विपक्ष ने कहा एसडीओ का तबादला मिलावटखोरों की जीत

विनय अग्रवाल
अध्यक्ष, झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स
विनय अग्रवाल अध्यक्ष, झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स

राजधानी रांची में 22 से अधिक मिलावटखोरों का पर्दाफाश करने वाले एसडीओ भोर सिंह यादव का तबादला कर दिया गया.

  • Share this:
राजधानी रांची में 22 से अधिक मिलावटखोरों का पर्दाफाश करने वाले एसडीओ भोर सिंह यादव को नौकरी में उन्नति देते हुए तबादला कर दिया गया. एसडीओ के तबादले से जहां व्यापारी वर्ग खुश है वहीं विपक्ष इसे मिलावटखोरों की जीत बता रहा है.

बता दें कि एसडीओ भोर सिंह यादव की कार्रवाई मिलावटखोरों, जमाखोरों और व्यवसायियों को खटक रहा था. लेकिन जनता एसडीओ की कार्रवाई से खुश थी. रांची वासियों के मुताबिक भोर सिंह का तबादला कहीं से उचित नहीं कहा जाएगा. लोगों के अनुसार भोर सिंह यादव को रांची में और एक साल रहना चाहिए था.

झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष विनय अग्रवाल ने कहा कि भोर सिंह यादव के पास कुछ न कुछ सूचनाएं थीं जिनपर उन्होंने कार्य किया. हालांकि अभी सबकुछ स्पष्ट नहीं हो पाया है. एक व्यक्ति मिलावट का कार्य करता था उसके चलते कई व्यपारियों पर कार्रवाई हो गई.



उन्होंने कहा कि अभी तक हमलोगों के पास उस एक व्यक्ति के अलावा और किसी के द्वारा मिलावट करने की सूचना नहीं आई है. उन्होंने आगे कहा कि हर दिन भोर सिंह यादव एक नए व्यवसायी के यहां जांच कर रहे थे. वे दो-तीन दिन व्यवसायियों को थाने में बैठाने लगे थे. इस वजह से व्यपारी वर्ग में भय का माहौल उत्पन्न हो गया था.
उनके मुताबिक एसीडीओ की कार्रवाई में निर्दोष व्यवसायी ज्यादा परेशान होने लगे थे. इसी के बाद एसडीओ के तबादले का फैसला सरकार को लेना पड़ा. लेकिन विपक्ष ने आरोप लगाया कि व्यवसायियों के दबाव में लिए गए फैसले से मिलावटखोरों को फायदा हो गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज