Home /News /jharkhand /

रिम्स में लालू यादव के बाहरी खाना खाने पर पुलिस ने लगाई रोक, डॉक्टर बोले- ये ठीक नहीं

रिम्स में लालू यादव के बाहरी खाना खाने पर पुलिस ने लगाई रोक, डॉक्टर बोले- ये ठीक नहीं

लालू प्रसाद (फाइल फोटो)

लालू प्रसाद (फाइल फोटो)

लालू प्रसाद सोमवार रात का खाना और मंगलवार का नाश्ता व खाना समय पर नहीं खा सके. मंगलवार को उन्होंने दिन के तीन बजे खाना खाया.

    झारखंड के रांची स्थित रिम्स में भर्ती आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बाहरी खाना खाने पर पुलिस ने रोक लगा दी है. पुलिस ने सुरक्षा के दृष्टिकोण से ये रोक लगाई है. इसके चलते मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री को समय पर खाना नहीं मिल सका. इससे उनका इलाज कर रहे डॉक्टर परेशान हो गये.

    बाद में इस मसले को लेकर रिम्स प्रबंधन ने बिरसा मुंडा जेल प्रशासन को पत्र लिखकर सहयोग करने की अपील की. पत्र में कहा गया कि लालू प्रसाद कई बीमारियों से ग्रसित हैं. ऐसे में उनके सेवादार को बाहरी खाना, झींगा मछली व पानी, देने में जेल और जिला प्रशासन को सहयोग करना चाहिए.

    जानकारी के मुताबिक, लालू प्रसाद सोमवार रात का खाना और मंगलवार का नाश्ता व खाना समय पर नहीं खा सके. मंगलवार को उन्होंने करीब दिन के तीन बजे खाना खाया. इस बीच उनको इन्सुलिन दिया जा चुका था. ऐसे में डॉक्टर इस बात से परेशान थे कि कहीं वे बेहोश ना हो जाएं. रिम्स प्रबंधन का कहना है कि लालू प्रसाद को डॉक्टरों की सलाह पर ही खाना दिया जा रहा है.

    बता दें कि बीते रविवार को जेल आईजी और बिरसा मुंडा जेल अधीक्षक ने रिम्स में लालू प्रसाद के कमरे का जायजा लिया. इस दौरान सुरक्षा संबंधी कई खामियां पाई गईं. जिसके बाद उन्हें पेइंग वार्ड के दूसरे कमरे में शिफ्ट करने की तैयारी है. नया कमरा दूसरे तल्ले पर है.

    इनपुट- उपेन्द्र कुमार

    ये भी पढ़ें- जल्द लालू यादव हो सकते हैं रिम्स के दूसरे कमरे में शिफ्ट, ये है वजह

    लालू से मुलाकात में सीटों पर फॉर्मूला फिक्स! कुशवाहा बोले- ऐलान बाद में, तेजस्वी ने चाचा पर कसा तंज

    Tags: Jharkhand news, Lalu Prasad Yadav, Ranchi news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर