BJP सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ उनकी डिग्री को लेकर HC में याचिका दाखिल, की गई CBI जांच की मांग
Ranchi News in Hindi

BJP सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ उनकी डिग्री को लेकर HC में याचिका दाखिल, की गई CBI जांच की मांग
उन्होंने अदालत से आग्रह किया है कि सीबीआई को इस मामले में एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया जाए. (फाइल फोटो)

याचिकाकर्ता ने भारत के निर्वाचन आयोग से निशिकांत दुबे (MP Nishikant Dubey) की लोकसभा सदस्यता तत्काल निरस्त करने की भी मांग की है

  • Share this:
रांची. झारखंड में गोड्डा के सांसद निशिकांत दुबे (MP Nishikant Dubey) के खिलाफ जमशेदपुर के एक व्यक्ति ने झारखंड उच्च न्यायालय (High Court) में उनकी डिग्री (Degree) की जांच को लेकर जनहित याचिका (Petitions) दायर की है. जमशेदपुर के दानिश नामक व्यक्ति ने निशिकांत दुबे की डिग्री पर सवाल उठाते हुए उनकी एमबीए की डिग्री की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है. उन्होंने अदालत से आग्रह किया है कि सीबीआई को इस मामले में एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया जाए.

याचिकाकर्ता ने भारत के निर्वाचन आयोग से निशिकांत दुबे की लोकसभा सदस्यता तत्काल निरस्त करने की भी मांग की है. याचिकाकर्ता के अनुसार निशिकांत दुबे ने वर्ष 2009, वर्ष 2014 और वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान निर्वाचन आयोग को जो हलफनामा दिया है. उसमें बताया है कि उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज से एमबीए की डिग्री भी ली है. याचिका में दावा किया गया है कि पिछले दिनों दिल्ली विश्वविद्यालय द्वारा एक आरटीआई के जवाब में कहा गया है कि निशिकांत दुबे नाम के किसी भी व्यक्ति ने दिल्ली विश्वविद्यालय से मैनेजमेंट की डिग्री नहीं ली है.

हमेशा चर्चा में बने रहते हैं
बता दें कि बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे आए दिन किसी न किसी कारणों से चर्चा में बने रहते हैं. बीते जुलाई महीने में खबर सामने आई थी कि गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे और राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) के बीच ट्विटर वार हो गया है. गोड्डा सांसद ने ट्विटर पर अपने ताजा हमले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर एक लड़की के आरोप के हवाले से दुष्कर्म (Rape) और अपहरण (Kidnapping) के आरोप लगाये थे. मामला 2013 का है और मुंबई से जुड़ा हुआ था. गोड्डा सांसद ने ट्विटर पर बकायदा महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख को संबोधित करते हुए लिखा, 'मुंबई शहर में 2013 में झारखंड के तत्कालीन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी पर एक लड़की ने बलात्कार और अपहरण के आरोप लगाए. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार समझौते से भी यह आरोप बंद नहीं हो सकता.'
ट्वीट कर निशिकांत दुबे को जवाब दिया था


इसके बाद सांसद के इस आरोप के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ट्वीट कर निशिकांत दुबे को जवाब दिया था. मुख्यमंत्री ने लिखा,'माननीय सांसद निशिकांत दुबे जी ने मुझपर कुछ आरोप लगाये हैं. माननीय सांसद जी इसका जवाब आपको अगले 48 घंटे में कानूनी रूप से दिया जाएगा. देश और राज्यवासियों को अपने आचरण के अनुरूप गुमराह करना बंद करें.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading