• Home
  • »
  • News
  • »
  • jharkhand
  • »
  • RANCHI PHOTOSHOP TAX DEALER USED TO LULL UNEMPLOYED UNKNOWN BANK LOAN EMI STARTS CGPG

फोटोशॉप के कमाल से बेरोजगारों के नाम पर उठा लिया लोन, EMI चुकाने की बात आई तो....

पुलिस मामले की जांच कर रही है.-(सांकेतिक चित्र)

Ranchi News: लोगों को चुना लगाने वाला डीलर रवि रंजन बिहार (Bihar) के बक्सर भागने की फिराक में था जहां उसने अपना नया शोरूम खोला था. हालांकि समय रहते उसे बैंक द्वारा पकड़ा गया और पुलिस के हवाले किया गया.

  • Share this:
रांची. एक ऐसा ऑटो मोबाइल डीलर जिसने फोटोशॉप के जरिए शातिराना अंदाज से कई लोगों को चूना लगाया. डीलर ने ऐसी तरकीब निकाली की बैंक से लोन हुआ पर लाभुक तक को पता नहीं चला और ईएमआई (EMI) भी शुरू हो गई. लेकिन जब जानकारी हुई तो बैंक में भी हड़कंप मच गया. राजधानी रांची (Ranchi) के पिठोरिया थाना क्षेत्र में विनीता ऑटोमोबाइल के डीलर द्वारा कुछ ऐसे ही वारदात को अंजाम दिया गया है. एक या दो नहीं बल्कि अबत क 8 ऑटो की डिलीवरी उसने कर दी, लेकिन ऑटो लाभुक को नहीं मिली लेकिन लोन लाभुक पर जरूर चढ़ गया.


लोगों को चुना लगाने वाला डीलर रवि रंजन बिहार के बक्सर भागने की फिराक में था जहां उसने अपना नया शोरूम खोला था. हालांकि समय रहते उसे बैंक द्वारा पकड़ा गया और पुलिस के हवाले किया गया. मामले की जानकारी देते हुए पंजाब एन्ड सिंध बैंक के  बैंक मैनेजर रॉबर्टसन तिर्की ने बताया कि ऑटोमोबाइल डीलर रवि रंजन द्वारा गाड़ियों की डिलिवरी की गई. उसमें उसके द्वारा फोटो भी बैंक में सबमिट किया गया जिसमें ग्राहक की ऑटो डिलीवर करते दिखाया गया. हालांकि ग्राहक को ऑटो डिलीवर भी नहीं किया गया.


ऐसे ठगी करता था डीलर


पूरे मामले में ग्राहकों का कहना है की उन्हें इसकी जानकारी भी नहीं थी कि उनकी गाड़ी डिलीवर हो चुकी है और उन्हें लोन अकॉउंट भी खुल चुका है. वहीं ग्राहक वरुण ने बताया कि रवि रंजन द्वारा उन्हें फोन कर कहा गया कि बैंक को झूठ बोलने को कहा गया. इसके बाद वो बैंक पहुंचे तो उन्हें जानकारी हुई कि उनका ऑटो उन्हें डिलीवर हो चुका है और एक ईएमआई की किश्त भी उनके द्वारा भारी जा चुकी है. वहीं एक अन्य लाभुक विवेक कुमार सोनी द्वारा 2 ईएमआई किश्त भरी जा चुकी थी और उन्हें इस बात की कोई भी जानकारी नहीं थी. बैंक के अनुसार ये किश्त डीलर के द्वारा फिलहाल भरी गई थी.


ये भी पढ़ें: COVID-19 वैक्सीनेशन का दूसरा फेज, टीका नहीं लगवाने वाले पुलिसकर्मियों को देना होगा जवाब


पूरे खेल में कई चेहरे हो  सकते है शामिल

पूरे मामले की पेचदगी को देखते हुए पिठोरिया थाने पुलिस को बुलाया गया और आरोपी को पुलिस के हवाले किया गया है. फिलहाल पुलिस अनुसंधान में जुट मामले की सत्यता की जांच में लगी है. वहीं जानकारी के अनुसार डीलर द्वारा बुढ़मू इलाके में भी शोरूम खोल लोगों को चुना लगाया गया था. मामले की जानकारी देते हुए ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने बताया कि आरोपी को हिरासत में लिया गया और पुछ्ताछ की जा रही है. वहीं उन्होंने आशंका जाहिर की हो सकता है कि इस फर्जीवाड़े में डीलर के साथ और भी लोग शामिल हो.