लाइव टीवी

नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में रांची कोर्ट ने दोषियों को सुनाई 20-20 साल की सजा

News18 Jharkhand
Updated: January 13, 2020, 7:18 PM IST
नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में रांची कोर्ट ने दोषियों को सुनाई 20-20 साल की सजा
नाबालिग से दुष्कर्म के एक मामले में रांची कोर्ट ने दोषियों को 20-20 साल की सजा सुनाई

18 मार्च 2016 को आशीष उरांव ने पीड़िता को झूठ बोलकर कि उसकी सहेली उसे बुला रही है, अपनी बाइक पर बिठा लिया और रंजीत उरांव के घर ले जाकर दुष्कर्म (Rape) किया.

  • Share this:
रांची. मांडर में नाबालिग से दुष्कर्म (Rape) के मामले में रांची कोर्ट (Ranchi Court) ने सोमवार को दो दोषियों को 20-20 साल की सजा (Punishment) सुनाई. विशेष जज केएम प्रसाद की अदालत ने आशीष उरांव और रंजीत उरांव को ये सजा सुनाई. अदालत ने दुष्कर्म के इस मामले में दोनों आरोपियों को दोषी ठहराते हुए घारा 366-ए में सात-सात साल की सजा और दस हजार रुपये जुर्माना, धारा 376-डी में 20-20 वर्ष की सजा और 10 हजार का जुर्माना सुनाया. इसके अलावा दोनों दोषियों को पॉक्सो एक्ट के तहत भी 20-20 साल की सजा और दस हजार रुपये जुर्माना सुनाया गया. अदालत ने सभी सजाओं को एक साथ चलाने का आदेश दिया.

क्या है मामला?

18 मार्च 2016 को आशीष उरांव ने पीड़िता को झूठ बोलकर कि उसकी सहेली उसे बुला रही है, अपनी बाइक पर बिठा लिया और रंजीत उरांव के घर लेकर चला गया. रात के आठ बजे दोनों ने पीड़िता के साथ दुष्कर्म किया. इस मामले में मांडर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. पुलिस की जांच के बाद ढाई साल से ज्यादा चली सुनवाई के बाद कोर्ट ने इस मामले में सजा सुनाई. कोर्ट ने दोषियों पर 20-20 साल की सजा के अलावा कुल 30 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है. जुर्माना नहीं देने की स्थिति में सजा 6 महीना बढ़ जाएगी.

रिपोर्ट- नीरज नयन चौधरी 

ये भी पढ़ें- सुविधाविहिन इस गांव के लड़कों की नहीं होती थी शादी, अब सीएम हेमंत की पहल पर बदलेगी तस्वीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2020, 7:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर