NIA का खुलासा- गिरिडीह में काम करने के लिए रामकृपाल कंस्ट्रक्शन ने नक्सलियों को फंडिंग की
Ranchi News in Hindi

NIA का खुलासा- गिरिडीह में काम करने के लिए रामकृपाल कंस्ट्रक्शन ने नक्सलियों को फंडिंग की
एनआईए ने रांची में रामकृपाल कंस्ट्रक्शन के तीन ठिकानों पर छापेमारी की

पिछले दिनों रामकृपाल कंस्ट्रक्शन का एक कर्मचारी गिरिडीह में गिरफ्तार हुआ था. गिरफ्तारी के वक्त उसके पास से 6 लाख रुपये जब्त हुए थे, जो वह बतौर लेवी (Lavy) नक्सलियों (Naxals) को ही देने जा रहा था.

  • Share this:
रांची. एनआईए (NIA) ने रामकृपाल कंस्ट्रक्शन में छापेमारी (Raid) को लेकर सनसनीखेज खुलासा किया. यह मामला गिरिडीह से जुड़ा हुआ है. गिरिडीह में रामकृपाल कंस्ट्रक्शन को करोड़ों के सड़क निर्माण का काम मिला था. कंपनी ने सड़क निर्माण का काम करने के लिए नक्सलियों को बड़ी फंडिंग की थी. मंगलवार शाम को एनआईए ने रांची में रामकृपाल कंस्ट्रक्शन के तीन ठिकानों पर छापा मारा था. इस दौरान कई फाइलें और कम्प्यूटर हार्डडिस्क जब्त किये थे.

एनआईए का खुलासा 

छापेमारी पर खुलासा करते हुए एनआइए के द्वारा बताया गया कि पिछले दिनों गिरिडीह से मनोज कुमार नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया गया था. उसके पास से 6 लाख रुपये और कई दस्तावेज बरामद हुए थे. मनोज ने पूछताछ में बताया कि उसने नक्सली कमांडर कृष्णा हांसदा के निर्देश पर ठेकेदारों से लेवी वसूल की. बाद में जांच के दौरान पता चला कि गिरफ्तार मनोज कुमार रामकृपाल कंस्ट्रक्शन का कर्मचारी है. और वह गिरिडीह इलाके में कंपनी और नक्सलियों के बीच मध्यस्थता का काम करता था. गिरफ्तारी के वक्त उसके पास से जब्त 6 लाख रुपये वह बतौर लेवी नक्सलियों को ही देने जा रहा था.



कंपनी के सियासी लिंक पर भी उठते रहे हैं सवाल 



एनआईए के मुताबिक कंपनी के द्वारा दिये गये पैसों को इस्तेमाल नक्सलियों ने हथियार और गोला-बारूद खरीदने और नये कैडरों की भर्ती के लिए किया. फिलहाल इस मामले में आगे की जांच जारी है. बता दें कि रामकृपाल कंस्ट्रक्शन झारखंड के बड़े ठेकेदारों में शुमार है. कंपनी ने नई झारखंड विधानसभा, नये हाईकोर्ट भवन जैसे कई बड़े प्रोजेक्टर राज्य में किये हैं. कंपनी के सियासी लिंक को लेकर भी सवाल उठते रहे हैं.

इनपुट- ओमप्रकाश

ये भी पढ़ें- लोहरदगा: नक्सलियों ने बॉक्साइट माइंस में कई गाड़ियों को फूंका

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading