देश की बड़ी योजनाओं का लॉन्चिंग पैड है झारखंड, पढ़ें रांची में PM ने और क्या कहा...

News18 Jharkhand
Updated: September 12, 2019, 3:48 PM IST
देश की बड़ी योजनाओं का लॉन्चिंग पैड है झारखंड, पढ़ें रांची में PM ने और क्या कहा...
पीएम मोदी ने रांची की सभा में केन्द्र की योजनाओं के लाभ गिनाए

पीएम ने कहा कि आज मुझे साहिबगंज मल्टी-मॉडल टर्मिनल का उद्घाटन करने का भी अवसर मिला है. ये सिर्फ एक प्रोजेक्ट नहीं है, बल्कि इस पूरे क्षेत्र को परिवहन का नया विकल्प दे रहा है. यह जल मार्ग झारखण्ड को पूरे देश से ही नहीं, बल्कि विदेश से भी जोड़ेगा.

  • Share this:
रांची. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रांची की सभा में केन्द्र सरकार की योजनाओं के फायदे गिनाये. पढ़ें, उन्होंने क्या कुछ कहा...

नई सरकार बनने के बाद जिन कुछ राज्यों में मुझे सबसे पहले जाने का अवसर मिला, उनमें से झारखंड भी है. यही प्रभात तारा मैदान था, सुबह का समय और हम सभी योग कर रहे थे और बारिश भी हमें आशीर्वाद दे रही थी. यही वो मैदान है, जहां से आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत हुई थी.

आज झारखंड की पहचान में एक और बात जोड़ने का मुझे सौभाग्य मिला है. आपके झारखंड की एक नई पहचान बनने जा रही है कि ये वो राज्य है, जो गरीबों और आदिवासियों के हितों की बड़ी योजनाओं का लॉन्चिंग पैड बन गया है.

आज पूरे देश के करोड़ों किसानों के लिए पेंशन सुनिश्चित करने वाली 'प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना' की शुरुआत भी भगवान बिरसा मुंडा की इसी महान धरती से हो रही है. देश के करोड़ों व्यापारियों और स्व-रोजगारियों के लिए राष्ट्रीय पेंशन योजना की शुरुआत भी यहीं से हो रही है.

आज मुझे साहिबगंज मल्टी-मॉडल टर्मिनल का उद्घाटन करने का भी अवसर मिला है. ये सिर्फ एक प्रोजेक्ट नहीं है, बल्कि इस पूरे क्षेत्र को परिवहन का नया विकल्प दे रहा है. यह जल मार्ग झारखण्ड को पूरे देश से ही नहीं, बल्कि विदेश से भी जोड़ेगा. इस टर्मिनल से यहां के आदिवासी भाई-बहन और किसानों अपने उत्पाद पूरे देश के बाजारों में और आसानी से पहुंचा पाएंगे.

आज देश के लगभग 6.50 करोड़ किसान परिवारों के खाते में पीएम किसान सम्मान निधि के अंतर्गत 21 हजार करोड़ रुपए से अधिक की धनराशि पहुंच चुकी है. इसमें 8 लाख किसान परिवार झारखंड के भी हैं. जिनके खाते में करीब 250 करोड़ रुपये जमा हो चुके हैं.

आज का दिन झारखंड के लिए ऐतिहासिक है, क्योंकि आज यहां विधानसभा के नए भवन का लोकार्पण किया गया है. राज्य बनने के लगभग दो दशक बाद आज झारखंड में लोकतंत्र के मंदिर का लोकार्पण हो रहा है.
Loading...

 

हमारी सरकार हर भारतवासी को सामाजिक सुरक्षा का कवच देने का प्रयास कर रही है. इस वर्ष मार्च से ऐसी ही पेंशन योजना देश के करोड़ों असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए चल रही है. अब तक श्रमयोगी मानधन योजना से 32 लाख से ज्यादा श्रमिक साथी जुड़ चुके हैं.

ये सिर्फ शुरुआत है, अभी 5 साल बाकी हैं, बहुत से संकल्प बाकी हैं, बहुत से प्रयास बाकी हैं. प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना से 22 करोड़ से अधिक देशवासी जुड़ चुके हैं. इन दोनों योजनाओं के माध्यम से साढ़े 3,000 करोड़ रुपए से अधिक का क्लेम लोगों को दिए जा चुके हैं.

सामाजिक सुरक्षा के लिए प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना देश के लोगों के लिए शुरू की गई. सिर्फ 90 पैसे प्रतिदिन और 1 रुपये प्रतिमाह की दर पर दोनों योजनाओं से 2-2 लाख रुपये का बीमा सुनिश्चित कराया है. इन दोनों योजनाओं से 22 करोड़ से ज्यादा देशवासी जुड़ चुके हैं. जिसमें से 30 लाख से अधिक झारखंड के लोग हैं.

हमारी सरकार चाहे केंद्र में रही हो या राज्यों में, हमने गरीब के जीवन को आसान बनाने, आदिवासी के जीवन को आसान बनाने और उसकी चिंताएं कम करने का पूरी ईमानदारी से प्रयास किया है.

आज यहां आदिवासी बच्चों की शिक्षा और उनके कौशल को निखारने के लिए देशभर में 462 एकलव्य मॉडल आवासीय स्कूल बनाने के अभियान का शुभारंभ हुआ है. इन स्कूलों में आदिवासी बच्चों की पढ़ाई-लिखाई के साथ-साथ स्पोर्ट्स और स्किल डेवलपमेंट के लिए भी सुविधाएं होंगी.

गरीब की गरीमा, मर्यादा, सेहत, इलाज, दवाई, बीमा सुरक्षा, पेंशन, बच्चों की पढ़ाई, उसकी कमाई, ऐसा कोई क्षेत्र नहीं है, जिसको ध्यान में रखकर हमने काम न किया हो. इस प्रकार की योजनाएं गरीबों को सशक्त तो करती ही हैं, जीवन में नया आत्मविश्वास भी लाती हैं. कल से ही देश में स्वच्छता ही सेवा अभियान की शुरुआत हुई है. इस अभियान के अंतर्गत हमें अपने घरों, स्कूलों और दफ्तरों में सिंगल यूज प्लास्टिक को जमा करना है और 2 अक्तूबर को गांधी जी की 150वीं जयंती के दिन हमें उस प्लास्टिक के ढेर को हटा देना है.

ये भी पढ़ें- रांची: PM मोदी बोले- जनता को लूटने वाले को सही जगह पहुंचाने की है कोशिश, कुछ चले भी गए

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 3:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...