होम /न्यूज /झारखंड /

नीति आयोग की बैठक में CM हेमंत सोरेन सुखाड़ से निपटने के लिए PM नरेंद्र मोदी से करेंगे विशेष पैकेज की मांग!

नीति आयोग की बैठक में CM हेमंत सोरेन सुखाड़ से निपटने के लिए PM नरेंद्र मोदी से करेंगे विशेष पैकेज की मांग!

हेमंत सोरेन राज्य में सुखाड़ की स्थिति और इसके कारणों का उल्लेख करते हुए केंद्र सरकार से विशेष पैकेज की मांग कर सकते हैं.

हेमंत सोरेन राज्य में सुखाड़ की स्थिति और इसके कारणों का उल्लेख करते हुए केंद्र सरकार से विशेष पैकेज की मांग कर सकते हैं.

Jharkhand News: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में रविवार यानि आज नीति आयोग के सातवें शासी निकाय की बैठक में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन शामिल हो रहे हैं. इस बैठक में मुख्यमंत्री हेमंत राज्य में सुखाड़ की स्थिति इसके कारणों का उल्लेख करते हुए मध्यम सिंचाई योजनाएं और विशेष पैकेज की मांग कर सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

हेमंत सोरेन राज्य की विभिन्न स्थितियों की चर्चा करते हुए पीएम से सुखाड़ से निपटने को केंद्र से सहयाेग की मांग करेंगे.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हो रहे नीति आयोग की बैठक में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी शामिल हो रहे हैं.

रांची. झारखंड में इस बार मॉनसून की कम बारिश होने की वजह से सुखाड़ की स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन राज्य की विभिन्न स्थितियों की चर्चा करते हुए पीएम से सुखाड़ से निपटने को केंद्र से सहयाेग की मांग करेंगे. सीएम माॅनसून आधारित कृषि व्यवस्था के स्थान पर उत्तम सिंचाई की कृषि व्यवस्था स्थापित करने के लिए बड़ी राशि की आवश्यकता पर जोर देंगे. दरअसल हेमंत सोरेन आज दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में होने वाली नीति आयोग की बैठक में शामिल होने वाले हैं. इस दौरान हेमंत सोरेन झारखंड की स्थिति पर पीएम से चर्चा करेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में रविवार यानि आज नीति आयोग के सातवें शासी निकाय की बैठक में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन शामिल हो रहे हैं. इस बैठक में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन राज्य में सुखाड़ की स्थिति और इसके कारणों का उल्लेख करते हुए मध्यम सिंचाई योजनाएं और विशेष पैकेज की मांग कर सकते हैं. इसके अतिरिक्त सीएम सोरेन राज्य में किये जा रहे विभिन्न क्षेत्रों विशेष कर शिक्षा, कृषि और शहरी विकास की दिशा में किये जा रहे सरकार के प्रयासों का उल्लेख भी कर सकते हैं.

20% भूमि पर ही सुनिश्चित सिंचाई की सुविधा

बता दें राज्य में करीब 38 लाख हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि है। इसमें से 28 लाख हेक्टेयर भूमि में खरीफ तथा 10 लाख हेक्टेयर भूमि में रबी की खेती होती है. 20% भूमि पर ही सुनिश्चित सिंचाई की सुविधा उपलब्ध है. धान की भूमि पर दूसरे फसल लगाने की अभी तक कोई बड़ी योजना का कार्यान्वित नहीं है. इसके कारण किसान माॅनसून आधारित खेती पर ही निर्भर है. 18 लाख हेक्टेयर खरीफ भूमि में से लगभग 5 लाख हेक्टेयर भूमि में जैसे तैसे खेती होती है.

कौशल विश्वविद्यालय के बारे में भी कर सकते हैं चर्चा 

सीएम सोरेन नीति आयोग की बैठक में पंडित रघुनाथ मुरमू ट्राइबल विश्वविद्यालय और कौशल विश्वविद्यालय के बारे में जिक्र कर सकते हैं. राज्य में सकल नामांकन अनुपात को बढ़ाने के लिए पहले से उपलब्ध 63 सरकारी महाविद्यालयों के अतिरिक्त आकांक्षी जिलों, शैक्षणिक रूप से पिछड़े जिलों, दूरस्थ स्थानों में 66 नए सरकारी महिला महाविद्यालय, आदर्श महाविद्यालय, डिग्री महाविद्यालय की स्थापना के बारे में भी जानकारी साझा कर सकते हैं.

Tags: Hemant soren, Jharkhand news, Narendra modi

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर