Home /News /jharkhand /

भारत- न्यूजीलैंड टी-20 मैच से पहले JSCA स्टेडियम में आतंकी हमले को लेकर मॉक ड्रिल, NSG और झारखंड ATS ने लिया हिस्सा

भारत- न्यूजीलैंड टी-20 मैच से पहले JSCA स्टेडियम में आतंकी हमले को लेकर मॉक ड्रिल, NSG और झारखंड ATS ने लिया हिस्सा

रांची के जेएससीए स्टेडियम में भारत-न्यूजीलैंड टी-20 मैच होना है. उससे पहले ये मॉक ड्रिल महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

रांची के जेएससीए स्टेडियम में भारत-न्यूजीलैंड टी-20 मैच होना है. उससे पहले ये मॉक ड्रिल महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

Ranchi News: झारखंड एटीएस संगठित आपराधिक गिरोह के साथ-साथ स्लीपर सेल के खिलाफ लगातार काम कर रहा है. नई रणनीति के तहत अब एनएसजी कमांडों के साथ एटीएस के जवानों की ट्रेनिंग करवाई जा रही है, ताकि वे किसी भी तरह के हमले से निबट सके.

रांची. राजधानी रांची में अचानक यह खबर फैली कि धुर्वा स्थित इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में आतंकवादियों ने हमला कर दिया. इसके बाद आनन-फानन में रांची पुलिस, झारखंड एटीएस की टीम और एनएसजी की टीम मौके पर पहुंची और घेराबंदी कर 7 आतंकियों को धर दबोचा. दरअसल ये एक मॉक ड्रिल था. ताकि झारखंड में अगर इस तरह की परिस्थिति आती है तो उससे निबटा जा सके.

झारखंड एटीएस के एसपी प्रशांत आनंद के साथ लगभग 50 से अधिक जवानों ने इस मॉक ड्रिल में भाग लिया. बता दें कि झारखंड आतंकियों के स्लीपर सेल को लेकर बदनाम रहा है. जमशेदपुर, रांची, हजारीबाग और पाकुड़ जैसे शहरों से समय-समय पर आतंकियों की गिरफ्तारी हुई है. इसको देखते हुए राज्य में आतंकवादी निरोधी दस्ते का भी गठन किया गया. झारखंड एटीएस संगठित आपराधिक गिरोह के साथ-साथ स्लीपर सेल के खिलाफ लगातार काम कर रहा है. नई रणनीति के तहत अब एनएसजी कमांडों के साथ एटीएस के जवानों की ट्रेनिंग करवाई जा रही है, ताकि वह किसी भी तरह के हमले को रोक सके.

एटीएस एसपी प्रशांत आनंद ने बताया कि यह एटीएस की रेग्युलर ड्रिल है, जिसे एनएसजी के साथ किया जा रहा है. आने वाले दिनों में झारखंड के सभी प्रमुख स्थानों पर भी यह ड्रिल किया जाएगा. आपको बता दें कि रांची के जेसीए स्टेडियम में ही भारत और न्यूजीलैंड के बीच टी-20 का मैच होना है. उससे पहले यह ड्रिल बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है. हालांकि एटीएस के अधिकारियों के मुताबिक इस ड्रिल का मैच से कोई संबंध नहीं है.

Tags: Jharkhand news, NSG, Ranchi news, Terrorist attack

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर