रांची: सीएम आवास की ओर बढ़ रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने चटकाई लाठी
Ranchi News in Hindi

रांची: सीएम आवास की ओर बढ़ रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने चटकाई लाठी
पंचायच सचिव पद पर बहाली की मांग को लेकर प्रदर्शनकारी सीएम हेमंत सोरेन से मिलना चाहते थे

अभ्यर्थियों का आरोप है कि 2017 में पंचायत सचिव सहित अन्य पदों के लिए नियुक्तियां निकाली गई थीं. अन्य पदों पर बहाली हो गई, लेकिन पंचायत सचिव पद नियुक्ति अभी तक अधर में लटकी हुई है.

  • Share this:
रांची. राजधानी के मोरहाबादी स्थित एसएसपी आवास के पास उस वक्त अफरा-तफरी मच गई, जब सड़क पर बैठे छात्र-छात्राओं को हटाने के लिए पुलिस (Police) को बल प्रयोग करना पड़ा. लाठीचार्ज (Lathicharge) कर प्रदर्शनकारियों को हटाना पड़ा. ये लोग पंचायत सचिव पद पर अपनी बहाली की मांग कर रहे थे. पिछले तीन सालों से अपनी नियुक्ति का इंतजार कर रहे छात्र-छात्राओं का गुस्सा फूट पड़ा. और वे मुख्यमंत्री से मिलने सीएम आवास की तरफ बढ़ लगे. पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए बल का प्रयोग किया.

पंचायत सचिव पद बहाली अभी तक अधर में

अभ्यर्थियों का आरोप है कि 2017 में पंचायत सचिव सहित अन्य पदों के लिए नियुक्तियां निकाली गई थीं. अन्य पदों पर बहाली हो गई, लेकिन पंचायत सचिव पद नियुक्ति अभी तक अधर में लटकी हुई है. बतौर अभ्यर्थियों पंचायत सचिव के लिए 4913 अभ्यर्थी परीक्षा में पास हुए. इसके बाद उनका सर्टिफिकेट्स समेत अन्य वेरिफिकेशन भी जून 2019 में किया गया. लेकिन 8 महीने बीतने के बाद भी अबतक बहाली नहीं हो पाई है.



सीएम से मिलना चाहते थे प्रदर्शनकारी
सैकड़ों अभ्यर्थी अपनी इस मांग को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत से मुलाकात करने सीएम आवास जा रहे थे. लेकिन पुलिस ने उन्हें एसएसपी आवास के समक्ष रोक दिया. छात्रों के नहीं मानने पर उनपर लाठियां चटकाई. लाठीचार्ज में कई छात्र- छात्राओं को चोट आईं. इससे वे आक्रोशित नजर आए. हालांकि इस मामले में पुलिसकर्मी कुछ भी बोलने से बचे. पुलिसकर्मी छात्रों से ये अपील करते दिखे कि कोरोना की वजह से वे एक जगह भीड़ जमा ना करें, यह स्वास्थ्य के पहलू से उचित नहीं है.

रिपोर्ट- ओमप्रकाश

ये भी पढ़ें- Nirbhaya Case: गुनहगारों को फांसी देने पर बोले सीएम हेमंत- देर से ही सही, पर न्याय हुआ

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading