झारखंड कांग्रेस में घमासान पर आलाकमान सख्त, 20 नेता दिल्ली तलब

प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा कि बयानबाजी को लेकर हमने पहले ही सबको हिदायत दी है. सूबे के 20 नेताओं को दिल्ली तलब किया गया. 3 अगस्त को बैठक में हर मसले पर चर्चा होगी.

News18 Jharkhand
Updated: August 1, 2019, 6:05 PM IST
झारखंड कांग्रेस में घमासान पर आलाकमान सख्त, 20 नेता दिल्ली तलब
झारखंड कांग्रेस में घमासान पर दिल्ली दरबार सख्त
News18 Jharkhand
Updated: August 1, 2019, 6:05 PM IST
लोकसभा चुनाव के बाद से झारखंड कांग्रेस में बवाल जारी है. पार्टी का एक गुट प्रदेश नेतृत्व में परिवर्तन के लिए रांची से लेकर दिल्ली तक में जोर लगा रहा है. इसको देखते हुए दिल्ली में तीन अगस्त को एक बैठक बुलाई गई है. यह बैठक कांग्रेस मुख्यालय में होगी. इसमें प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह, संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार, प्रदीप बालमुचू और सुबोधकांत सहाय समेत सूबे के 20 नेता भाग लेंगे. बैठक में जारी विवाद को सुलझाने की कोशिश होगी.

दिल्ली दरबार में झारखंड विवाद

प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा कि बयानबाजी को लेकर हमने पहले ही सबको हिदायत दी है. सूबे के 20 नेताओं को दिल्ली तलब किया गया. 3 अगस्त को बैठक में हर मसले पर चर्चा होगी.

उधर, दिल्ली में ही पूर्व मंत्री ददई दुबे ने प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार और प्रभारी आरपीएन सिंह पर हमला बोला. कांग्रेस नेता दोनों को हटाने की मांग करते हुए कहा कि इनदोनों नेता के चलते ही लोकसभा चुनाव में झारखंड में कांग्रेस का बेड़ा गर्क हुआ. सुबोधकांत सहाय को एक तरफ टिकट, तो दूसरी तरफ उनका विरोध किया.

पूर्व मंत्री ने कहा कि इन दोनों को हटाये बिना झारखंड में कांग्रेस का कल्याण नहीं हो सकता. इनको हटा दिया जाए, तो झारखंड में फिर कांग्रेस की सरकार बन जाएगी. ददई के मुताबिक लोकसभा चुनाव में टिकट बंटवारे में गड़बड़ी हुई थी. हर कौम को जगह नहीं दी गई.

बेटे- बेटियों के लिए टिकट मांगने के आरोप पर ददई दुबे ने कहा कि जीतने वाले उम्मीदवार को टिकट मिलना चाहिए. बेटे के लिए टिकट का दावा ठोंकते हुए उन्होंने कहा कि विश्रामपुर सीट से अजय कुमार दुबे को टिकट मिलना चाहिए. उनकी छवि अच्छी है.

बहुत हुई बयानबाजी, अब होगी कार्रवाई
Loading...

इधर, जमशेदपुर में प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार ने कहा कि प्रदीप बलमुचू, सुबोधकांत सहाय एवं अन्य नेताओं के खिलाफ रिपोर्ट तैयार कर रहे हैं. इनके खिलाफ आलाकमान से कार्रवाई की मांग करेंगे.

अजय कुमार ने कहा कि मैंने खून दिया है, जबकि इनलोगों ने खून चूसा है. ये लोग खुद और अपने बेटे- बेटी के लिए टिकट चाहते हैं. इसलिए बवाल करते हैं. अब बहुत हुआ. अब कार्रवाई होगी.

रिपोर्ट- अमितेश व अन्नी

ये भी पढ़ें- चारा घोटाले की तर्ज पर मनरेगा घोटाला, मोटरसाइकिल से ढोए गये ईंट और बालू

नक्सल प्रभावित इस गांव ने पेश की सामूहिक खेती की मिसाल
First published: August 1, 2019, 5:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...