लाइव टीवी

रांची: मलेशियाई युवती के संपर्क में नहीं आई थी संक्रमित महिला, मास ट्रांसमिशन की आशंका
Ranchi News in Hindi

News18 Jharkhand
Updated: April 7, 2020, 9:45 AM IST
रांची: मलेशियाई युवती के संपर्क में नहीं आई थी संक्रमित महिला, मास ट्रांसमिशन की आशंका
पुणे में कोरोना से कुल 10 लोगों की हुई मौत

संक्रमित महिला (Corona Infected Woman) को रिम्स (RIMS) के ट्रॉमा सेंटर COVID-19 वार्ड और परिवारवालों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है.

  • Share this:
रांची. हिंदपीढ़ी में मलेशियाई युवती के बाद एक और 54 वर्षीय महिला कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) पाई गई हैं. लेकिन, यह महिला कभी मलेशियाई युवती के संपर्क में नहीं आई थी. ऐसे में डॉक्टरों का कहना है कि पहली नजर में यह मामला कोरोना के मास ट्रांसमिशन (Mass Transmission) का लग रहा है. अगर महिला मलेशियाई युवती के संपर्क में नहीं आई, तो हिंदपीढ़ी को डेंजर जोन माना जाना चाहिए. आगे किसी भी स्तर की लापरवाही खतरनाक साबित हो सकती है. ऐसे में वहां के प्रत्येक शख्स की स्क्रीनिंग जरूरी है.

रिम्स में संक्रमित महिला के पति, तीन बेटों, बहु और दो पोतों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है. सोमवार दोपहर रिपोर्ट पॉजिटिव पाए जाने के बाद संक्रमित महिला समेत परिवारवालों को दो एंबुलेंस से रिम्स स्थित कोविड-19 अस्पताल लाया गया. संक्रमित महिला को रिम्स के ट्रॉमा सेंटर के दूसरे तल पर कोविड वार्ड में रखा गया है, जबकि परिवारवालों को पेइंग वार्ड स्थित आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है. जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार को हिंदपीढ़ी में स्क्रीनिंग के दौरान महिला का सैंपल जांच के लिए लिया गया था. सोमवार को रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई.

100 से अधिक अतिरिक्त पुलिस अधिकारियों की तैनाती
हिंदपीढ़ी में लगातार दो मरीज मिलने से प्रशासन की बेचैनी बढ़ गई है. रांची नगर निगम अब हिंदपीढ़ी के तीन किमी दायरे में स्थित सभी घरों को सेनिटाइज करेगा. डोर-टू-डोर सेनिटाइजेशन का काम होगा. इस बीच इलाके में लगे कर्फ्यू का सख्ती से पालन कराने के लिए सिटी एसपी के नेतृत्व में 100 पुलिस अधिकारियों की अतिरिक्त तैनाती कर दी गई है. इलाके को पूरी तरह सील कर दिया गया है. किसी को आने-जाने की इजाजत नहीं है.



तीन वार्ड पूरी तरह सील 


रांची उपायुक्त ने कहा कि हिंदपीढ़ी के नाला रोड समेत तीन वार्डों के सभी 15 प्रवेशद्वार को बंद कर दिया गया है. किसी को घर से निकलने की इजाजत नहीं है. जरूरी सामान घरवालों को वॉलेंटियर के जरिये पहुंचाए जाएंगे. एसएसपी अनीस गुप्ता ने कहा कि हिंदपीढ़ी में दूसरा मरीज मिलने के बाद इलाके की सुरक्षा बढ़ा दी गई है और 100 से अधिक अतिरिक्त पुलिस पदाधिकारियों की तैनाती की गई है. अब कर्फ्यू तोड़ने वालों पर सख्ती से कार्रवाई होगी.

झारखंड में अबतक कोरोना के चार मरीज  
बता दें कि इसी हिंदपीढ़ी इलाके में झारखंड का पहला कोरोना मरीज पाया गया. तबलीगी जमात से जुड़ी 22 वर्षीय मलेशियाई युवती कोरोना पॉजिटिव पाई गई. फिलहाल इस युवती का रिम्स में कोविड-19 अस्पताल में इलाज जारी है. झारखंड में अबतक कोरोना के चार मरीज सामने आ चुके हैं. इनमें तीन महिला और एक पुरुष शामिल हैं. दो रांची, एक-एक हजारीबाग और बोकारो में पाये गये हैं.

ये भी पढ़ें- लॉकडाउन के बाद 7 लाख मजदूर लौटेंगे झारखंड, राज्यपाल ने कहा- सरकार करे तैयारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 7, 2020, 9:30 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading