इस सेविका की वजह से मृत घोषित नवजात को मिली नई जिंदगी, PM ने की तारीफ

सरायकेला की आंगनबाड़ी सेविका की सतर्कता से उस नवजात को जिंदगी मिली, जिसको घरवालों ने मृत मान लिया था.

News18 Jharkhand
Updated: September 11, 2018, 2:19 PM IST
इस सेविका की वजह से मृत घोषित नवजात को मिली नई जिंदगी, PM ने की तारीफ
पीएम के साथ सीधी बात
News18 Jharkhand
Updated: September 11, 2018, 2:19 PM IST
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये एएनएम, आंगनबाड़ी सेविका सहायिका और सहिया से सीधी बात की. इसके लिए रांची के विकास भवन समेत जिले के छह जगहों पर व्यवस्था की गई थी. इसके अलावा अन्य जिलों से भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से एएनएम, आंगनबाड़ी सेविका सहायिका और सहिया जुड़ीं.

हालांकि पीएम से बात करने का मौका सिर्फ सरायकेला-खरसांवा की एक आंगनबाड़ी सेविका को मिला. पीएम ने उसकी जमकर सराहना की. दरअसल इस सेविका की सतर्कता से उस नवजात को जिंदगी मिली, जिसको घरवालों ने मृत मान लिया था. पीएम ने इस दौरान आंगनबाड़ी सेविका और सहायिका के मानदेय में बढ़ोतरी और मुफ्त बीमा का एेलान किया.

रांची की एएनएम, आंगनबाड़ी सेविका और सहायिकाओं को इस बात का मलाल रहा कि उनकी पीएम से बात नहीं हो पाई. लेकिन वे प्रधानमंत्री की घोषणा से काफी खुश दिखे. सेविका-सहायिकाओं ने मांग की है कि केन्द्र की तरह राज्य सरकार भी उनपर ध्यान दे और मानदेय में बढ़ोतरी के साथ-साथ समय पर पैसे का भुगतान करे. पीएफ कटे ताकि भविष्य सुरक्षित रह सके.

गौरतलब है कि पीएम से सीधे संवाद कार्यक्रम के लिए रांची शेड्यूल में नहीं था. हालांकि रांची में बैठी आंगनबाड़ी सेविकाओं और सहायिकाओं ने पूरे कार्यक्रम के दौरान बड़े ध्यान से पीएम मोदी और देश के विभिन्न हिस्सों की सेविका और सहायिकाओं की बातचीत को सुना.

(मनोज कुमार की रिपोर्ट)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर