झारखंड कांग्रेस के नए अध्यक्ष का जल्द हो सकता है ऐलान, इन 5 नामों पर चर्चा

Diwakar Tiwari | News18 Jharkhand
Updated: August 22, 2019, 6:48 PM IST
झारखंड कांग्रेस के नए अध्यक्ष का जल्द हो सकता है ऐलान, इन 5 नामों पर चर्चा
झारखंड कांग्रेस के नये अध्यक्ष का जल्द होगा ऐलान

सूत्रों के मुताबिक प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में सुबोधकांत सहाय, प्रदीप बलमुचू, सुखदेव भगत, केएन त्रिपाठी और बन्ना गुप्ता आगे चल रहे हैं.

  • Share this:
झारखंड कांग्रेस (Jharkhand Congress) को जल्द नया प्रदेश अध्यक्ष मिलने वाला है. पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की जयंती मनाने रांची आए प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह दिल्ली लौट चुके हैं. साथ में नामों की एक सूची भी ले गये हैं. आरपीएन यह सूची पार्टी आलाकमान सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को सौंपेंगे. और सोनिया एक नाम पर मुहर लगाएंगी. उसके बाद उस नाम को सार्वजनिक किया जाएगा. सूत्रों के मुताबिक प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में सुबोधकांत सहाय (Subodh Kant Sahay), प्रदीप बलमुचू, सुखदेव भगत, केएन त्रिपाठी और बन्ना गुप्ता आगे चल रहे हैं. इनमें प्रदीप बलमुचू और सुखदेव भगत पहले भी प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं.

नाराज होकर अजय कुमार ने दिया इस्तीफा
लोकसभा चुनाव में करारी शिकस्त झेल चुकी झारखंड कांग्रेस की हालत ऊपर से नीचे तक खराब है. लोकसभा चुनाव में टिकट बंटवारे से लेकर नतीजों को लेकर अजय कुमार पार्टी के नेताओं के निशाने पर रहे. लोकसभा चुनाव में टिकट बंटवारे से नाराज प्रदीप बलमुचू, ददई दूबे, फुरकान अंसारी और रामेश्वर उरांव सरीखे पुराने नेताओं ने अजय कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था. पार्टी के एक और वरिष्ठ नेता सुबोधकांत सहाय भी लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद अजय कुमार के खिलाफ खड़े हो गए.

यह विरोध इस कदर बढ़ा कि सुबोधकांत और अजय कुमार के समर्थक सड़कों पर एक-दूसरे से हाथापाई करने पर उतर आए. ऐसी स्थिति में खुद को असहज पाकर अजय कुमार ने प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया. लेकिन उनके इस्तीफे ने प्रदेश कांग्रेस की अंतर्कलह को सार्वजनिक कर दिया. अपने त्यागपत्र में अजय कुमार ने प्रदेश के पांच वरिष्ठ नेता, सुबोधकांत सहाय, प्रदीप बलमुचू, फुरकान अंसारी, ददई दूबे और रामेश्वर उरांव पर परिवारवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया और प्रदेश कांग्रेस के बुरे हालात के लिए जिम्मेदार ठहराया.

ajay kumar
प्रदेश के बड़े नेताओं से परेशान होकर अजय कुमार ने दिया इस्तीफा (फाइल फोटो)


बीजेपी में जाएंगे अजय कुमार?
ऐसे में कांग्रेस आलाकमान अगर सुबोधकांत सहाय, प्रदीप बलमुचू, सुखदेव भगत, केएन त्रिपाठी और बन्ना गुप्ता में से किसी एक को प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपती है, तो नए प्रदेश अध्यक्ष के सामने पार्टी की खेमेबाजी खत्म करने की बड़ी चुनौती होगी. उधर, अजय कुमार के लिए कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से भी इस्तीफा देने की स्थिति बन जाएगी. वैसे भी अजय कुमार के बीजेपी में शामिल होने की अटकलें तेज हैं.
Loading...

banna gupta
नये प्रदेश अध्यक्ष की रेस में सबसे आगे चल रहे हैं बन्ना गुप्ता (फाइल फोटो)


इन लोगों ने तेज की लॉबिंग

सूत्रों के मुताबिक बन्ना गुप्ता ने अपने लिए लॉबिंग तेज कर रखी है. वह प्रदीप बलमुचू, धीरज साहू, फुरकान अंसारी, रामेश्वर उरांव और ददई दुबे से मिलकर अपने लिए फिल्डिंग कर रहे हैं. सुखदेव भगत और केएन त्रिपाठी भी दिल्ली में वरिष्ठ कांग्रेसियों के चक्कर लगा रहे हैं. एक नाम आलमगीर आलम का भी सामने है. वे विधायक दल के नेता हैं. लेकिन सूबे के मौजूदा सियासी हालात में कांग्रेस उनपर दांव लगाए, ऐसा संभव नहीं लगता. हालांकि तय पार्टी आलाकमान को करना है कि झारखंड कांग्रेस का नया प्रदेश अध्यक्ष कौन होगा.

नये प्रदेश अध्यक्ष, जो भी होंगे, उसके सामने कई कठिन चुनौतियां होंगी. पार्टी की खेमेबाजी से लेकर विधानसभा चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर सभी को संतुष्ट करना आसान नहीं होगा. ऊपर से विधानसभा चुनाव में बीजेपी से मुकाबले बेहतर प्रदर्शन की चुनौती अलग से रहेगी.

ये भी पढ़ें- झारखंड में महिलाएं बन रहीं मिट्टी की डॉक्टर, किसानों को खेती में करेंगी मदद

मोमेन्टम झारखंड में खर्च और निवेश पर श्वेत पत्र जारी करे सरकार- बाबूलाल मरांडी

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 4:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...