Home /News /jharkhand /

सत्ता पक्ष ने बताया राहत भरा बजट, विपक्ष ने बोला हमला

सत्ता पक्ष ने बताया राहत भरा बजट, विपक्ष ने बोला हमला

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखदेव भगत ने कहा कि वादे के खिलाफ केंद्र सरकार ने इसे गांवों पर फोकस नहीं किया है. बकौल कांग्रेस अध्यक्ष यह बड़े लोगों का बजट है.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखदेव भगत ने कहा कि वादे के खिलाफ केंद्र सरकार ने इसे गांवों पर फोकस नहीं किया है. बकौल कांग्रेस अध्यक्ष यह बड़े लोगों का बजट है.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखदेव भगत ने कहा कि वादे के खिलाफ केंद्र सरकार ने इसे गांवों पर फोकस नहीं किया है. बकौल कांग्रेस अध्यक्ष यह बड़े लोगों का बजट है.

आम बजट पर पक्ष विपक्ष ने राय जाहिर की है. जहां सत्ता पक्ष ने इस आम लोगों को राहत देने वाला बजट बताया वहीं विपक्ष ने प्रतिक्रिया में तीखा हमला किया है.

सत्ता पक्ष ने बताया क्रान्तिकारी बजट

कृषि मंत्री रणधीर सिंह ने कहा कि देश में पहली बार ऐसा बजट आया है, जिसमें कृषि को आगे बढ़ाने का उपाय किया गया. कृषि के लिए 35984 करोड़ का फंड का प्रावधान है. 23 सिंचाई योजनाएं शुरू की गई हैं तो मनरेगा के तहत पांच लाख तालाब और कुएं बनवाए जाएंगे.

बेशक इससे ग्रामीण इलाकों में खुशहाली आएगी. साथ ही रोजगार भी बढ़ेगा. नगर विकास मंत्री सीपीसिंह ने इसे क्रान्तिकारी बजट करार देते हुए कहा कि अब तक ऐसा बजट नहीं आया था और इससे 130 करोड़ जनता लाभान्वित होगी. उन्होंने इसे किसानों के लिए राहत वाला बजट बताया.

नहीं मिली किसानों को राहत

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखदेव भगत ने कहा कि वादे के खिलाफ केंद्र सरकार ने इसे गांवों पर फोकस नहीं किया है. बकौल कांग्रेस अध्यक्ष यह बड़े लोगों का बजट है. झाविमो नेता प्रदीप यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री ने बजट से पहले लोगों को भावना में बहाने का प्रयास किया पर देश भावनाओं से नहीं चलता.

उन्होंने कहा कि किसानों में आक्रोश था. उम्मीद थी कि सरकार कुछ उनके राहत के लिए करेगी. पर गर्म तवे पर पानी के कुछ बूंद ही गिरी हैं जो चेहरे को झुलसाते ही हैं. मनरेगा के तहत कुएं खुदवाने की बात पर प्रदीप यादव ने कहा कि आधी राशि तो बिचौलिए ही खाते हैं, किसानों को कोई फायदा नहीं मिलता.

Tags: Arun jaitley, Jharkhand news, Union budget

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर