Home /News /jharkhand /

झारखंड में कोरोना का कहर थमते ही राजनीति ने पकड़ी रफ्तार, जनता के बीच जाने की पार्टियों में लगी होड़

झारखंड में कोरोना का कहर थमते ही राजनीति ने पकड़ी रफ्तार, जनता के बीच जाने की पार्टियों में लगी होड़

झारखंड में कोरोना की रफ्तार थमते ही राजनीति ने रफ्तार पकड़ ली है.

झारखंड में कोरोना की रफ्तार थमते ही राजनीति ने रफ्तार पकड़ ली है.

Jharkhand Politics: झारखंड की राजनीति में दो राष्ट्रीय दलों की सांगठनिक गतिविधि इस वक्त सबसे ज्यादा देखने को मिल रही है. कांग्रेस ने 1 नवंबर से 31 मार्च 2022 तक विशेष सदस्यता अभियान, 14 नवंबर से राज्य के सभी 24 जिलों में जन जागरण अभियान, जिला से लेकर बूथ स्तर पर कमिटी का निर्माण करने का टास्क अपने कार्यकर्ताओं और नेताओं को दिया है. वहीं बीजेपी के बड़े नेता जिला प्रवास पर निकल चुके हैं.

अधिक पढ़ें ...

रांची. झारखंड में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम पड़ते ही राजनीतिक दलों ने सांगठनिक रफ्तार को तेज कर दिया है. अब फिर से एक बार वर्चुअल के बजाय राजनीति के मैदान में राजनीतिक दल ताल ठोकते नजर आ रहे हैं. झारखंड की राजनीति में दो राष्ट्रीय दल बीजेपी और कांग्रेस ने अपने नेताओं के प्रवास कार्यक्रम के साथ जिला से लेकर बूथ स्तर तक कार्यकर्ता सम्मेलन की शुरुआत कर दी है.

साल 2020 से सितंबर 2021 तक संगठन के काम-काज को वर्चुअल तरीके से रफ्तार देने की रणनीति पर अब विराम लग गया है. जनता के सवालों के मुद्दे पर जनता के बीच सरकार के खिलाफ हुंकार भरने की राजनीति में झारखंड की मुख्य विपक्षी दल बीजेपी सबसे आगे है. बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव के अनुसार प्रदेश स्तर के नेता राज्य के सभी 24 जिलों में प्रवास कार्यक्रम पर निकल चुके है. जिला से लेकर शक्ति केंद्र के कार्यकर्ताओं का सम्मेलन आयोजित कर बीजेपी राज्य की हेमंत सोरेन सरकार की नाकामियों के खिलाफ आंदोलन की तैयारी में जुट गई है.

झारखंड की राजनीति में दो राष्ट्रीय दलों की सांगठनिक गतिविधि इस वक्त सबसे ज्यादा देखने को मिल रही है. कांग्रेस ने भी 1 नवंबर से 31 मार्च 2022 तक विशेष सदस्यता अभियान, 14 नवंबर से राज्य के सभी 24 जिलों में जन जागरण अभियान, जिला से लेकर बूथ स्तर पर कमिटी का निर्माण करने का टास्क अपने कार्यकर्ताओं और नेताओं को दिया है. वहीं कांग्रेस का फोकस राज्य सरकार की विकास योजनाओं के जरिये राज्य की जनता को लाभान्वित करना और उनका समर्थन हासिल करना है. कांग्रेस नेता समशेर आलम ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस नये तेवर और कलेवर के साथ उभरने जा रही है .

झारखंड में संगठन के मोर्चे पर सक्रियता की ये राजनीति बीजेपी और कांग्रेस तक ही सीमित नहीं है, बल्कि राजद, जेएमएम, आजसू और वाम दलों ने भी अपनी सांगठनिक सक्रियता बढ़ा दी है. कुछ एक राजनीतिक दलों ने तो सदस्यता का लक्ष्य पहले के मुकाबले 4 गुना तक बढ़ाने का लक्ष्य रखते हुए, कोरोना काल के दौरान संगठन को हुए नुकसान को पाटने की रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है.

Tags: BJP, Jharkhand Congress, Jharkhand mukti morcha, Jharkhand Politics, Ranchi news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर