चावल कारोबारी नरेंद्र सिंह होरा की हत्या कर लूट करने वाले नौ आरोपी गिरफ्तार

News18 Jharkhand
Updated: October 12, 2018, 11:37 PM IST
चावल कारोबारी नरेंद्र सिंह होरा की हत्या कर लूट करने वाले नौ आरोपी गिरफ्तार
चावल व्यापारी की लूट और हत्या के आरोपी पुलिस हिरासत में
News18 Jharkhand
Updated: October 12, 2018, 11:37 PM IST
रांची शहर के चर्चित नरेंद्र सिंह होरा हत्याकांड की गुत्थी पुलिस ने आखिर सुलझा ली. चावल कारोबारी नरेंद्र सिंह की हत्या लूटपाट के दौरान की गई थी. रांची पुलिस ने इस कांड में शामिल नौ आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक तीन अभी भी फरार हैं जिनकी गिरफ्तारी के लिए प्रयास किया जा रहा है. नरेंद्र सिंह होरा को लूटने का प्लान इन्हीं एक दर्जन बदमाशों ने मिलकर तैयार किया था. बदमाश जानते थे कि नरेंद्र सिंह होरा अपने स्कूटी में रख कर मोटी रकम घर लाया करते हैं.

इसी सूचना पर उन्होंने नरेंद्र सिंह के घर लौटने के वक्त रोकने का प्लान बनाया. इसके लिए उनके दुकान से लेकर पूरे रास्ते तक रेकी की गई. इस पूरे घटना का मास्टरमाइंड रांची के डोरंडा इलाके का रहने वाला छोटू हुसैन बताया जा रहा है. छोटू हुसैन ने अपने गिरोह के 11 सदस्यों के साथ मिलकर इस साजिश को रचा था. दरअसल इस गिरोह को यह सूचना मिली थी कि 5 सितंबर की रात नरेंद्र सिंह होरा लगभग 20 लाख रुपए लेकर घर लौट रहे हैं.

05 सितंबर को दिन भर नरेंद्र सिंह होरा की रेकी की गई. इसके लिए उनके दुकान से लेकर मेन रोड आने तक लगातार सभी क्रिमिनल्स उन पर नजर रखे हुए थे. जैसे ही नरेंद्र सिंह होरा मेन रोड स्थित राज हॉस्पिटल के सामने पहुंचे तो छोटू हुसैन ने अपने दो साथियों के साथ उन्हें ओवरटेक कर रोक लिया और हथियार दिखा पैसे मांगने लगा. इसी दौरान नरेंद्र सिंह होरा ने छोटू हुसैन को धक्का दे दिया जिसके वजह से उसका पिस्टल जमीन पर गिर गया. बदमाशों को लगा कि वह पकड़े जाएंगे क्योंकि वहां काफी लोगों की भीड़ थी. इस वजह से छोटू हुसैन के दूसरे दो साथियों ने लगातार तीन फायरिंग कर नरेंद्र सिंह होरा की हत्या कर दी.

नरेंद्र सिंह को गोली मारने के बाद उनके स्कूटी को लेकर वह फरार हो गए और पास के ही गली में स्कूटी की डिक्की को खोल कर उसमें रखे 5 लाख निकाले और अलग-अलग रास्तों से फरार हो गए. बदमाशों को यह पता था कि नरेंद्र सिंह होरा के पास से 20 लाख लूटे गए हैं लेकिन  रकम मात्र 5 लाख की थी. इसी को लेकर उनमें आपस में ही विवाद हो गया. विवाद की खबर धीरे-धीरे रांची पुलिस के गुप्तचरों को भी मिली. उसके बाद एक-एक करके सभी 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया.

पकड़े गए आरोपियों में बबन खान, छोटू हुसैन, मेहंदी हसन, राशिद अंसारी, मोहम्मद आसिफ, सज्जाद आलम, राजा आदिल, बिरसा और शिव रजक शामिल हैं. नरेंद्र सिंह की हत्या के बाद भी यह चैन से नहीं बैठे थे और शुक्रवार को भी यह एक बड़े व्यापारी से 65 लाख रुपये लूटने वाले थे.इनके पास से 9 एमएम की दो पिस्तौल, 7.65 एमएम की दो पिस्तौल सहित दर्जनों कारतूस बरामद किए गए हैं. हालांकि लूट के पैसों में से मात्र 19 हजार ही पुलिस को बरामद हो सके हैं.

यह भी पढ़ें - ग्लोबल हंगर इंडेक्स में खुलासा, झारखंड की आधी आबादी को नहीं मिलता है पर्याप्त खाना

यह भी पढ़ें - आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णो को 26 फीसदी आरक्षण देने पर विचार- रामदास अठावले
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर