां नजर आने लगी हैं. बिजली विभाग का कहना है कि वायरिंग का लूप यूज हुआ है और ट्रिप हो रहा है. कई जगहों पर पानी टपक रहा है. मंगलवार को इंजीनियरों को बुलाकर खामियों को ठीक करने को कहा गया. इस मामले को वह सरकार के स्तर पर ले जाएंगे.

ये भी पढ़ें- बासुकीनाथ धाम में बोले CM रघुबर, खतरे में है संताली संस्कृति.. बचाइये

जमीन छिनने की अपवाह पर सीएम ने कहा- किसानों को बरगलाने वाले को भेजें जेल

 
First published: July 18, 2019, 9:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...