Home /News /jharkhand /

RIMS से गायब मरीज का 4 दिन बाद अस्पताल में ही मिला शव, परिजनों ने लगाया अंग गायब होने का आरोप

RIMS से गायब मरीज का 4 दिन बाद अस्पताल में ही मिला शव, परिजनों ने लगाया अंग गायब होने का आरोप

Ranchi News: रिम्‍स से लापता मरीज का शव बरामद किया गया है. (फाइल फोटो)

Ranchi News: रिम्‍स से लापता मरीज का शव बरामद किया गया है. (फाइल फोटो)

RIMS News: सिर में चोट लगने के बाद डोभी निवासी नवीन कुमार सोनी को RIMS में 7 दिसंबर को भर्ती कराया गया था और वह 8 दिसंबर को वार्ड से लापता हो गए थे. अब उनका शव बरामद किया गया है. परिजनों ने गंभीर आरोप लगाते हुए अंग गायब होने की बात कही है.

अधिक पढ़ें ...

रांची. एक अस्पताल के वार्ड से मरीज गायब हो जाए और वार्ड ब्वाय से लेकर डॉक्टर, नर्स, प्रबंधन किसी को भी न पता चले. क्या अस्पतालों में मरीजों के इलाज और उनकी सुरक्षा का बेहद बदहाल सिस्टम किसी को चौंकाता या जिम्मेदारों पर सवाल नहीं उठाता? झारखंड की राजधानी रांची से एक बड़ी खबर सामने आई है. यहां स्थित राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्‍थान से चार दिन पहले लापता हुए एक मरीज का शव बरामद‍ किया गया है. यह शख्‍स रिम्‍स के न्‍यूरो वार्ड से लापता हो गया था. परिजनों ने शव की शिनाख्‍त के बाद युवक की पहचान कर ली. परिजनों ने इसके साथ ही गंभीर आरोप भी लगाए हैं. युवक के परिवारवालों ने अंग गायब करने का गंभीर आरोप लगाया है.

बता दें कि रिम्‍स से पहले भी कई बार मरीज भाग चुके हैं. ऐसे में अस्‍पताल की सुरक्षा पर भी सवाल उठने लगे हैं. गंभीर सवाल यह भी है कि आखिरकार अस्‍पताल के वार्ड से मरीज गायब कैसे हो गया? जानकारी के अनुसार, रिम्‍स के न्‍यूरो वार्ड से लापता होने वाले मरीज की पहचान नवीन कुमार सोनी (30) के तौर पर की गई है. मृतक नवीन डोभी का रहने वाला था. सिर में चोट लगने के कारण नवीन को पिछले 7 दिसंबर को रिम्‍स में भर्ती कराया गया था. न्‍यूरो वार्ड में भर्ती कराया गया नवीन 8 दिसंबर से अस्‍पताल से गायब था. अब जाकर उसका शव बरामद किया गया है. नवीन के परिजनों को शवगृह में बुलाकर उसकी शिनाख्‍त करवाई गई. परिजनों ने शव की पहचान करने के साथ ही नवीन के शरीर का अंग गायब होने का आरोप लगाया है. पुलिस के मुताबिक नवीन का शव अस्पताल में ही मिला है.

झारखंड में 160 KM प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेगी ट्रेन, इंडियन रेलवे की है खास प्‍लानिंग

अक्सर मरीजों के भागने के लिए बदनाम है रिम्स

रांची रिम्स से अक्‍सर मरीजों के भागने की खबरें सामने आती रहती हैं. पिछले साल भी अस्‍पताल से एक कोरोना पॉजिटिव मरीज फरार हो गया था. मरीज रिम्स के सर्जरी विभाग में इलाजरत था. इलाज के दौरान मरीज का कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया गया था. रिपोर्ट पॉजिटिव आने की जानकारी के बाद मरीज वार्ड के स्वास्थ्य कर्मियों को चकमा देकर भाग निकला था. कोरोना पॉजिटिव मरीज के भाग जाने के बाद अस्पताल और स्वास्थ्यकर्मियों में हड़कंप मच गया था.

रिम्स से एक सजायाफ्ता नक्सली हो गया था फरार

इस साल रिम्‍स से एक सजायाफ्ता नक्‍सली फरार हो गया था. काफी मशक्‍कत के बाद नक्सली कृष्णमोहन झा उर्फ अभय जी उर्फ कालीजी को मुजफ्फरपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया था. उसके साथ उसका साथी आभूषण कारोबारी मुकेश कुमार भी पकड़ा गया था. दोनों को गुप्त सूचना मिलने पर नगर थाना की पुलिस ने नई बाजार इलाके से दबोचा था. रिम्‍स से लगातार मरीजों के गायब होने या फिर भागने की घटना से अस्‍पताल की सुरक्षा-व्‍यवस्‍था पर गंभीर सवाल उठने लगे हैं.

Tags: Ranchi news, RIMS

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर