होम /न्यूज /झारखंड /

डकैती के केस में गया जेल साइबर अपराधी बनकर निकला, फिर पहला शिकार फौजी को बनाया

डकैती के केस में गया जेल साइबर अपराधी बनकर निकला, फिर पहला शिकार फौजी को बनाया

झारखंड में साइबर सेल की टीम साइबर क्रिमिनल्स पर नकेल कसने में जुटी हुई है.

झारखंड में साइबर सेल की टीम साइबर क्रिमिनल्स पर नकेल कसने में जुटी हुई है.

Cyber Crime: आरोपी रामकिशुन मंडल का पुराना आपराधिक इतिहास रहा है. डकैती के मामले में वह जेल भी जा चुका है. जेल के अंदर ही उसकी साइबर अपराधियों से दोस्ती हुई थी. और उनसे साइबर अपराध की ट्रेनिंग ली. फिर जेल से निकलने के बाद उसने अपना पहला शिकार एक फौजी को बनाया.

अधिक पढ़ें ...

रांची. डकैत से साइबर अपराधी बने गिरिडीह के रामकिशुन मंडल को सीआईडी की टीम ने गिरफ्तार कर लिया. सीआईडी के साइबर सेल ने साइबर अपराध के एक मामले का खुलासा करते हुए रामकिशुन मंडल को गिरफ्तार किया. गिरफ्तार साइबर अपराधी अपने सहयोगियों के माध्यम से रांची के नामकुम के रहने वाले एक फौजी से 3.36 लाख रुपये साइबर फ्रॉड के जरिए ठगे लिये.

रांची के नामकुम इलाके में रहने वाले फौजी सुधीर कुमार को साइबर अपराधियों ने निशाना बनाते हुए उनसे 3.36 लाख रुपए ठग लिए थे. दरअसल साइबर अपराधियों ने स्टेट बैंक के कस्टमर केयर अधिकारी बनकर सुधीर कुमार को कॉल किया. और फिर yono app एक्टिव करने का झांसा देकर इस पूरी वारदात को अंजाम दिया. मामला सीआईडी के साइबर सेल मे दर्ज हुआ. वहीं जांच में अपराधी का लोकेशन गिरिडीह के विशुनपुर का मिला. जिसके बाद सीआईडी की टीम ने उसे गिरिडीह से दबोचा. आरोपी के पास से चेकबुक, पासबुक, मोबाइल और एटीएम कार्ड बरामद हुए.

मामले की जानकारी देते हुए सीआईडी एसपी कार्तिक एस ने बताया कि आरोपी रामकिशुन मंडल का पुराना आपराधिक इतिहास रहा है. डकैती के मामले में जेल भी जा चुका है. जेल से बाहर निकलने के बाद वह साइबर अपराध में लिप्त हो गया. जेल के अंदर साइबर अपराधियों से उसकी दोस्ती हुई थी. और साइबर अपराध की ट्रेनिंग ली. फिर साइबर क्राइम करने लगा. जानकारी के मुताबिक अबतक उसके द्वारा करीब 15 लाख रुपये की ठगी की बात सामने आई है.

Tags: Cyber Crime, Cyber Crime News, Jharkhand news, Ranchi Police

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर