Article 370: सरकार के मास्टरस्ट्रोक से विपक्ष दो फाड़, जेएमएम के विधायक कुणाल षाडंगी ने किया स्वागत

झारखंड में नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि ये संघीय ढांचे पर प्रहार है वहीं उनके ही विधायक केंद्र सरकार के इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं.

Prabhanjan kumar | News18 Jharkhand
Updated: August 6, 2019, 8:39 PM IST
Prabhanjan kumar | News18 Jharkhand
Updated: August 6, 2019, 8:39 PM IST
केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष अधिकार देनेवाली संविधान के आर्टिकल 370 के कांटे को उखाड़ कर फेंक दिया है. जिसको लेकर पूरा हिंदुस्तान में खुशी की लहर है. खुशी के जश्न में झारखंड भी डूबा है. लेकिन केंद्र सरकार के इस ऐतिहासिक फैसले पर JMM में दो फाड़ नज़र आ रहा है. झारखंड में नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि ये संघीय ढांचे पर प्रहार है. वहीं उनके ही विधायक केंद्र सरकार के इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं.

हेमंत सोरेन ने कहा कि ज्यादा व्यवहारिक होता अगर ज्यादा न्यायसंगत तरीके से विधिसम्मत तरीके से चीजें लाई जाती. आज वहां विधानसभा भंग है. बेहतर होता विधानसभा चुनाव करा दिए जाते. आवाम की बातों को भी सुना जाता.

आर्टिकल370,Article 370
झारखंड में नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि ये संघीय ढांचे पर प्रहार है


जेएमएम विधायक कुणाल षाडंगी ने बताया बेहतरीन निर्णय

वहीं बहरागोड़ा से जेएमएम विधायक कुणाल षाडंगी ने कहा कि जब पूरे देश में दोहरी नागरिकता कहीं और नहीं है तो एक राज्य विशेष में होनी क्यों होनी चाहिए, आरटीआई वहां लागू नहीं होता. उस राज्य का अलग झंडा है. उस राज्य से विधानसभा का सत्र जो है 6 साल का होता है. तो इस तरह से ये प्रावधान मुझे नहीं लगता है कि आज के दिन में प्रासंगिक है. और निश्चित रुप से इन प्रावधानों को खत्म किया जाना चाहिए था. और ये बेहतर निर्णय है. मैं इसका स्वागत करता हूं.

आर्टिकल370,Article 370
बहरागोड़ा से जेएमएम विधायक कुणाल षाडंगी ने कहा ये बेहतर निर्णय है. मैं इसका स्वागत करता हूं'.


वहीं केंद्र सरकार के इस फैसले से मुख्यमंत्री रघुवर दास काफी खुश हैं. उन्होंने इसे संकल्प से सिद्धि का एक पड़ाव बताया है. रघुवर दास ने इसे देश के लिए ऐतिहासिक दिन बताया है.
Loading...

केंद्र सरकार के इस फैसले ने संविधान से लेकर इतिहास और भूगोल को भी बदल दिया है. उम्मीद है कि घुसपैठ और आतंकवाद से कराह रहे जम्मू कश्मीर में इस फैसले के बाद अमन और शांति की बहाली होगी और एक बार फिर कश्मीर धरती का स्वर्ग बनेगा.

ये भी पढ़ें- मिशन 65: झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी का ये है मास्टर प्लान, इन 38 सीटों पर खास नजर

ये भी पढ़ें-जेएमएम ने निकाला युवा आक्रोश मार्च, हेमंत बोले- सरकार बनी तो पिछड़ों को देंगे 27% आरक्षण
First published: August 6, 2019, 7:26 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...