Home /News /jharkhand /

omg khule nale mein bike ke saath bah jaa rhe log mayor asha lakra ranchi municipal corporation said we have no fund bruk

रांची के खुले नालों में बाइक समेत बह जाते हैं लोग, मेयर-डिप्टी मेयर ने कहा- नहीं मिल रहा फंड

रांची के खुले नाले में एक युवक बाइक समेत गिर गया था, जिसमें वह घायल भी हो गया था.

रांची के खुले नाले में एक युवक बाइक समेत गिर गया था, जिसमें वह घायल भी हो गया था.

Jharkhand News: रांची में खतरनाक नालों की वजह से हाल के वर्षो में 3 बड़े हादसे हो चुके हैं, जिनमे 1 बच्ची समेत 2 लोगों की मौत हो गई थी. हिंदपीढ़ी में जहां एक बच्ची की मौत नाली में बहने के कारण हुई थी तो वहीं कोकर इलाके में एक व्यक्ति बाइक समेत बह गया था. बता दें, इस मामले में अबतक मृतक का शव तक नहीं मिला है. वहीं पिछले वर्ष पंडरा इलाके में एक व्यक्ति के नाली में बह जाने से मौत हो गई थी.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

रांची में 26 ऐसे स्पॉट हैं जहां खुले और जर्जर नाले कभी भी बड़े हादसे को दावत दे सकते हैं.
स्थानीय लोगों के अनुसार रांची नगर निगम की लापरवाही कारण आए दिन ऐसे हादसे होते रहते हैं.
रांची के डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय ने कहा कि वर्तमान समय में रांची नगर निगम घोर आर्थिक परेशानियों से घिरा हुआ है.

रांची. झारखंड की राजधानी रांची में खतरनाक नाले आए दिन किसी न किसी हादसे की वजह बन रहे हैं. लेकिन, रांची नगर निगम इसको लेकर लगातार उदासीन बना हुआ है. बताया जाता है कि रांची में 26 ऐसे स्पॉट हैं जहां खुले और जर्जर नाले कभी भी बड़े हादसे को दावत दे सकते हैं. हाईकोर्ट की फटकार के बाद भी रांची नगर निगम ने नालों को ढकने और उसकी मरम्मती के लिए कुछ खास प्रयास नहीं किया है. निगम की ओर से महज बांस की  बैरकेडिंग का अपनी जिम्मेदारी से पीछा छुड़ा लिया गया है.

बता दें, रांची में बीते 6 अगस्त को ही एक हादसा हुआ था, एक युवक नाले में बाइक समेत गिर गया था, जिसमें वह घायल भी हो गया था. स्थानीय लोगों के अनुसार रांची नगर निगम की लापरवाही कारण आए दिन ऐसे हादसे होते रहते हैं. वहीं इस मामले पर वार्ड पार्षद ओमप्रकाश का कहना है कि खतरनाक नाले को ढकने को लेकर कई बार परिषद में भी आवाज उठाई. लेकिन फंड नहीं मिलने के कारण नाली को ढकने का काम नहीं हो पाया जिस कारण आए दिन कोई न कोई नाले में गिरकर घायल होता है.

रांची मेयर ने भी फंड की कमी को बताया वजह 

वहीं इस मामले में रांची मेयर आशा लकड़ा का कहना है कि बड़े नालों को ढकने के लिए विभाग से फंड मांगा गया था. लेकिन, अब तक फंड नहीं मिला है जिस कारण शहर के कई खतरनाक नाले यूं ही खुले हैं  और इसी वजह से हादसे हो रहे हैं. हालंकि अब जिन भी नालियों का निर्माण का हो रहा है. उसे साथ ही साथ ढकने का भी प्रावधान उसी टेंडर में किया जा रहा है.

जानें डिप्टी मेयर ने क्या कहा 

मामले पर रांची के डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय ने कहा कि वर्तमान समय में रांची नगर निगम घोर आर्थिक परेशानियों से घिरा हुआ है जिस कारण कोई भी जरूरी कार्य नहीं हो पा रहे हैं. सरकार से पत्राचार तक किया गया लेकिन सरकार और विभाग मामले में मौन है. किसी भी प्रकार के फंड का अलॉटमेंट नहीं किया जा रहा जिस कारण लोगो को परेशानी झेलनी पड़ रही है.

बाइक समेत बह गया था युवक 

बता दें, रांची में खतरनाक नालों की वजह से हाल के वर्षो में 3 बड़े हादसे हो चुके हैं, जिनमे 1 बच्ची समेत 2 लोगों की मौत हो गई थी. हिंदपीढ़ी में जहां एक बच्ची की मौत नाली में बहने के कारण हुई थी तो वहीं कोकर इलाके में एक व्यक्ति बाइक समेत बह गया था. बता दें, इस मामले में अबतक मृतक का शव तक नहीं मिला है. वहीं पिछले वर्ष पंडरा इलाके में एक व्यक्ति के नाली में बह जाने से मौत हो गई थी. बावजूद खतरनाक नालों को लेकर निगम और राज्य सरकार की उदासीनता समझ से परे है.

Tags: Jharkhand news, Ranchi Municipal Corporation, Ranchi news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर