होम /न्यूज /झारखंड /

अफ्रीका के माली में फंसे झारखंड के 33 मजदूरों में से 6 को लाया गया रांची, सोशल मीडिया पर लगाई थी वतन वापसी की गुहार

अफ्रीका के माली में फंसे झारखंड के 33 मजदूरों में से 6 को लाया गया रांची, सोशल मीडिया पर लगाई थी वतन वापसी की गुहार

मजदूरों ने सोशल मीडिया के माध्यम से वतन वापसी की गुहार लगाई थी.

मजदूरों ने सोशल मीडिया के माध्यम से वतन वापसी की गुहार लगाई थी.

Jharkhand News: गिरिडीह और हजारीबाग जिले के 33 मजदूरों ने वेस्ट अफ्रीका के माली से वतन वापसी की गुहार लगाई थी. 16 जनवरी को सोशल मीडिया के माध्यम से सभी मजदूरों ने भारत सरकार और झारखंड सरकार को यह संदेश भेजा था. जिसके बाद राज्य सरकार की पहल पर 6 मजदूरों को पहली खेप में रांची लाया गया.

अधिक पढ़ें ...

रांची. अफ्रीका के माली में फंसे झारखण्ड के 33 मजदूरों में से 6 मजदूरों की आज घर वापसी हो गई. शनिवार को 6 मजदूर दिल्ली से रांची हवाई अड्डा पहुंचे. रांची पहुंचने पर श्रम विभाग के अधिकारियों ने मजदूरों का स्वागत फूल देकर किया. सभी मजदूरों ने झारखंड की धरती को नमन करते हुए केंद्र और राज्य सरकार का शुक्रिया अदा किया.

दरअसल गिरिडीह और हजारीबाग जिले के 33 मजदूरों ने वेस्ट अफ्रीका के माली से अपने राज्य वापसी की गुहार लगाई थी. 16 जनवरी को सोशल मीडिया के माध्यम से सभी मजदूरों ने भारत सरकार और झारखंड सरकार को यह संदेश भेजा था. मामले में श्रम मंत्री कार्यालय की ओर से संज्ञान लेते हुए घटना की उचित करवाई हेतु राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष को निर्देशित किया गया. जिसके बाद राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष ने मजदूरों से सत्यापन किया. जिसमे जानकारी मिली कि वे सभी वर्ष 2021 से कल्पतरु पावर ट्रैन्ज़्मिशन लिमिटेड में फिटर के रूप में वहां कार्यरत थे. उन्हें त्रिमाही वेतन 400 US यानी 29,725 रुपए देने की बात नियुक्ति पत्र में अंकित थी.

मजदूरों ने बताया कि ठेकेदार ने उनका पासपोर्ट जब्त कर रखा है और वह भारत वापस आ चुका है. मजदूरों ने बताया कि तीन महीने से ज्यादा हो गया है लेकिन उन्हें वेतन नहीं दिया गया और उनके पास दो दिन का खाना ही बचा था. राज्य प्रवासी नियंत्रण कक्ष ने कार्रवाई करते हुए दूतावास और कंपनी कंट्री हेड मैनेजर से संपर्क किया. कंपनी, ठेकेदार मजदूरों के प्रतिनिधियों को दूतावास कार्यालय बातचीत के लिए बुलाया गया, जहां 18 जनवरी को तीनों पक्ष के प्रतिनिधि द्वारा दूतावास कार्यालय में समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किया गया.

शनिवार को छह मजदूर विमान से रांची पहुंचे. पहली खेप में पहुंचने वाले मजदूरों के नाम
दिलीप कुमार, छेदीलाल महतो, संतोष महतो, लालमणि महतो, इन्द्रदेव ठाकुर, लोकनाथ महतो और इन्द्रदेव प्रसाद हैं.

Tags: Jharkhand news, Ranchi news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर