Home /News /jharkhand /

रघुवर सरकार गाने को मजबूर, अपनों के सितम हम से बताए नहीं जाते ...

रघुवर सरकार गाने को मजबूर, अपनों के सितम हम से बताए नहीं जाते ...

झारखंड की रघुवर सरकार विपक्ष के निशाने पर तो है ही लेकिन इसे अपने भी परेशान किए हुए हैं. भाजपा के कई नेता सरकार को अक्सर घेरने का मौका दे देते हैं. इसलिए सीएम को दोनों मोर्चो पर विरोध झेलना पड़ता है.

झारखंड की रघुवर सरकार विपक्ष के निशाने पर तो है ही लेकिन इसे अपने भी परेशान किए हुए हैं. भाजपा के कई नेता सरकार को अक्सर घेरने का मौका दे देते हैं. इसलिए सीएम को दोनों मोर्चो पर विरोध झेलना पड़ता है.

झारखंड की रघुवर सरकार विपक्ष के निशाने पर तो है ही लेकिन इसे अपने भी परेशान किए हुए हैं. भाजपा के कई नेता सरकार को अक्सर घेरने का मौका दे देते हैं. इसलिए सीएम को दोनों मोर्चो पर विरोध झेलना पड़ता है.

    झारखंड की रघुवर सरकार विपक्ष के निशाने पर तो है ही लेकिन इसे अपने भी परेशान किए हुए हैं. भाजपा के कई नेता सरकार को अक्सर घेरने का मौका दे देते हैं. इसलिए सीएम को दोनों मोर्चो पर विरोध झेलना पड़ता है.

    क्या है मामला

    झारखंड में सीएनटी व एसपीटी एक्ट अंग्रेजों के जमाने के कानून हैं. आदिवासी समुदाय की मिल्कियत यानि जल, जंगल और जमीन को संरक्षित करने के लिए ये कानून अलग-अलग समय में बने. आज जब रघुवर सरकार ने इसमें संशोधन के लिए कदम उठाई है, तो पूरे राज्य में हल्ला हंगामा हो रहा है. इस विषय ने विपक्ष खासकर जेएमएम को बड़ा मुद्दा दे दिया है. जेएमएम इस विषय को लेकर अड़ा हुआ है. इधर, रघुवर सरकार भी संशोधन के लिए आगे कदम बढ़ा चुकी है. विधेयक सदन से पारित होकर राज्यपाल के पास है. विपक्ष इसे वापस लेने की मांग कर रहा है.

    विपक्ष से सुर मिला रहे अपने

    vlcsnap-2017-01-30-10h45m00s371

    पिछले कुछ दिनों से सीएनटी एसपीटी एक्ट पर भाजपा के अपने दलों के नेताओं के बयान ही सरकार की परेशानी बढ़ा रही थी. भाजपा के नेता और कार्यकर्ता सरकार के इस संशोधन के प्रयास के साथ एकजुट दिखाई नहीं दिए. यही कारण है कि विपक्ष को इससे बल मिलता चला गया. पार्टी के वरिष्ठ नेता अर्जुन मुंडा ने इसके खिलाफ कई जगह बयान दिए. सरकार को चेताया भी है. कई बार मामले में सरकार से इतर बयान देकर समाचारों की सुर्खियां बटोरी. इससे सीएम रघुवर दास की स्थिति मुश्किल भरी हो गई है. वैसे रघुवर दास और अर्जुन मुंडा के रिश्ते जग जाहिर हैं. शनिवार को सदन में विपक्ष के सवाल पर गुगली मार दी.

    डैमेज कंट्रोल के लिए ये बयान

    हालांकि झारखंड भाजपा के महामंत्री दीपक प्रकाश कहते हैं कि दरअसल नकारात्मक राजनीति की वजह से विपक्ष इस तरह की बातें फैला रहा है. भाजपा इस विषय पर जेएमएम के खिलाफ पोल खोल आंदोलन शुरू करने वाली है. प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष आदित्य साहू कहते मामले में विपक्ष पर ठीकरा फोड़ते कहते हैं कि विपक्ष ही भ्रम फैला रहा है.

    लीपापोती में सीएम भी जुटे

    पुराना गाना है, अपनों के सितम हम से बताए नहीं जाते ...लिहाजा  सीएम रघुवर दास ने भी अपनों के सितम को छुपाते हुए शनिवार को अर्जुनमुंडा को सीएनटी-एसपीटी एक्ट मामले में सरकार के साथ बताया. शनिवार को सदन में बयान देते हुए सीएम ने कहा कि कार्यसमिति की मीटिंग के दौरान उन्होंने यही कहा कि इस संसोधन से होने वाले बेहतर परिणामों के बारे में आम लोगों को बताने की दरकार है.

    बहरहाल, सीएम रघुवर दास की परेशानी इसलिए बढ़ी है कि पार्टी के नेता व कार्यकर्ताओं ने एक्ट के संशोधन के पक्ष को लोगों तक नहीं पहुंचाया. जबकि विपक्ष खासकर जेएमएम इसको लेकर आगे बढ़ता चला गया. पिछले दो विधानसभा सत्र और इस सत्र में भी वह विरोध कर रहा है. आदिवासी समुदाय के बीच इस मुद्दे को बखूबी रखा है. भाजपा के आदिवासी नेता व कार्यकर्ता भी इस संशोधन पर मुखर नहीं हो सके. सभी को अपने वोट बैंक की चिंता सताने लगी. इसलिए सीएम रघुवर दास को दो मोर्चों पर लड़ना पड़ रहा है. अपनों से भी समस्या है, और विपक्ष तो विपक्ष है ही.

    (रांची से राजेश कुमार की रिपोर्ट)

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर