इंस्टाग्राम पर ऑनलाइन शॉपिंग के नाम पर ठगी करने वाले 3 गिरफ्तार, सैकड़ों लोगों को लगाया चूना

रांची साइबर सेल ने इंस्टाग्राम के जरिए एमेजॉन को हथियार बनाकर साइबर फ्रॉड करने वाले शातिर गिरोह के सदस्यों को दबोचा है. साइबर सेल ने 2 अपराधियों को महाराष्ट्र और एक को रांची से गिरफ्तार किया है.

0m Prakash | News18 Jharkhand
Updated: July 30, 2019, 7:57 AM IST
इंस्टाग्राम पर ऑनलाइन शॉपिंग के नाम पर ठगी करने वाले 3 गिरफ्तार, सैकड़ों लोगों को लगाया चूना
साइबर सेल ने ऑनलाइन फ्रॉड करने वाले 3 शातिर आरोपियों को दबोचा
0m Prakash | News18 Jharkhand
Updated: July 30, 2019, 7:57 AM IST
रांची साइबर सेल ने इंस्टाग्राम के जरिए एमेजॉन को हथियार बनाकर साइबर फ्रॉड करने वाले शातिर गिरोह के सदस्यों को दबोचा है. साइबर सेल ने 2 अपराधियों को महाराष्ट्र और एक को रांची से गिरफ्तार किया है. पकड़े गए शातिर गिरोह के सदस्‍यों पर सैकड़ों लोगों को शिकार बनाकर करोड़ों रुपए की ठगी करने का आरोप है. फिलहाल पुलिस सभी आरोपियों से पूछताछ में जुटी है.

ऑनलाइन शॉपिंग के जरिए युवा वर्ग को बनाते थे निशाना

ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स पर सस्ते दामों पर घर बैठे सामान खरीदने की चाहत महंगा पड़ सकता है, क्योंकि इसपर किंग ऑफ डार्कवेब जैसे फेक शॉपिंग के कई साइट्स के लोग नजरें जमाए बैठा है. इसकी बानगी एक बार फिर दिखी है. रांची साइबर सेल ने 3 अपराधियों को गिरफ्तार कर इस शातिर साइबर गैंग का पर्दाफाश किया है. सस्ते दरों पर मोबाइल फोन देने का सपना दिखाकर यह गिरोह लोगों को अपने जाल में फंसाता था. खासकर युवा वर्ग इन शातिर साइबर ठगों के निशाने पर होता था.

रांची साइबर सेल ने 3 अपराधियों को गिरफ्तार कर साइबर गैंग का किया पर्दाफाश
रांची साइबर सेल ने 3 अपराधियों को गिरफ्तार कर साइबर गैंग का किया पर्दाफाश


अडानी ग्रुप के वाइस प्रेसिडेंट को भी लगाया चूना

आरोपी इंस्टाग्राम पर सस्ते दामों में महंगे मोबाइल का विज्ञापन डाल कर लोगों को अपना शिकार बनाते थे. रांची साइबर थाना की टीम ने मुंबई से तीन साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया. इनकी पहचान प्रशांत दरेकर, सार्थक प्रसाद और जयेश कुमार के तौर पर की गई है. जयेश कुमार गोड्डा के पोड़ैयाहाट का रहने वाला है और अडानी ग्रुप के गेस्ट हाउस का मैनेजर है. आरोप है कि उसकी मिलीभगत से अडानी ग्रुप के वाइस प्रेसिडेंट प्रताप वेंकेटा सुब्रमण्यम चेकुरी को शिकार बनाते हुए उनके खाते से ₹4,41,000 से अधिक की राशि उड़ा लिए थे.

साइबर सेल ने तीन अपराधियों को किया गिरफ्तार, इंस्टाग्राम के जरिए लोगों को फंसाकर करते थे ठगी
साइबर सेल ने तीन अपराधियों को किया गिरफ्तार, इंस्टाग्राम के जरिए लोगों को फंसाकर करते थे ठगी (सांकेतिक तस्वीर)

Loading...

किंग ऑफ डार्कवेब से जुड़े आरोपी

साइबर डीएसपी ने बताया कि मामले के संज्ञान में आने के बाद मामले की तफ्तीश में ये बात सामने आई कि वेंकेटा के साथ हुई इस ठगी में न तो एटीएम का इस्तेमाल हुआ और न ही ओटीपी उनसे मांगा गया था. जांच के दौरान जयेश के खिलाफ सुबूत मिले, जिसके बाद पूछताछ में उसने बताया कि सस्ते दर पर मोबाइल की चाहत में वो किंग ऑफ डार्कवेब से जुड़ा, लेकिन धीरे-धीरे वह भी किंग ऑफ डार्क वेब का हिस्सा बन गया. उसी दौरान कंपनी के ही अधिकारी के मोबाइल का इस्तेमाल कर ओटीपी को शेयर किया और फिर उनके खाते से 4 लाख 41 हज़ार रुपए की अवैध निकासी हो गई.

यह भी पढ़ें- साइबर अपराध के खिलाफ यूट्यूब बनेगा अस्त्र! रांची पुलिस ने किया ये खास उपाय

यह भी देखें- VIDEO: साइबर सेल की टीम ने कार्रवाई करते हुए एक आरोपी को किया गिरफ्तार
First published: July 30, 2019, 7:16 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...